Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजरात के समय खेत में लाते थे गायें, फिर काट डालते थे... नूहं में...

रात के समय खेत में लाते थे गायें, फिर काट डालते थे… नूहं में पुलिस ने हसन मोहम्मद को दबोचा, 2 जीवित और एक मृत गोवंश भी मिला

नूहं पुलिस को यह सूचना मिली थी कि बिछौर थाना क्षेत्र में कुछ लोग रात में गायों को लाकर खेत में काटते हैं। पुलिस ने इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए रात को छापा मारा और एक आरोपित को पकड़ लिया।

हरियाणा के नूहं में फिर से गौकशी की घटना हुई है। यह घटना नूहं के बिछौर थाना क्षेत्र में हुई जहाँ आरोपितों ने एक खेत में गाय काटी। मौके पर पुलिस पहुँचने के बाद 2 जीवित गाय जबकि एक कटी हुई गाय मिली है।

‘दैनिक भास्कर’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, नूहं पुलिस को यह सूचना मिली थी कि बिछौर थाना क्षेत्र में कुछ लोग रात में गायों को लाकर खेत में काटते हैं। पुलिस ने इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए रात को छापा मारा और एक आरोपित को पकड़ लिया।

मौके पर अन्य गौवंश तस्कर भी मौजूद थे जो अँधेरे का फायदा उठा कर भाग निकले। मौके से हसन मोहम्मद उर्फ़ हस्सा नाम का आरोपित गिरफ्तार किया गया जो गौवंश काट कर उसके मांस को बेचता था। पुलिस ने इस मामले में 8 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। हसन के पास से 2 जीवित गाय बरामद हुई हैं। इसके अलावा एक गाय के पैरों को बाँध कर काट दिया गया था। उसकी गर्दन काट दी गई थी। अब हसन मोहम्मद समेत सभी आरोपितों पर गौवंश अधिनियम के तहत मुकदमा चलेगा।

हालाँकि, यह कोई पहला ऐसा मामला नहीं है जिसमें रात को गोतस्करों को गिरफ्तार किया गया हो। हिन्दू संगठनों का आरोप है कि नूंह में हर रात बड़ी संख्या में गाय काटी जाती है और उसका मांस बेचा जाता है। इस इलाके में गोतस्करों और गौरक्षकों का आमना-सामना हुआ करता है। अक्टूबर 2023 में भी नूहं में कुछ आरोपितो को गिरफ्तार किया गया था जो कि रात को गौकशी करने जा रहे थे।

नूंह में गौकशी एक बड़ा मुद्दा है। गौकशी रोकने वाले मोनू मानेसर और बिट्टू बजरंगी जैसे गौरक्षकों के खिलाफ नूहं में मुहिम चलाई गई थी। बिट्टू बजरंगी पर जलाभिषेक यात्रा के दौरान हमला भी हुआ था। मोनू मानेसर पर भी इसी दौरान हमले की तैयारी की गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -