नेहा को मार कर सूटकेस में भरकर फेंक दिया: लुकमान के साथ लिव-इन में थी, नोमान, अरमान, शमसाद गिरफ्तार

घटना के दो दिन पहले दोनों के बीच एक झगड़ा हुआ। इसके बाद लुकमान और उसके भाइयों ने नेहा की हत्या कर दी और उसकी लाश को बवाना ले जाकर ठिकाने लगा दिया। पुलिस ने बताया कि लुकमान को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है.....

दिल्ली पुलिस ने 18 वर्षीया महिला की हत्या कर उसकी लाश सूटकेस में भर कर ठिकाने लगाने के आरोप में तीन युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। तीनों के नाम नोमान, अरमान और शमसाद बताए जा रहे हैं। तीनों की उम्र क्रमशः 30, 26 और 30 साल बताई जा रही है।

पुलिस के अनुसार नेहा की लाश पिछले महीने (अक्टूबर, 2019) की 18 तारीख (शुक्रवार) को एक सूटकेस में भर कर सुबह बरामद हुई थी। वह उसी दिन से गायब भी बताई जा रही थी। जिस इलाके (बवाना) में यह बरामदगी हुई, वह उत्तरी दिल्ली का बाहरी इलाका है। नेहा को शकूरपुर की रहने वाली बताया जा रहा है, जबकि आरोपितों में नोमान के नॉएडा, अरमान के शकूरपुर में ही और शमसाद के न्यू उस्मानपुर में रहने की बात मीडिया रिपोर्टों में आ रही है। इन सभी की गिरफ़्तारी आज ही (शनिवार, 2 नवंबर, 2019 को) हुई है।

जब नेहा की लाश बरामद हुई तो पुलिस ने आसपास के कैमरों की सीसीटीवी फुटेज खंगालनी शुरू कर दी। ऐसी ही एक तफ्तीश में पुलिस को पता चल कि लाश को वहाँ फेंकने ऑटो रिक्शा में बैठकर कोई आया था। टाइम्स ऑफ़ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के हवाले से दावा किया गया है कि नेहा लुकमान नामक एक लड़के के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में पिछले एक महीने से रह रही थी। इस रिपोर्ट में पुलिस अधिकारी के नाम का खुलासा नहीं किया गया है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

पुलिस ने जब शकूरपुर में जहाँ लुकमान का घर था, उसके आस पास के इलाके की सीसीटीवी फुटेज की जाँच की तो उसमें लुकमान के दो भाई अरमान और नोमान 17 और 18 अक्टूबर, 2019 के बीच की रात में एक ट्राली बैग खींचते हुए देखे गए। इसके बाद पुलिस ने कल (शुक्रवार, 1 नवंबर, 2019 को) अरमान, नोमान और शमसाद को गिरफ्तार कर लिया।

उन तीनों से हुई पूछताछ में पता चला कि नेहा लुकमान के बर्ताव से आजिज आ चुकी थी। वह लुकमान से अपने संबंध खत्म करना चाहती थी।

घटना के दो दिन पहले (16 अक्टूबर, 2019 को) दोनों के बीच एक झगड़ा हुआ। इसके बाद लुकमान और उसके भाइयों ने नेहा की हत्या कर दी और उसकी लाश को बवाना ले जाकर ठिकाने लगा दिया। पुलिस ने बताया कि हालाँकि लुकमान को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है, लेकिन प्रयास जारी हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

शाहीन बाग़, शरजील इमाम
वे जितने ज्यादा जोर से 'इंकलाब ज़िंदाबाद' बोलेंगे, वामपंथी मीडिया उतना ही ज्यादा द्रवित होगा। कोई रवीश कुमार टीवी स्टूडियो में बैठ कर कहेगा- "क्या तिरंगा हाथ में लेकर राष्ट्रगान गाने वाले और संविधान का पाठ करने वाले देश के टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्य हो सकते हैं? नहीं न।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

144,546फैंसलाइक करें
36,423फॉलोवर्सफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: