Saturday, December 4, 2021
Homeदेश-समाजशादी का झाँसा दे 2 वर्षों तक आदिवासी युवती से रेप, केशर आलम अब...

शादी का झाँसा दे 2 वर्षों तक आदिवासी युवती से रेप, केशर आलम अब इस्लाम अपनाने का बना रहा दबाव

केशर आलम ने पहले दोस्ती की, फिर क्रिसमस के दिन चाय में नशीला पदार्थ मिला कर आदिवासी लड़की का रेप किया। इसके बाद विरोध करने पर शादी का झाँसा देकर लगातार...

झारखंड की राजधानी राँची से ‘लव जिहाद’ का मामला सामने आया है। आरोपित ने आदिवासी युवती को शादी का झाँसा देकर 2 साल तक उसका यौन शोषण किया और फिर इस्लाम में धर्मांतरण के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया।

इस घटना को लेकर गोंदा थाने में FIR दर्ज की गई है। काँके रोड निवासी एक युवती ने रेप का आरोप दर्ज कराया है। आरोपित केशर आलम उर्फ़ केशु गुलजार नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत स्थित इटकी का निवासी है।

पीड़िता एक शोरूम में सहायक के रूप में काम करती है। उसने अपनी शिकायत में बताया है कि वो कोकर में एक सहेली के यहाँ रहती थी। केशर आलम उर्फ़ केशु वहाँ अक्सर आया-जाया करता था। वहीं पर उन दोनों की मुलाकात हुई, जो दोस्ती में बदल गई।

पीड़िता ने बताया कि क्रिसमस 2018 (दिसंबर 25) के दिन वो घर में अकेली थी, इस दौरान केशर आलम वहाँ पर आ धमका और उसने चाय की फरमाइश की।

आरोप है कि इसके बाद उसने चाय में कुछ नशीला पदार्थ मिलाया और आदिवासी समाज से आने वाली युवती साथ बलात्कार किया। जब पीड़िता ने उसके इस कृत्य का विरोध किया तो आरोपित शादी का झाँसा देता रहा।

अब उसने शादी से इनकार कर दिया और कहा कि जब युवती धर्मांतरण के बाद इस्लाम अपनाएगी, तभी वो उससे निकाह करेगा। पुलिस ने इस मामले की छानबीन शुरू कर दी है। आरोपित अभी तक गिरफ्तार नहीं हुआ है।

झारखंड ईसाई धर्मांतरण की समस्या से भी जूझ रहा है। विश्व हिंदू परिषद् ने कहा है कि झारखंड के मुख्यमंत्री का कहना कि आदिवासी हिंदू नहीं थे और नहीं रहेंगे, गैर जिम्मेदाराना बयान है। ऐसे बयान से झारखंड में मतांतरण को बढ़ावा मिलेगा और किसी राजनीतिक नेतृत्व को ऐसा बयान देने से बचना चाहिए। विहिप ने आश्वासन दिया कि वो झारखंड सहित पूरे देश में चल रहे मतांतरण को रोकने के लिए प्रयास करेगी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘आतंक का कोई मजहब नहीं होता’ – एक आदमी जिंदा जला कर मार डाला गया और मीडिया खेलने लगी ‘खेल’

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैलाया जा रहा प्रोपगेंडा जिन स्थानीय खबरों पर चल रहा है उनमें बताया जा रहा है कि ये सब अराजक तत्वों ने किया था, इस्लामी भीड़ ने नहीं।

‘महिला-पुरुष की मालिश का मतलब यौन संबंध नहीं होता, इस पर कार्रवाई से परहेज करें’: HC ने दिल्ली सरकार को फटकारा

दिल्ली सरकार स्पा में क्रॉस-जेंडर मसाज पर रोक लगा चुकी है। इसके अलावा रिहायशी इलाकों में नए मसाज सेंटर खोलने पर भी रोक लगा दी गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,510FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe