Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजउन्नाव में शैक्षणिक संस्थान को अवैध मस्जिद में बदलने की कोशिश, ग्रामीणों की शिकायत...

उन्नाव में शैक्षणिक संस्थान को अवैध मस्जिद में बदलने की कोशिश, ग्रामीणों की शिकायत पर यूपी पुलिस ने रोका निर्माण कार्य

शिकायत में कहा गया है कि गाँव में 6 मुस्लिम और 35 हिंदू परिवार हैं। मुस्लिम गाँव में एक ऐसे स्थान पर जहाँ एक शैक्षणिक संस्थान पहले से मौजूद है, वहाँ पर एक अवैध मस्जिद बनाने के लिए बाहर से धन जुटा रहे हैं। असामाजिक तत्व निर्माणाधीन मस्जिद में आते रहते हैं, जिससे ग्रामीणों को परेशानी हो रही है।

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने गाँव में अवैध तरीके से मस्जिद बनाने की कोशिश की है। इस संबंध में हिन्दू समुदाय के लोगों ने इसका विरोध किया है। 22 जुलाई को बेहटामुजावर थाना क्षेत्र के गाँव मिट्ठूखेड़ा, सिकंदरपुरा, तहसील सफीपुर के निवासियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को शिकायती पत्र भेजकर कार्रवाई करने की माँग की।

रिपोर्ट्स के अनुसार, मुस्लिम समुदाय के लोग गाँव में कई वर्षों से मौजूद शैक्षणिक संस्थान को एक अवैध मजहबी स्थान मस्जिद में बदलने की कोशिश कर रहे हैं। इसके बाद हिंदू समुदाय के करीब डेढ़ दर्जन लोगों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को शिकायती पत्र भेजकर कार्रवाई की माँग की है। गाँव में तनाव की स्थिति को देखते हुए पुलिस को इसकी सूचना दी गई, जिसके बाद एक टीम वहाँ पहुँची और दोनों पक्षों में समझौता कराया। बताया जा रहा है कि पुलिस ने गाँव के 42 लोगों के खिलाफ शांति भंग करने से संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

बेहटामुजावर थाना क्षेत्र के गाँव मिट्ठूखेड़ा निवासी मुन्नीलाल, प्रेमशंकर, सुनील कुमार, रमेश सिंह, लवकुश व रामनरेश आदि ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेजा है। शिकायत में कहा गया है कि गाँव में 6 मुस्लिम और 35 हिंदू परिवार हैं। मुस्लिम परिवार गाँव में एक ऐसे स्थान पर जहाँ एक शैक्षणिक संस्थान पहले से मौजूद है, वहाँ पर एक अवैध मस्जिद बनाने के लिए बाहर से धन जुटा रहे हैं। शिकायतकर्ता ने दावा किया कि असामाजिक तत्व निर्माणाधीन मस्जिद में आते रहते हैं, जिससे ग्रामीणों को परेशानी हो रही है। बताया जा रहा है कि बीते 21 जुलाई को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने शिक्षण संस्थान को मस्जिद में तब्दील करने के प्रयास में लाउडस्पीकर और माइक लगाने की भी कोशिश की, लेकिन ग्रामीणों द्वारा विरोध करने के बाद इस योजना फिलहाल टाल दिया गया।

उस शिकायत को उन्नाव के आशीष सिंह ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर साझा किया है। उनके ट्वीट के जवाब में, उन्नाव पुलिस ने जवाब दिया कि पुलिस द्वारा निर्माण कार्य रोक दिया गया है और 16 लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की गई है।

दैनिक जागरण ने बेहटा मुजावर के थाना प्रभारी इंद्रपाल सिंह के हवाले से बताया दोनों पक्षों के बीच एसडीएम के सामने समझौता करा दिया गया है। निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गई है। धारा 151 (संज्ञेय अपराधों के रोकने के लिए गिरफ्तारी) के तहत कार्रवाई करते हुए और गाँव में शांति बनाए रखने लिए एक समुदाय के 16 और दूसरे समुदाय के 26 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। ग्रामीणों ने बताया कि कथित धार्मिक स्थल पर पिछले करीब 15 वर्षों से शिक्षण संस्थान चल रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -