Monday, April 15, 2024
Homeदेश-समाज‍‍कुख्यात नक्सली नेता अरविंद यादव पर कसा ED का शिकंजा, 1.15 करोड़ रुपए की...

‍‍कुख्यात नक्सली नेता अरविंद यादव पर कसा ED का शिकंजा, 1.15 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क

अरविंद यादव एक कुख्यात नक्सली है। वो प्रतिबंधित वामपंथी चरमपंथी के साथ-साथ उग्रवादी माओवादी संगठन CPI (M) का सक्रिय सदस्य और नेता है। रंगदारी और जबरन वसूली को लेकर बिहार पुलिस ने यादव के खिलाफ 61 केस दर्ज किए हैं।

बिहार और झारखंड के दो माओवादियों की संपत्ति जब्त करने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शुक्रवार (फरवरी 21, 2020) को एक और कुख्यात नक्सली पर शिकंजा कसा। ED ने शुक्रवार को बिहार के कुख्यात नक्सली की 1.15 करोड़ की संपत्ति कुर्क कर ली। प्रवर्तन निदेशालय ने बताया कि उसने यह कार्रवाई नक्सली नेता के खिलाफ दर्ज मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में की है।

बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत अरविन्द यादव और उसके परिवार के सदस्यों की संपत्ति कुर्क करने का अस्थायी आदेश जारी हुआ था। इसके तहत एक ट्रक और लगभग 14 एकड़ जमीन कुर्क किए गए हैं। ट्रक की कीमत 11 लाख रुपए बताई गई है, वहीं जमीन की कीमत 11 करोड़ रुपए से ज्यादा है। निवेश की पूरी अवधि के दौरान यादव परिवार के किसी सदस्य ने इनकम टैक्स नहीं भरा है। ED ने कहा कि मामले की जाँच की जा रही है।

ED की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि यादव एक कुख्यात नक्सली है। वो प्रतिबंधित वामपंथी चरमपंथी के साथ उग्रवादी माओवादी संगठन CPI (माओवादी) का सक्रिय सदस्य और नेता है। रंगदारी और जबरन वसूली को लेकर बिहार पुलिस ने यादव के खिलाफ 61 केस दर्ज किए हैं। पुलिस की ओर से दायर चार्जशीट में यादव को भगोड़ा बताया गया है। जाँच में पता चला कि यादव और उसके परिवार के सदस्यों ने काफी मात्रा में नकदी बैंक खातों में जमा कराई। साथ ही परिवार के सदस्यों की आय का कोई ज्ञात स्रोत भी नहीं है। उन्होंने अवैध तरीके से कमाए गए धन से चल-अचल संपत्तियाँ खरीदीं।

जाँच एजेंसी ने बताया कि अरविंद ने अपने परिवार के दूसरे सदस्यों हमिया देवी, विनोद यादव, वीरेंद्र यादव, नूनवती देवी, कुसुम देवी, गायत्री देवी, मंजू कुमारी और मधुमिता कुमारी के नाम पर भी ढेर सारी जमीनें खरीद रखी थीं, जिसे जब्त कर लिया गया है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले गुरुवार (फरवरी 20, 2020) को ED ने बिहार और झारखंड के दो नक्सलियों अभिजीत यादव और पिंटू राणा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले के सिलसिले में 26 लाख रुपए से अधिक की संपत्ति को कुर्क किया था।

ऐसा दिखता था मोस्टवांटेड नक्सली: 30 साल बाद सामने आई तस्वीर, ₹1.37 करोड़ का इनामी

आतंकियों से भी ज्यादा लोगों की जान लेते हैं नक्सली, इसलिए अमित शाह ने लाल आतंक के खिलाफ खोला मोर्चा

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वादे किए 300+, कैंडिडेट 300 भी नहीं मिले: इतिहास की सबसे कम सीटों पर चुनाव लड़ रही कॉन्ग्रेस, क्या पार्टी के सफाए के बाद...

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा करीब 100 लोकसभा सीटों से होकर गुजरी, इनमें से आधी से अधिक सीटों पर कॉन्ग्रेस का उम्मीदवार ही नहीं है।

ईरान का बम-मिसाइल इजरायल के लिए दिवाली के फुसकी पटाखे: पेट्रियट, एरो, आयरन डोम, डेविड स्लिंग… शांत कर देता है सबकी गरमी, अब आ...

रक्षा तकनीक के मामले में इजरायल के लिए संभव को असंभव करने वाले मुख्य स्तम्भ हैं - आयरन डोम, एरो, पेट्रियट और डेविड्स स्लिंग। आयरन बीम भविष्य।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe