Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजकोरबा में व्यापारियों ने गैर-हिंदुओं का किया बहिष्कार, हिंदू राष्ट्र की बात की: Video...

कोरबा में व्यापारियों ने गैर-हिंदुओं का किया बहिष्कार, हिंदू राष्ट्र की बात की: Video को छत्तीसगढ़ पुलिस ने बताया धार्मिक उन्माद, FIR दर्ज

इससे पहले छत्तीसगढ़ के सरगुजा से 5 जनवरी 2022 को इसी तरह का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें लोग मुस्लिमों के यहाँ काम नहीं करने और अपनी संपत्ति (खेत या अन्य) किराए पर उन्हें नहीं देने और ना ही उन्हें बेचने की शपथ खा रहे थे। ग्रामीणों का आरोप था कि बगल के गाँव के मुस्लिम उनके साथ मारपीट करते हैं।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोरबा (Korba) में कुछ व्यापारियों द्वारा अपने यहाँ सिर्फ हिंदुओं को नौकरी पर रखने की बात कहने के कारण उन पर सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने का आरोप लगाकर मामला दर्ज किया है। राज्य की कॉन्ग्रेस सरकार में पुलिस का कहना है कि इस का बात का शपथ लेते लोगों का एक वीडियो सामने आया है और इसी आधार पर कार्रवाई की गई है।

प्रदेश के बांकीमोगरा थाना क्षेत्र में कुछ व्यापारियों ने सामूहिक रूप से इस बात का निर्णय लिया कि वे अपने यहाँ गैर-हिंदुओं को काम पर नहीं रखेंगे। इसका वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में दिख रहा है कि व्यापारी अग्नि को साक्षी मानकर शपथ ले रहे हैं कि वे अपने प्रतिष्ठानों और घरों में सिर्फ हिंदुओं को ही नौकरी देंगे। इस दौरान उन्होंने देश को हिंदू राष्ट्र बनाने की भी बात कही। इस बात को पुलिस ने धार्मिक उन्माद फैलाने वाला माना है।

कोरबा पुलिस ने ट्वीट किया, “ट्विटर पर वीडियो पोस्ट किया गया है, जिसमें बाकीमोगरा के प्रमोद अग्रवाल सहित कुछ लोग एकत्रित होकर शपथ लेते हुए सांप्रदायिक सौहार्द्र को बिगाड़ने वाली भाषा पाए जाने से मामले में आरोपी प्रमोद अग्रवाल व अन्य के विरुद्ध धारा153ए भादवी के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।”

इस वीडियो को सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर शनिवार (22 जनवरी 2022) को शेयर किया गया है। रात में बनाए गए इस वीडियो में कुछ लोग आग जलाकर उसके चारों तरफ गोला बनाकर खड़े हैं। इसमें एक व्यक्ति स्पीकर के माध्यम से बाकी लोगों को भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने, हिंदुओं को हर तरह से सामाजिक एवं आर्थिक मदद देने के साथ-साथ उनको ही काम देने की शपथ दिला रहा था। वीडियो के अंत में लोग ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाते हुए भी दिखाई दे रहे थे।

 इस मामले में पुलिस अधिकारी ने बताया कि मामले की जाँच की जा रही है और इस संबंध में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। राज्य के सरगुजा से 5 जनवरी 2022 को इसी तरह का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें लोग मुस्लिमों के यहाँ काम नहीं करने और अपनी संपत्ति (खेत या अन्य) किराए पर उन्हें नहीं देने और ना ही उन्हें बेचने की शपथ खा रहे थे। ग्रामीणों का आरोप था कि बगल के गाँव के मुस्लिम उनके साथ मारपीट करते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

व्यभिचारी वैष्णव आचार्य, पत्रकार ने खोली पोल, अंग्रेजों के कोर्ट में मुकदमा… आमिर खान के बेटे को लेकर YRF-Netflix की बनाई फिल्म बहस का...

माँ भवानी का अपमान करने वाले को जवाब देने कारण हकीकत राय नामक बच्चे का खुलेआम सिर कलम कर दिया गया था। इस पर फिल्म बनाएगा बॉलीवुड? या सिर्फ वही 'वास्तविक कहानियाँ' चुनी जाती हैं जिनमें गुंडा कोई साधु-संत हो?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -