NIA ने किया दक्षिण भारत में बड़े आतंकी हमले की साज़िश का खुलासा, अजहरुद्दीन सहित 6 गिरफ़्तार

मोहम्मद अजहरुद्दीन 'KhilafahGFX' नामक फेसबुक पेज भी चलाता है, जिस पर उसने श्री लंका ब्लास्ट के मुख्य अभियुक्त जहरान हाशिम से जुड़े कट्टरवादी पोस्ट शेयर किए थे। अजहरुद्दीन से कुल 14 घंटे तक पूछताछ की गई।

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) ने दक्षिण भारत में आतंकी हमला अंजाम देने की फिराक में लगे 6 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया है। यह कार्रवाई तमिलनाडु के कोयम्बतूर में 7 संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी करने के बाद की गई। सभी आरोपित खूँखार वैश्विक इस्लामिक आतंकी संगठन आइएसआइएस की विचारधारा के समर्थक थे और युवाओं को बरगला कर किसी आतंकी हमले की साजिश रच रहे थे। इन सभी की उम्र 26 से 32 वर्षों के बीच है। मुख्य आरोपित मोहम्मद अजहरुद्दीन है, जो श्री लंका ईस्टर ब्लास्ट का साजिशकर्ता जहरान हाशिम का फेसबुक फ्रेंड भी है। उसे एनआइए द्वारा हिरासत में ले लिया गया है। उसे लेकर कोच्ची पहुँची जाँच एजेंसी की टीम जल्द ही उसे न्यायिक हिरासत में लेगी।

मोहम्मद अजहरुद्दीन की उम्र 32 वर्ष है। एनआईए ने अपनी प्रेस रिलीज में कहा है:

“सभी आरोपित और उसके सहयोगी प्रतिबंधित आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) की विचारधारा फैला रहे थे। वे ऐसा सोशल मीडिया पर कर रहे थे ताकि कट्टर विचारधारा फैला कर युवाओं को बरगलाया जा सके और अपने संगठन में उन्हें भर्ती किया जा सके। ये सभी दक्षिण भारत में आतंकी हमला करने की साजिश रच रहे थे, ख़ासकर केरल और तमिलनाडु में।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मोहम्मद अजहरुद्दीन ‘KhilafahGFX’ नामक फेसबुक पेज भी चलाता है, जिस पर उसने जहरान हाशिम से जुड़े कट्टरवादी पोस्ट शेयर किए थे। दो महीने पहले NIA ने ISIS से जुड़े जिस अन्य रियास अबुबकर नामक शख्स को गिरफ्तार किया था, वह श्री लंका ब्लास्ट से प्रेरित होकर केरल में आतंकी हमले करना चाहता था और इसके लिए वो सहयोगी ढूँढ रहा था। रियास की तर्ज पर ही मोहम्मद अजहरुद्दीन भी काम कर रहा था, सोशल मीडिया पर ISIS के प्रोपेगेंडा को बढ़ा रहा था। रियास की गिरफ्तारी के बाद अजहरुद्दीन की गिरफ्तारी इस मायने में बहुत महत्व रखती है। ताज़ा छापेमारी के दौरान एनआइए ने 14 मोबाइल फोन, 29 सिम कार्ड्स, 6 मेमोरी कार्ड्स, 3 लैपटॉप, 4 हार्ड डिस्क ड्राइव, 1 इन्टरनेट डॉन्गल और 13 सीडी व डीवीडी बरामद किया। इसके अलावा 300 एयर गन पेलेट और कई भड़काऊ दस्तावेज भी बरामद किए गए।

अजहरुद्दीन के साथ गिरफ्तार हुए अन्य आरोपितों के नाम हैं- अकरम सिंधा, शेख हिदायतुल्लाह, अबुबकर, सद्दाम हुसैन और शहीम शह उर्फ़ इब्राहिम। सुबह 5.30 से लाकर दोपहर तक जाँच एजेंसी द्वारा छापेमारी की गई, जिसमें कई आपत्तिजनक वस्तुएँ बरामद हुईं। अन्य सभी आरोपितों को भी जाँच एजेंसी ने हिरासत में ले लिया है, पूछताछ के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। आरोपितों के पूछताछ के आधार पर कोयम्बतूर पुलिस ने भी कई जगहों पर छापेमारी की है। मुख्य आरोपित अजहरुद्दीन से कुल 14 घंटे तक पूछताछ की गई।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

SC और अयोध्या मामला
"1985 में राम जन्मभूमि न्यास बना और 1989 में केस दाखिल किया गया। इसके बाद सोची समझी नीति के तहत कार सेवकों का आंदोलन चला। विश्व हिंदू परिषद ने माहौल बनाया जिसके कारण 1992 में बाबरी मस्जिद गिरा दी गई।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

91,623फैंसलाइक करें
15,413फॉलोवर्सफॉलो करें
98,200सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: