Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाज500+ महिला एवं लड़की काँवड़ियों पर मस्जिद के पास से पथराव, बचाने आई पुलिस...

500+ महिला एवं लड़की काँवड़ियों पर मस्जिद के पास से पथराव, बचाने आई पुलिस को दौड़ाया

"काँवड़ियों पर पथराव करते हुए राष्ट्र विरोधी नारे भी लगाए गए" - यह दावा प्रत्यक्षदर्शियों का है।

बिहार के मुजफ्फरपुर में बरुराज थाना क्षेत्र में सावन के दूसरे सोमवार को जल भरने जा रहे श्रद्धालुओं पर कुछ अराजक तत्वों द्वारा पथराव किया गया। जब बीच-बचाव के लिए पुलिस आई तो उनके साथ भी दुर्व्यवहार हुआ।

दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक एसडीएम अनिल कुमार दास ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि जब महिला श्रद्धालु यहाँ मस्जिद के पास से गुजर रहीं थीं, तभी कुछ लोगों ने उन पर पथराव किया।

इस घटना में जब बीच-बचाव करने पुलिस पहुँची तो मोतीपुर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर की वर्दी पर लगे स्टार को भी नोचने का प्रयास किया गया। यहाँ इस दौरान पुलिस वालों के साथ गाली-गलौच भी की गई। उन्हें डंडा लेकर दौड़ाया भी गया। लेकिन पुलिस ने फिर भी अपनी समझदारी से जल लेने जा रही तकरीबन 500 से भी ज्यादा महिला और बच्चियों को निकालकर सुरक्षित तिरहुत मुख्य नहर से पुल तक पहुँचाया। इस दौरान हालात को काबू में करने के लिए एसटीएफ के जवानों को भी बुलाना पड़ा।

जानकारी के मुताबिक इलाके में बढ़ती अराजकता को देखते हुए श्रद्धालुओं को दूसरे मार्ग से निकालकार मंदिर परिसर में पहुँचाया गया। कुछ लोगों ने दावा किया कि पथराव करते हुए इलाके में राष्ट्र विरोधी नारे भी लगाए गए, लेकिन फिलहाल जिला प्रशासन को अभी इस दावे के कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं। एसडीएम ने आश्वासन दिया है कि अगर उन्हें देश विरोधी नारे लगाने के बारे में सबूत मिलेंगे तो वे इस पर कड़ी कार्रवाई करेंगे।

बता दें कि एसडीएम के मुताबिक इसी इलाके में पिछले रविवार को धार्मिक कार्यक्रम की घोषणा करते कुछ अन्य लोगों को भी पीटा गया था। जिसके बाद जिला प्रशासन ने हिंदू और समुदाय विशेष के लोगों के साथ बैठक की थी और तय किया था कि दोनों समुदाय शांति के साथ रहेंगे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डीजल डाल कर जला दिया दलित लखबीर का शव, चेहरा तक नहीं देखने दिया परिजनों को: ग्रामीणों ने किया बहिष्कार

डीजल डाल कर मोबाइल की रोशनी में दलित लखबीर सिंह के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शव से पॉलीथिन नहीं हटाया गया। परिजन चेहरा तक न देख पाए।

पश्चिम बंगाल में दुर्गा विसर्जन से लौट रहे श्रद्धालुओं पर बम से हमला, कई घायल, पुलिस ने कहा – ‘हमलावरों की अभी तक पहचान...

हमलावर मौके से फरार हो गए। सूचना पाकर पहुँची पुलिस ने लोगों की भीड़ को हटाकर मामला शांत किया और घायलों को अस्पताल भेजा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe