Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजबात मान कर डीजे-जयकारा बंद कर दिया, फिर भी हमला: बिहार के गया ...

बात मान कर डीजे-जयकारा बंद कर दिया, फिर भी हमला: बिहार के गया में रामनवमी की शोभा यात्रा के साथ-साथ पुलिस पर भी हमला, पत्थरबाजी

डब्बू गाँव में यात्रा के पहुँचते ही वहाँ मुस्लिम भीड़ ने डीजे और जयघोष को बंद करने का दबाव बनाया। इस बात को लेकर कहासुनी हुई।

जहाँ एक तरफ बिहार के सासाराम और नालंदा में बवाल जारी है, वहीं दूसरी तरफ गया में पुलिस पर ही हमला कर दिया गया रामनवमी की शोभा यात्रा के साथ-साथ गया में पुलिस वालों को भी निशाना बनाया गया है। भीड़ ने जम कर पत्थरबाजी की। ये घटना चाकंद थाना क्षेत्र के डब्बू गाँव की है। शुक्रवार (31 मार्च, 2023) को झड़प की सूचना के बाद पुलिस वहाँ पहुँची थी, जिसके बाद उक्त घटना हुई। इस घटना में 2 पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं।

इन दोनों का इलाज बेलागंज अस्पताल में चल रहा है। बिहार पुलिस ने इस मामले में 16 लोगों को गिरफ्तार किया है। रोड़ेबाजी करने वाले कई लोग फरार भी हो गए हैं, जिसके बाद गाँव में कैम्प कर कर पुलिस दबिश दे रही है। ढकायीन गाँव से रामनवमी की ये शोभा यात्रा निकाली गई थी। डब्बू गाँव में यात्रा के पहुँचते ही वहाँ मुस्लिम भीड़ ने डीजे और जयघोष को बंद करने का दबाव बनाया। इस बात को लेकर कहासुनी हुई।

लेकिन, इसके बावजूद बात मान कर हिन्दू समाज के लोग डीजे और जयकारा बंद कर के शोभा यात्रा को आगे बढ़ाने लगे। लेकिन, इसके बावजूद आगे शोभा यात्रा को रुकने को मजबूर कर दिया गया। इसके बाद माहौल बिगड़ने लगा और पुलिस को सूचना दे दी गई। पुलिस जैसे ही वहाँ पहुँची, उस पर ही पत्थर बरसाए जाने लगे। इसके बाद वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुँचे। हालात को काबू करने के लिए पुलिस ने गाँव में कैम्प किया।

बिहार पुलिस ने घटना के संबंध में बताया है, “मौके पर उपस्थित कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा पुलिस बल पर पत्थर चलाया गया, जिससे दो पुलिस कर्मी को हल्की चोटें आई है, जिन्हें स्थानीय अस्पताल में First Aid के पश्चात थाना वापस भेज दिया गया। दोनों पक्षों में असामाजिक तत्वों को चिह्नित किया जा रहा है। इस संबंध में कांड दर्ज कर अग्रतर कारवाई की जा रही है। वर्तमान में स्थिति सामान्य है, फिर भी निगरानी रखी जा रही है। स्थिति सामान्य होने तक के लिए पुलिस पदाधिकारी/बलों की प्रतिनियुक्ति डब्बूनगर गॉव एवं आस-पास के क्षेत्र में की गई है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -