Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजकानपुर में अवैध अतिक्रमण हटाने गई प्रशासन की टीम पर हमला, बुलडोजर पर पत्थरबाजी:...

कानपुर में अवैध अतिक्रमण हटाने गई प्रशासन की टीम पर हमला, बुलडोजर पर पत्थरबाजी: एक युवक को पकड़ कर पीटा

इस बीच केडीए की अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई के दौरान स्थानीय लोगों ने एक व्यक्ति को पकड़कर पीट दिया। दरअसल, लोगों को लगा कि वो युवक प्रशासनिक कार्रवाई का समर्थन कर रहा है।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर में शनिवार (7 मई, 2022) को अतिक्रमण हटाने गई ‘कानपुर विकास प्राधिकरण (KDA)’ के बुलडोजर के खिलाफ लोगों ने जमकर पथराव किया। इस मौके पर पुलिस के साथ लोगों की भिड़ंत हो गई। लोगों का आरोप था कि मनमाने तरीके से KDA प्रशासन दुकानों को ढहा रहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक, घटना लाल बंगला इलाके की है, जहाँ शनिवार की सुबह प्रशासन की टीम पूरे लाव-लश्कर के साथ पहुँची। अतिक्रमण रोधी कार्रवाई से पहले अधिकारियों ने लोगों से अतिक्रमण को हटाने के लिए कहा। इसके बाद प्रशासन के केडीए के बुलडोजर ने एक-एक कर अतिक्रम का पर्याय बने घरों को जमींदोज करना शुरु कर दिया। इस मौके पर लोगों में भगदड़ मच गई। प्रशासन की कार्रवाई से नाराज स्थानीयों ने बुलडोजर पर पत्थरबाजी भी की।

स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि वे लोग वहाँ बीते 50 सालों से रह रहे हैं। और उनके पास इसकी रजिस्ट्री भी है। बावजूद इसके केडीए प्रशासन ने बिना किसी सूचना के एकतरफा कार्रवाई करते हुए उनकी दुकानों को ढहा दिया। यहाँ तक कि अधिकारियों ने लोगों को ये नहीं बताया कि अतिक्रमण कहाँ किया गया है। हालाँकि, बाद में प्रशासन को बुलडोजर लेकर वापस लौटना पड़ा।

लोगों ने बेवजह एक युवक को पीटा

इस बीच केडीए की अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई के दौरान स्थानीय लोगों ने एक व्यक्ति को पकड़कर पीट दिया। दरअसल, लोगों को लगा कि वो युवक प्रशासनिक कार्रवाई का समर्थन कर रहा है। जबकि, उसका कहना था कि वो अपने पैसे लेने के लिए आया था। हालाँकि, बवाल के बीच पहुँची पुलिस फोर्स ने किसी तरह लोगों को शांत कराया।

पहले भी प्रशासन को बनाया गया निशाना

ये कोई पहली बार नहीं है कि अवैध अतिक्रमण हटाने के लिए गई प्रशासन की टीमों पर हमले किए गए हों। हाल ही में जीटी रोड पर कल्याणपुर में झुग्गी झोपड़ी हटाने के लिए गई केडीए की टीम पर लोगों ने हमले किए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘चोर औरंगजेब’ की मौत को लेकर खौफ में हिंदू परिवार, व्यापार समेटकर कहीं और बसने की तैयारी: ऑपइंडिया को बताया अलीगढ़ में अब क्यों...

अलीगढ़ के कथित चोर औरंगज़ेब की मौत मामले में नामजद हिन्दू व्यापारियों के परिजन अब व्यापार समेट कर कहीं और बसने का मन बना रहे हैं।

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -