Wednesday, June 29, 2022
Homeदेश-समाज'यह मकान बिकाऊ है': पटना में लॉकडाउन विवाद में सन्नी गुप्ता की गोली मारकर...

‘यह मकान बिकाऊ है’: पटना में लॉकडाउन विवाद में सन्नी गुप्ता की गोली मारकर हत्या, शवयात्रा पर पथराव

पटना में लॉकडाउन का पालन करने को लेकर एनसीसी कैडेट्स से विवाद के बाद स्थानीय युवकों ने फायरिंग की। एक गोली अपने घर की बालकनी में बैठे सन्नी गुप्ता को लगी। सन्नी ने देर रात अस्पताल में दम तोड़ दिया था।

बिहार की राजधानी पटना में लॉकडाउन को लेकर हुए विवाद में सोमवार को सन्नी गुप्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मुख्य आरोपित चॉंद मोहम्मद अब भी फरार है। इधर, इस घटना से डरे-सहमे सन्नी के पिता ने अपने घर पर ‘यह मकान बिक्री का है’ की तख्ती टॉंग दी है।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार इस घटना से सन्नी गुप्ता का पूरा परिवार दहशत में है। डर के कारण वे अपना घर बेच कर कहीं और जाने को मजबूर हैं। गोपाल बैंड के मालिक और सन्नी गुप्ता के पिता गोपाल ने मकान पर तख्ती लगाते हुए उस पर लिखा है कि यह मकान बिक्री का है।

दैनिक जागरण ने गोपाल के हवाले से कहा है, “मैं 28 वर्षों से इस मकान में पूरे परिवार के साथ रह रहा हूँ। इस मकान के साथ कई सारी यादें जुड़ी हुई हैं। लेकिन जिस मोहल्ले में मेरा परिवार ही सुरक्षित नहीं है, वहाँ रहकर क्या करुँगा?”

गोपाल ने बताया कि पुलिस ने परिवार की सुरक्षा के नाम पर 4 लाठीधारी होमगार्ड को तैनात किया है। ऐसे में अगर परिवार पर हमला होता है तो ये लाठीधारी आखिर कैसे उनकी परिवार की सुरक्षा करेंगे।

दैनिक जागरण के पटना संस्करण में प्रकाशित खबर

इस घटना के बाद से पूरे इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है। माहौल को देखते हुए बड़ी संख्या में जिला प्रशासन ने इलाके में पुलिस फोर्स को तैनात कर रखा है। मुख्य आरोपित मोहम्मद चाँद की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज वार्ड नंबर 60 की पार्षद शोभा देवी और पूर्व पार्षद बलराम चौधरी अपने समर्थकों के साथ उपवास पर बैठे हुए हैं। उपवास पर बैठे लोगों की माँग है कि प्रशासन तत्काल मुख्य आरोपित चाँद की गिरफ्तारी करे, पीड़ित परिवार को मुआवजा और सुरक्षा दे और मृतक की पत्नी को नौकरी दे।

सन्नी गुप्ता को बीते सोमवार को उस वक्त गोली मारी गई थी कि जब वह घर की बालकनी में बैठे थे। आरोप है कि सोमवार शाम को स्थानीय युवकों और एनसीसी कैडेट्स के बीच लॉकडाउन का पालन करने को लेकर विवाद हो गया। इसके बाद स्थानीय युवकों ने कैडेट्स पर पथराव करते हुए फायरिंग की। एक गोली बालकनी में बैठे सन्नी गुप्ता के सिर में जाकर लग गई। उसने देर रात अस्पताल में दम तोड़ दिया।

इसके बाद जब सन्नी की शवयात्रा निकाली गई तो उस पर भी कुछ लोगों ने पथराव किया था। इसके बाद से ही इलाके में तनाव बना हुआ है। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने 100 से अधिक पुलिस फोर्स को इलाके में तैनात किया है। वहीं मृतक के भाई ने 6 नामजद सहित 25 अज्ञात लोगों के खिलाफ में हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है।

पुलिस ने पाँच नामजद हसनैन, शाहजहाँ, अबुल नासिर, अंजुम और जैनब हाशमी को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपित मोहम्मद चाँद की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस्लाम ज़िंदाबाद! नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं’: कन्हैया लाल का सिर कलम करने का जश्न मना रहे कट्टरवादी, कह रहे – गुड...

ट्विटर पर एमडी आलमगिर रज्वी मोहम्मद रफीक और अब्दुल जब्बार के समर्थन में लिखता है, "नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं।"

कमलेश तिवारी होते हुए कन्हैया लाल तक पहुँचा हकीकत राय से शुरू हुआ सिलसिला, कातिल ‘मासूम भटके हुए जवान’: जुबैर समर्थकों के पंजों पर...

कन्हैयालाल की हत्या राजस्थान की ये घटना राज्य की कोई पहली घटना भी नहीं है। रामनवमी के शांतिपूर्ण जुलूसों पर इस राज्य में पथराव किए गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
200,225FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe