Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाज'अगर यूपी में योगी आदित्यनाथ दोबारा बने CM तो मैं प्रदेश छोड़कर चला जाऊँगा':...

‘अगर यूपी में योगी आदित्यनाथ दोबारा बने CM तो मैं प्रदेश छोड़कर चला जाऊँगा’: मुनव्वर राना ने भारी मन से किया ऐलान

मुनव्वर राना ने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी के उतरने के बाद फिर से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन जाती है या यूपी में बीजेपी ध्रुवीकरण करने में सफल हो जाती है और योगी आदित्यनाथ दोबारा मुख्यमंत्री बनते हैं तो वो सूबा छोड़कर कहीं और चले जाएँगे।

मशहूर उर्दू शायर मुनव्वर राना अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। शनिवार (17 जुलाई 2021) को उन्होंने कहा, ”अगर औवेसी की मदद से यूपी में योगी आदित्यनाथ दोबारा मुख्यमंत्री बने तो मैं प्रदेश छोड़कर चला जाऊँगा। ये भी मान लूँगा कि ये राज्य मुसलमानों के रहने लायक नहीं है।” उनका यह बयान सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

दरअसल, मुनव्वर राना ने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी के उतरने के बाद फिर से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन जाती है। या यूपी में बीजेपी ध्रुवीकरण करने में सफल हो जाती है और योगी आदित्यनाथ दोबारा मुख्यमंत्री बनते हैं तो वो सूबा छोड़कर कहीं और चले जाएँगे।

शायर ने मीडिया में कहा कि बीजेपी और ओवैसी दोनों ऐसे पहलवान हैं जो सिर्फ जनता को और अन्य सियासी दलों को दिखाने के लिए लड़ रहे हैं, लेकिन मामला कुछ और ही है। उन्होंने कहा कि ये दोनों इसलिए लड़ रहे हैं ताकि वोटों का ध्रुवीकरण हो और मुस्लिम वोट ओवैसी खींच लें, ताकि अन्य सियासी दलों को इसका फायदा ना मिले और बीजेपी आसानी से चुनाव जीत ले जाए। उन्होंने आगे कहा कि अगर मुसलमानों में जरा सी भी अक्ल होगी तो वो ओवैसी को वोट नहीं देंगे।

गौरतलब है कि बीते दिनों उत्तर प्रदेश एटीएस ने अलकायदा के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इसको लेकर नवभारत टाइम्स ऑनलाइन से बात करते हुए मुनव्वर राना ने इन आतंकियों पर कार्रवाई को चुनावी बताते हुए कहा था कि यह कुछ और नहीं है बल्कि चुनाव की तैयारी में टूथब्रश का इस्तेमाल है। गिरफ्तार आतंकियों को जमीयत उलेमा-ए-हिन्द द्वारा कानूनी सहायता उपलब्ध कराने के प्रश्न पर राना ने AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ असभ्य भाषा का इस्तेमाल किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe