Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाज'वसीम रिजवी इस्लाम का दुश्मन': जामा मस्जिद के बाहर जुटे सैकड़ों, कुरान की आयत...

‘वसीम रिजवी इस्लाम का दुश्मन’: जामा मस्जिद के बाहर जुटे सैकड़ों, कुरान की आयत हटाने की याचिका का विरोध

पिछले दिनों रिज़वी ने सुप्रीम कोर्ट में कुरान की 26 आयत को हटाने के संबंध में याचिका दाखिल की थी। उनका मत है कि इन 26 आयत में से कुछ आतंकवाद को बढ़ावा देने वाली हैं और उन्हें बाद में शामिल किया गया।

शिया वक़्फ़ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिज़वी के ख़िलाफ़ आज यानी शुक्रवार को (19 मार्च 2021) दिल्ली के जामा मस्जिद के बाहर सैंकड़ों की तादाद में प्रदर्शनकारियों ने इकट्ठा होकर नारेबाजी की। रिजवी को इस्लाम का दुश्मन करार देते हुए उनकी गिरफ्तारी की माँग की गई।

पिछले दिनों रिज़वी ने सुप्रीम कोर्ट में कुरान की 26 आयत को हटाने के संबंध में याचिका दाखिल की थी। उनका मत है कि इन 26 आयत में से कुछ आतंकवाद को बढ़ावा देने वाली हैं और उन्हें बाद में शामिल किया गया।

उनके इसी कदम के बाद से मुस्लिम समुदाय गुस्से में है। शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद का कहना है कि रिजवी ने जानबूझकर कुरान का अपमान किया। हम नहीं चाहते कि कुरान कोई हिस्सा हटाया जाए। हम रिजवी के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई चाहते हैं।

वहीं, प्रदर्शनकारियों ने कहा कि वसीम रिजवी ये सब करके शिया और सुन्नी समुदाय में दरार पैदा करना चाहते हैं। लेकिन आज दोनों समुदाय मिलकर उनके खिलाफ़ विरोध कर रहे हैं।

एक अन्य प्रदर्शनकारी ने रिजवी को लेकर कहा कि ऐसे लोगों का समाज के हर कोने से बहिष्कार हो जाना चाहिए। वह पाक किताब के लिए अपमानजनक बातें करके सिर्फ़ शांति भंग करना चाहते हैं।

बता दें कि जामा मस्जिद के बाहर एक ओर जहाँ सैंकड़ों की भीड़ इकट्ठा है और रिजवी के विरुद्ध कार्रवाई की माँग कर रही है। वहीं वसीम रिजवी ने कहा है कि वह इस मामले में आखिरी साँस तक लड़ाई लड़ेंगे।

सोशल मीडिया पर जामा मस्जिद के बाहर हुए प्रोटेस्ट की वीडियो भी सामने आई हैं। इन वीडियोज में सुन सकते हैं कि ‘अल्लाह हू अकबर’ और ‘नारा ए तकबीर’ के साथ रिजवी के विरुद्ध कार्रवाई की माँग की जा रही है। उनके पोस्टर पर चप्पलें मारी जा रही हैं। कुछ लोग प्लेकार्ड हाथ में लिए हुए हैं जिसमें रिजवी की तस्वीर है और उसमें उनके मुँह पर क्रॉस लगाकर उन्हें इस्लाम का दुश्मन बताया जा रहा है। हिंदुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक मुरादाबाद में भी जुमे की नमाज के बाद मुस्लिमों ने प्रदर्शन किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,101FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe