Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजलड़की को अगवा किया, चिल्लाती रही पर गोद में उठा जबरन लिए फेरे: Video...

लड़की को अगवा किया, चिल्लाती रही पर गोद में उठा जबरन लिए फेरे: Video से खुली राजस्थान में कानून-व्यवस्था की पोल, BJP बोली- यही है कुख्यात कॉन्ग्रेस का कुशासन

इस घटना के विरोध में लड़की के घर वालों ने जैसलमेर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया है। पीड़ितों का आरोप है कि आरोपित खुलेआम घूम रहे हैं और दोबारा से लड़की के अपहरण की धमकी दे रहे हैं। आरोपितों पर लड़की की शादी कहीं और न होने देने की भी चुनौती देने का आरोप है।

राजस्थान के जैसलमेर से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक व्यक्ति किसी लड़की को गोद में उठाकर जबरन आग के फेरे ले रहा है। हालाँकि, लड़की इस हरकत का विरोध कर रही है। पीड़िता के परिजनों ने घटना के विरोध में प्रदर्शन किया है। भाजपा ने इस घटना को कॉन्ग्रेस सरकार में खराब कानून व्यवस्था का उदाहरण बताया है। पुलिस ने मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। घटना गुरुवार (1 जून 2023) की है।

लगभग 7 सेकेण्ड के इस वीडियो को केंद्रीय मंत्री और बाड़मेर से सांसद कैलाश चौधरी ने ‘कुख्यात कॉन्ग्रेस के कुशासन में बेटियाँ हो रहीं शर्मसार’ कैप्शन के साथ शेयर किया है। इस वीडियो में पीछे से एक महिला भी दिखाई दे रही है। जबरन फेरे लेते मुख्य आरोपित के साथ कुछ अन्य लोग भी दिखाई दे रहे हैं। इस हरकत के विरोध में लड़की रो रही है। कैलाश चौधरी ने इन अपराधियों पर सत्ता का संरक्षण होने का आरोप लगाते हुए राजस्थान में महिलाओं को असुरक्षित बताया है।

क्या है पूरा मामला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला जैसलमेर जिले के मोहनगढ़ पुलिस थाना क्षेत्र के सांखला गाँव का है। यहाँ की एक युवती की शादी पहले पुष्पेंद्र सिंह नाम के युवक से तय हुई थी। दोनों की सगाई भी हो गई थी, लेकिन थोड़े समय बाद लड़की के माता-पिता ने सगाई तोड़कर अपनी बेटी का रिश्ता कहीं और तय कर दिया। इसी माह 12 जून को होने वाली इस शादी की तैयारियाँ भी शुरू हो गई थीं। इस बात से पुष्पेंद्र नाराज था। उसने 1 जून को अपने साथियों सहित लड़की को उसके घर के आगे से फॉर्च्यूनर कार से अपहरण कर लिया।

अपहरण करके लड़की को आरोपित एक सुनसान जगह ले गए। यहाँ पुष्पेंद्र ने आग के आगे लड़की को गोद में लेकर 7 फेरे लिए और इसका वीडियो भी बनाया। पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि लड़की की शादी न हो इस वजह से बदनाम करवाने के लिए पुष्पेंद्र और साथियों ने इस हरकत को अंजाम दिया है। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपित पुष्पेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। लड़की को बरामद करके उनके घर वालों को सौंप दिया गया। फ़िलहाल पुलिस वीडियो में दिख रहे अन्य आरोपितों की तलाश कर रही है।

वहीं, इस घटना के विरोध में लड़की के घर वालों ने जैसलमेर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया है। पीड़ितों का आरोप है कि आरोपित खुलेआम घूम रहे हैं और दोबारा से लड़की के अपहरण की धमकी दे रहे हैं। आरोपितों पर लड़की की शादी कहीं और न होने देने की भी चुनौती देने का आरोप है। पीड़िता के घर वालों ने फरार चल रहे अन्य आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी न होने पर आंदोलन की भी चेतावनी दी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -