Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश-समाज24 दिनों में 9वीं बार SpiceJet के विमान में तकनीकी खराबी, अब भारत-दुबई फ्लाइट...

24 दिनों में 9वीं बार SpiceJet के विमान में तकनीकी खराबी, अब भारत-दुबई फ्लाइट में गड़बड़ी: DGCA ने दिया था ‘कारण बताओ नोटिस’

नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) द्वारा सितंबर 2021 में स्पाइसजेट के ऑडिट में पाया गया कि कलपुर्जों के आपूर्तिकर्ताओं को नियमित आधार पर भुगतान नहीं किया जा रहा है, जिससे कलपुर्जों की कमी हो रही है।

स्पाइसजेट विमानों में लगातार आ रही खराबी के बाद से यह नियामकीय जाँच के घेरे में है। सोमवार (11 जुलाई, 2022) को स्पाइसजेट दुबई-मदुरै की उड़ान SG-23 अंतिम समय में तकनीकी समस्या के कारण देर हो गई थी। एक वैकल्पिक विमान की व्यवस्था के बाद भारत के लिए वापस उड़ान भरी। स्पाइसजेट (SpiceJet) के विमानों में 19 जून से 11 जुलाई तक तकनीकी खराबी की कम से कम 9 घटनाएँ सामने आ चुकी हैं। इसको लेकर बीते दिनों नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने स्पाइसजेट को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

इस महीने की शुरुआत में (5 जुलाई) दिल्ली से दुबई जाने वाली स्पाइसजेट की SG-11 फ्लाइट में तकनीकी खराबी आने के बाद पाकिस्तान के कराची में इमरजेंसी लैंडिंग की गई थी। स्पाइसजेट के प्रवक्ता ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि संकेतक लाइट में तकनीकी खराबी के कारण स्पाइसजेट B737 विमान को कराची की ओर मोड़ दिया गया था। विमान कराची में सुरक्षित उतारा गया।

इस दौरान सभी यात्री सुरक्षित थे। प्रवक्ता ने यह भी कहा था कि लैंडिंग के दौरान कोई आपात स्थिति घोषित नहीं की गई। विमान की लैंडिंग सामान्य हुई। यात्रियों को सहज करने के लिए जलपान कराया गया। एक दूसरा विमान कराची भेजा गया, जो यात्रियों को दुबई लेकर गया। प्रवक्ता ने बताया था कि विमान में कुल 150 यात्री सवार थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) द्वारा सितंबर 2021 में स्पाइसजेट के ऑडिट में पाया गया कि कलपुर्जों के आपूर्तिकर्ताओं को नियमित आधार पर भुगतान नहीं किया जा रहा है, जिससे कलपुर्जों की कमी हो रही है।

डीजीसीए (Directorate General of Civil Aviation) ने बताया कि स्पाइसजेट एयरलाइन विमान नियम, 1937 के तहत सुरक्षित, दक्ष और विश्वसनीय हवाई सेवाओं को सुनिश्चित करने में नाकाम रही है। दरअसल, दिल्ली-दुबई उड़ान को फ्यूल इंडिकेटर में खराबी होने के बाद विमान को पाकिस्तान के कराची में इमरजेंसी लैंडिंग कराई थी।

बता दें कि यह एयरलाइन पिछले चार सालों से घाटे में चल रही है। इसे 2018-19, 2019-20 और 2020-21 में क्रमशः 316 करोड़ रुपए, 934 करोड़ रुपए और 998 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ। इसके बाद अप्रैल-दिसंबर 2021 के दौरान उसे 1,248 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ। दूसरी ओर स्पाइस एक्सप्रेस का रेवेन्यू बढ़ रहा है। अक्टूबर-दिसंबर, 2021 की तिमाही में स्पाइस एक्सप्रेस ने अपने राजस्व में 17 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 584 करोड़ रुपए हासिल किए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -