Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजआतंकियों के लिए IED मँगाने की फिराक में थी सादिया शेख, कभी जाकिर नाइक...

आतंकियों के लिए IED मँगाने की फिराक में थी सादिया शेख, कभी जाकिर नाइक से करना चाहती थी निकाह

सादिया टेलीग्राम ऐप पर अहल-ए-वफ़ा नाम की आईडी बना कर गिरफ्तार हिना बेग और जहानजेब के अलावा दिल्ली के तिहाड़ जेल में कैद आतंकी अब्दुल्ला बाशित से लगातार सम्पर्क में थी।

भारत में अपने प्रसार के लिए वैश्विक आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) अब नए तौर-तरीके आजमा रहा है। आतंकी संगठन अब इसके लिए महिलाओं का सहारा ले रहा है। राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) के खुलासे के अनुसार, ISIS ने अपनी विचारधारा फैलाने के लिए महिलाओं को कमान देना शुरू कर दिया है। NIA के अनुसार, मेट्रो सिटीज की इन महिलाओं ने सोशल मीडिया को हथियार बना कर आतंकी विचारधारा फैलाने का बीड़ा उठाया है।

इन महिलाओं को ISIS ने विस्फोटक जमा करने का काम भी दे रखा है। एजेंसी को इस मामले में एक बड़ी सफलता भी हाथ लगी है। NIA ने पुणे से सादिया शेख नामक महिला को गिरफ़्तार किया है, जो इस्लामी कट्टरपंथी विचारधारा को फैलाने में लगी हुई थी। सादिया अनवर शेख कभी आतंकी जाकिर मूसा से निकाह करने के लिए जम्मू कश्मीर तक पहुँच गई थी। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर डी-रैडकलाइज वाली प्रक्रिया पूरी कर के छोड़ दिया था।

कहा जाता है कि जाकिर मूसा ने सादिया के अरमानों पर पानी फेरते हुए उसके साथ निकाह करने से इनकार कर दिया था। इसके बाद वो निकाह का प्रस्ताव लेकर जम्मू-कश्मीर में ISIS के सबसे बड़े सरगना वकार के पास गई, लेकिन वकार ने भी उसके प्रस्ताव ठुकरा दिया। इसके बाद उसने इसी आतंकी संगठन का खुरासान मॉड्यूल ज्वाइन कर लिया था। सादिया टेलीग्राम ऐप का प्रयोग कर के दूसरे आतंकियों से IED मँगाने की फिराक में थी।

इससे पहले स्पेशल सेल ने इस्लामिक स्टेट खुरासान मॉड्यूल की आतंकी हिना बशीर और जहानजेब सामी को गिरफ्तार किया था। उनसे हुई पूछताछ में सादिया के बारे में कई चीजें पता लगी थीं। ‘आजतक’ की ख़बर के अनुसार, सादिया टेलीग्राम ऐप पर अहल-ए-वफ़ा नाम की आईडी बना कर गिरफ्तार हिना बेग और जहानजेब के अलावा दिल्ली के तिहाड़ जेल में कैद आतंकी अब्दुल्ला बाशित से लगातार सम्पर्क में थी।

अब्दुल वासित तिहाड़ जेल से ही ‘वॉइस ऑफ इंडिया’ नामक कट्टरवादी मैगजीन निकाल रहा था, जिसमें ये महिलाएँ उसकी मदद कर रही थीं। इस पत्रिका का उपयोग सीएए को लेकर लोगों को भड़काने के लिए भी किया गया था। इसके लिए आपत्तिजनक कंटेंट्स प्रकाशित किए गए थे। दिल्ली और जम्मू-कश्मीर में ये आतंकी धारदार हथियारों से हमला करने की फिराक में थे। फ़िलहाल इनसे पूछताछ जारी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मतदान के दिन लालू की बेटी रोहिणी आचार्य को बूथ से पड़ा था लौटना, अगली सुबह बिहार के छपरा में गिर गई 1 लाश:...

बिहार के छपरा में चुनावी हिंसा में एक की मौत की खबर आ रही है। रिपोर्टों के अनुसार 21 मई 2024 को बीजेपी और राजद समर्थकों के बीच टकराव हुआ। फायरिंग हुई।

पहले दोस्तों के साथ बार में की मौज-मस्ती, फिर बिना रजिस्ट्रेशन वाली पोर्शे से 2 इंजीनियर को कुचला: CCTV से खुलासा, पुणे के रईसजादे...

महाराष्ट्र के पुणे में पोर्शे गाड़ी से दो सॉफ्टवेयर इंजीनियरों को कुचल कर मार देने वाले 17 वर्षीय लड़के ने गाड़ी चलाने से पहले शराब पी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -