Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजछत्तीसगढ़: गौ हत्या से उबले ग्रामीण, भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती

छत्तीसगढ़: गौ हत्या से उबले ग्रामीण, भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती

पुलिस ने माँस के अवशेषों को एकत्र कर रामानुजगंज के पशु चिकित्सक विकास जायसवाल से पीएम कराकर जाँच शुरू की। चिकित्सक बोले-प्रथम दृष्टया गाय के ही लग रहे अवशेष।

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर में गाय की हत्या कर उसका माँस बेचे जाने की ख़बर सामने आई है। मामला रामचन्द्रपुर थाना के अंतर्गत ग्राम पंचायत रेवतीपुर का है। घटना से ग्रामीणों में आक्रोश फैला हुआ है। दोषियों को कड़ी सज़ा देने की माँग की जा रही है।

स्थानीय ग्रामीण महेन्द्र सिंह के अनुसार, सूचना मिलने के बाद हम लोग जब घटनास्थल पर पहुँचे तो देखा कि गाय की हत्या कर उसके अवशेष फेकें हुए हैं। उन्होंने बताया कि आसपास मुस्लिम समुदाय के लोग रहते हैं। ऐसा लगता है कि उन्होंने ही इस काम को अंजाम दिया होगा। गाँव के सरपंच श्रवण यादव ने भी घटनास्थल पर गाय के सींग, मुंडी और चमड़ी आदि मिलने की पुष्टि की है। सरपंच ने मुस्लिम समुदाय के लोगों को भी बुलाकर अवशेष दिखाए।

गाँव के लोगों ने सीमा में झाड़ियों के पास गाय के अवशेष देखे। इसके बाद पूरे गाँव में गाय की हत्या कर माँस बेचने की खबर फैल गई।

नई दुनिया की ख़बर के अनुसार, घटना की सूचना मिलने पर पुलिस गाँव में पहुँची और माँस के अवशेषों को इकट्ठा करके रामानुजगंज के पशु चिकित्सक विकास जायसवाल से पीएम कराया। जायसवाल ने बताया कि अवशेष प्रथम दृष्टया गाय के ही लगते हैं।

रामचंद्रपुर थाना प्रभारी एसके पैकरा ने बताया कि अवशेषों को फोरेंसिक जाँच के लिए भेजा जाएगा। अज्ञात आरोपितों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है। भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती भी की गई है ताकि कोई अप्रिय घटना न घटे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,735FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe