Wednesday, September 28, 2022
Homeदेश-समाजपंजाब के किसानों ने दिल्ली बॉर्डर पर किया अवैध पक्का निर्माण, भीतर में हुक्का...

पंजाब के किसानों ने दिल्ली बॉर्डर पर किया अवैध पक्का निर्माण, भीतर में हुक्का गुड़गुड़ाने के कई वीडियो वायरल

उन्होंने हाईवे के पास रसोईघर बनाया है और प्रतिकूल मौसमों से उसकी रक्षा के लिए दीवार खड़े कर दिए हैं। उनका कहना है कि आने वाले दिनों में और भी निर्माण कार्य करेंगे। मजेदार बात यह है कि सीमेंट और ईंट की इन दीवारों के बीच लोगों को हुक्का का आनंद लेते हुए भी देखा जा रहा है।

दिल्ली के सीमावर्ती कैंप पर कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने आंदोलन को लंबा खिंचता देख कर ईंंट-गारे से ‘पक्के’ ठिकाने बनाने शुरू कर दिए। टीकरी बॉर्डर पर कुछ किसान ईंट, बालू और सिमेंट लेकर पहुँचे। कंस्ट्रक्शन कर रहे किसानों ने बताया कि उन्हें यहाँ एक महीने से अधिक का समय हो गया है, सरकार उनकी माँगे नहीं मान रही है। ऐसे में वे भी अब यहाँ स्थाई मकान ही बना रहे हैं, ताकि बारिश और ठंड से बच सकें। किसानों का कहना है कि अब वे तभी यहाँ से जाएँगे, जब सरकार उनकी माँगे मान लेगी।

उन्होंने हाईवे के पास रसोईघर बनाया है और प्रतिकूल मौसमों से उसकी रक्षा के लिए दीवार खड़े कर दिए हैं। उनका कहना है कि आने वाले दिनों में और भी निर्माण कार्य करेंगे। मजेदार बात यह है कि सीमेंट और ईंट की इन दीवारों के बीच लोगों को हुक्का का आनंद लेते हुए भी देखा जा रहा है। विभिन्न विरोध प्रदर्शन स्थलों से इस तरह के कई वीडियो सामने आ रहे हैं।

फ्री टेंट से लेकर फ्री डेंटल चेक-अप तक। किसानों को वहाँ रहने और विरोध प्रदर्शन करने के लिए मुफ्त में सभी सुविधाएँ दी जा रही हैं।

मुफ्त में वाटर-प्रूफ टेंट लगाना। आरोप लगाया गया है कि कुछ हस्तियाँ और कंपनियाँँ इन विरोधों को फ्री में फंडिंग कर रही हैं।

एलईडी स्क्रीन के साथ म्यूजिक सिस्टम, टेंट और मजबूत स्टेज।

राजमार्ग पर अवैध स्पोर्ट्स इवेंट का आयोजन किया गया।

राजमार्ग पर अवैध टेंट बनाया जा रहा है।

अवैध कॉफी स्टॉल लगाए जा रहे हैं।

एक गैर सरकारी संगठन (NGO) द्वारा अवैध रसोईघर का सेटअप किया गया।

एक और अवैध रसोईघर।

कॉन्ग्रेस ने किया अवैध रसोईघर का सेटअप।

सिंघू सीमा के पार इस तरह के हजारों अवैध टेंट खड़े किए गए हैं

हाईवे पर अवैध जिम का सेटअप किया गया।

दिल्ली के सीएम, जिन्होंने कोविड लॉकडाउन के दौरान यूपी और बिहार के प्रवासी श्रमिकों को दिल्ली छोड़ने के लिए मजबूर किया था, उन्होंने पंजाब विधानसभा में अपनी पार्टी के भविष्य के बहाने सिंघू सीमा पर भूमि कब्जाने वाले प्रदर्शनकारियों को मुफ्त वाई-फाई प्रदान किया।

राजमार्ग पर अवैध सेटअप की कुछ तस्वीरें

सिंघू सीमा पर क्या हो रहा है, यह इसकी सिर्फ एक झलक मात्र है।

गौरतलब है कि दिल्ली और इसके आस-पास चल रहे ‘किसान आंदोलन’ के चलते बीते एक महीने से ज़्यादा समय में दिल्ली तथा उससे सटे राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब एवं राजस्थान को लगभग 27,000 करोड़ रुपए के व्यापार का नुकसान हुआ है। ट्रेडर्स बॉडी ने इसकी जानकारी दी। 

ट्रेडर्स बॉडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और उसके राष्ट्रीय महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि पंजाब और हरियाणा से दिल्ली आने वाले माल की आपूर्ति पर काफी फर्क पड़ा है। इन दोनों राज्यों से विभिन्न वस्तुओं की आपूर्ति प्रभावित हुई है। उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई निर्बाध रूप से जारी रखने के लिए काम किया जा रहा है। इसके लिए अन्य राज्यों से दिल्ली में सामान लेकर आने वाले वाहनों को राजमार्ग को छोड़कर अन्य वैकल्पिक मार्गों से काफी लंबा चक्कर लगा कर दिल्ली आना पड़ रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ब्रह्मांड के केंद्र’ में भारत माता की समृद्धि के लिए RSS प्रमुख मोहन भागवत ने की प्रार्थना, मेघालय के इसी जगह पर है ‘स्वर्णिम...

सेंग खासी एक सामाजिक-सांस्कृतिक और धार्मिक संगठन है जिसका गठन 23 नवंबर, 1899 को 16 युवकों ने खासी संस्कृति व परंपरा के संरक्षण हेतु किया था।

अब पलटा लेस्टर हिंसा के लिए हिन्दुओं को जिम्मेदार ठहराने वाला BBC, फिर भी जारी रखी मुस्लिम भीड़ को बचाने की कोशिश: नहीं ला...

बीबीसी ने अपनी पिछली रिपोर्टों के लिए कोई माफी नहीं माँगी है, जिसमें उसने हिंदुओं पर झूठा आरोप लगाया था कि हिंसा के लिए वे जिम्मेदार हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,688FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe