परमहंस दास ने राम जन्मभूमि न्यास प्रमुख के ख़िलाफ़ की आपत्तिजनक टिप्पणी, संगठन से निष्कासित

तपस्वी की छावनी के प्रमुख महंत सर्वेश्वर दास के शिष्य परमहंस दास को राम जन्मभूमि न्यास प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास के ख़िलाफ़ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर संगठन से निष्कासित कर दिया गया है।

तपस्वी की छावनी के प्रमुख महंत सर्वेश्वर दास के शिष्य परमहंस दास को राम जन्मभूमि न्यास प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास के ख़िलाफ़ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर संगठन से निष्कासित कर दिया गया है।

महंत सर्वेश्वर दास ने मीडिया को बताया कि परमहंस दास, जिनका मूल नाम उदय नारायण दास है, वे स्व-घोषित महंत और जगतगुरु थे और उन्होंने संत के रूप में अपने कर्तव्यों का निर्वहन नहीं किया। इस आरोप के अलावा महंत सर्वेश्वर दास ने साथी संतों से परमहंस दास को अपने दायरे में शरण न देने का आग्रह भी किया।

ख़बर के अनुसार, गुरुवार (14 नवंबर) को एक ऑडियो क्लिप वायरल हुई थी, इसमें परमहंस दास ने वीएचपी नेता रामविलास वेदांती के साथ संरक्षण के दौरान न्यास प्रमुख के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। महंत नृत्य गोपाल दास अयोध्या में सबसे अधिक पूज्य संत हैं और परमहंस की टिप्पणियों से अन्य संत नाराज़ हो गए हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद, न्यास प्रमुख के नाराज़ अनुयायियों ने तपस्वी जी की छावनी में एक विरोध प्रदर्शन किया, जिसमें परमहंस दास की गिरफ़्तारी की माँग की गई, जिसके बाद पुलिस एहतियात के तौर पर उन्हें कुछ घंटों के लिए अज्ञात स्थान पर ले गई।

एक टेलीविजन बहस में परमहंस दास ने राम जन्मभूमि न्यास के प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। परमहंस दास पर कथित तौर पर महंत नृत्य गोपाल दास की हत्या की साज़िश रचने का आरोप भी लगाया गया था। इसके बाद, उन्हें तपस्वी की छावनी से निष्कासित कर दिया गया। परमहंस दास कथित तौर पर अयोध्या से भाग गए हैं और वापस नहीं लौटे हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

उद्धव ठाकरे-शरद पवार
कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी के सावरकर को लेकर दिए गए बयान ने भी प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है। इस मसले पर भाजपा और शिवसेना के सुर एक जैसे हैं। इससे दोनों के जल्द साथ आने की अटकलों को बल मिला है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,575फैंसलाइक करें
26,134फॉलोवर्सफॉलो करें
127,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: