Wednesday, January 26, 2022
Homeदेश-समाजमस्जिद से निकलती भीड़ को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर मारा, भागते समय भी जूते-चप्पल...

मस्जिद से निकलती भीड़ को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर मारा, भागते समय भी जूते-चप्पल समेटने पर था ध्यान

संपूर्ण देश में लॉकडाउन का उल्लंघन कर कई लोग बेलगाम की मस्जिद में नमाज के लिए पहुँच गए। स्थानीय पुलिस ने ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए नमाज के बाद मस्जिद से निकलते समय डंडे से पिटाई की।

धर्म आस्था का विषय है, व्यक्तिगत विषय है। लेकिन शायद सबके लिए नहीं! कर्नाटक के बेलगाम (Belgaum) में एक मस्जिद में गई भीड़ के लिए तो बिल्कुल भी नहीं। इस भीड़ के लिए नमाज पढ़ने से ज्यादा मस्जिद में नमाज पढ़ना जरूरी है। इस भीड़ के लिए जरूरी यह भी है कि देश अगर संकट के दौर से गुजर रहा हो तो भी अंधभक्ति को प्राथमिकता देना है।

संपूर्ण देश में लॉकडाउन का उल्लंघन कर कई लोग बेलगाम की मस्जिद में नमाज के लिए पहुँच गए। स्थानीय पुलिस ने ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए नमाज के बाद मस्जिद से निकलते समय डंडे से पिटाई की। कुछ लोग इस विडियो को “कर्नाटक में पुलिस की बर्बरता” कह कर शेयर कर रहे हैं। उनके लिए यह जानना जरूरी है कि लॉकडाउन के दौरान मंदिर-मस्जिद में भी जाना प्रतिबंधित है।

मामला सिर्फ बेलगाम की मस्जिद तक सीमित नहीं है। देहरादून के भी कुछ कट्टरपंथियों ने मस्जिद में जमा होकर नमाज पढ़ने की जिद ठान ली थी। पुलिस जब पहुँची तो डर कर भागे। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में तो हद ही कर दिया कट्टरपंथियों ने। लॉकडाउन के बाद भी भीड़ नमाज के लिए जुट गई। और तो और, समझाने पहुँची पुलिस से भी वहाँ की मस्जिद में जुटे नमाजी भिड़ गए।

लॉकडाउन के बाद भी मैनपुरी की मस्जिद में जुटे नमाजी, मौके पर पहुँची पुलिस से भिड़े

लॉकडाउन के बाद भी देहरादून की मस्जिद में जमा हुए नमाजी, पुलिस को देखते ही हुए फरार

65 साल की राबिया का कोरोना से मौत: जहाँ गई थी CAA विरोध-प्रदर्शन में, वहाँ हिस्सा लेने वाले हर लोग खौफ में!

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CDS बिपिन रावत और पूर्व CM कल्याण सिंह को पद्म विभूषण, वैक्सीन निर्माताओं को भी पद्म अवॉर्ड, सोनू निगम भी लिस्ट में: देखिए सूची

इस बार केंद्र सरकार द्वारा वैक्सीन निर्माताओं को भी सम्मान दिया गया है। साइरस पूनावाला, कृष्ण लीला और उनकी पत्नी सुचारिता इला को पद्मभूषण सम्मान से नावाजा जाएगा।

विश्व के 50 ‘इनोवेटिव इकॉनोमीज़’ में भारत का स्थान: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति कोविंद का देश के नाम संबोधन, देखें वीडियो

राष्ट्रपति ने अपने संबोधिन की शुरुआत देश और विदेश में रहने वाले सभी भारतीयों को बधाई देते हुए की। उन्होंने कहा, "गणतंत्र दिवस हम सबको एक सूत्र में बाँधने वाली भारतीयता के गौरव का यह उत्सव है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,581FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe