Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजसीएम योगी ने पंजाब में बिजली संकट से घिरे उद्योगपतियों को दिया बड़ा ऑफर,...

सीएम योगी ने पंजाब में बिजली संकट से घिरे उद्योगपतियों को दिया बड़ा ऑफर, कम दरों पर 24 घंटे बिजली सहित कई पेशकश

यूपी सरकार द्वारा निर्धारित प्रस्तावों पर औद्योगिक संघ और व्यवसायी चर्चा कर रहे हैं। उनके द्वारा जल्द ही सामूहिक निर्णय लिया जाएगा। मिश्रा ने सीएम द्वारा दिए गए प्रस्तावों को आकर्षक बताते हुए कहा, "सबसे बड़ा फायदा यह है कि लुधियाना के कारखानों में काम करने वाले लगभग 90% श्रमिक यूपी से हैं।"

पंजाब इन दिनों एक बड़े बिजली संकट का सामना कर रहा है, जिसके परिणामस्वरूप कॉन्ग्रेस शासित राज्य में बड़े उद्योग लगभग बंद हो गए हैं। सभी उद्योगों को बिजली की आपूर्ति न मिलने से भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसी बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पंजाब के उद्योगपतियों को कम दरों पर 24 घंटे बिजली देने की पेशकश की है। यदि वे यूपी में नई इकाइयों को शिफ्ट करते हैं या स्थापित करते हैं, तो उन्हें इस ऑफर का लाभ मिलेगा। लुधियाना के उद्योगपतियों की सोमवार (12 जुलाई 2021) को इस संबंध में उत्‍तर प्रदेश के सीएम के साथ लखनऊ में बैठक हुई, जो 3 घंटे तक चली।

फेडरेशन ऑफ डाइंग फैक्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष व बिजनेसमैन टीआर मिश्रा ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा, ”रविवार (11 जुलाई) को मुझे यूपी सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी का फोन आया, जिन्होंने मुझे बताया कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ लुधियाना के उद्योगपतियों से मिलना चाहते हैं। उद्योगपति उत्तर प्रदेश में औद्योगिक इकाइयों की स्थापना की संभावनाओं पर चर्चा करेंगे। हम इस प्रस्ताव से सहमत हुए और हमने लखनऊ के लिए उड़ान भरी। यहाँ हमने सीएम के साथ बैठक की, जो लगभग तीन घंटे तक चली।”

उन्होंने आगे कहा, “सीएम योगी ने वादा किया है कि पंजाब की तुलना में उद्योगों को 24 घंटे निर्बाध बिजली दी जाएगी, वह भी सस्ती दरों पर। इसके अलावा, यूपी सरकार औद्योगिक इकाइयों की उचित सुरक्षा और अधिक निश्चित करेगी। हमें आने वाले नोएडा अंतरराष्ट्रीय ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के निकट यमुना एक्सप्रेस वे जैसे प्रमुख क्षेत्रों में औद्योगिक क्लस्टर स्थापित करने के लिए अतुलनीय प्रोत्साहन और विकल्प का वादा किया गया है, जो भारत का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा।”

लुधियाना की फैक्ट्रियों में 90% मजदूर यूपी से हैं

यूपी सरकार द्वारा निर्धारित प्रस्तावों पर औद्योगिक संघ और व्यवसायी चर्चा कर रहे हैं। उनके द्वारा जल्द ही सामूहिक निर्णय लिया जाएगा। मिश्रा ने सीएम द्वारा दिए गए प्रस्तावों को आकर्षक बताते हुए कहा, “सबसे बड़ा फायदा यह है कि लुधियाना के कारखानों में काम करने वाले लगभग 90% श्रमिक यूपी से हैं।”

उद्योग जगत के लिए शांतिपूर्ण माहौल का सीएम योगी ने किया वादा

सीएम से मिले प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख गुरमीत सिंह कुलार ने कहा कि बैठक काफी अच्छी रही। उन्होंने कहा, ”यूपी सरकार ने औद्योगिक परियोजनाओं के लिए समर्थन और फास्ट ट्रैक की अनुमति देने का वादा किया है। सीएम योगी ने कानून-व्यवस्था को पूरी तरह से बनाए रखते हुए उद्योग जगत के लिए पूरी तरह से शांतिपूर्ण वातावरण सुनिश्चित किया।” उन्होंने कहा कि यूपी ईस्टर्न कॉरिडोर का हिस्सा है, जो सस्ते और आसान माल की आवाजाही सुनिश्चित करेगा।

अतिरिक्त मुख्य सचिव अरविंद कुमार और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भी प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। कुलार ने कहा कि सरकार ने इच्छुक व्यवसायियों को पूर्ण विकसित औद्योगिक क्षेत्र उपलब्ध कराने का वादा किया है। यूपी सरकार द्वारा प्रस्तावित जमीन की कीमत 5,000 रुपए प्रति वर्ग गज (per square yard) बताई गई थी। इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं औद्योगिक विकास सचिव नीना शर्मा ने प्रतिनिधिमंडल को निवेशकों को मिलने वाले वित्तीय लाभों की जानकारी दी।

गौरतलब है कि पंजाब के उद्योगपति इस साल मार्च से ही यूपी के सीएम योगी से मिलने की योजना बना रहे थे, लेकिन कोरोना महामारी के कारण बैठक में देरी हुई। मिश्रा ने कहा, “यह महज संयोग है कि यह ऐसे समय में हुआ जब पंजाब बिजली संकट से जूझ रहा है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,314FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe