Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाजपश्चिम दिल्ली स्थित चर्च में बिना राशन रह रहे थे नार्थ-ईस्ट के 50 परिवार,...

पश्चिम दिल्ली स्थित चर्च में बिना राशन रह रहे थे नार्थ-ईस्ट के 50 परिवार, RSS के सेवा भारती ने पहुँचाया राशन और मदद

उल्लेखनीय है कि सेवा भारती संगठन बंद के दौरान जरूरतमंद लोगों को आर्थिक मदद भी उपलब्ध करवा रही है। हाल ही में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े इस संगठन ने कोरोना वॉरियर्स के लिए सहयोग राशि देने का ऐलान किया है।

बेसहारा और जरूरतमंद लोगों का ध्यान रखने की जिम्मेदारी लिए आरएसएस की सेवा इकाई सेवा भारती संगठन तत्परता से जुड़ा हुआ है। आज ही सेवा भारती संगठन ने पश्चिम दिल्ली की एक चर्च में 250 भूखे लोगों को राशन उपलब्ध करवाया है।

पश्चिम दिल्ली के हस्तसाल नगर में जोमी चर्च (Zomi Church) से जुड़े 50 परिवारों के लगभग ढाई सौ सदस्य राशन और खाद्य सामग्री से परेशान थे। इस चर्च में ज्यादातर लोग नार्थ-ईस्ट के लोग, खासकर मिजोरम के निवासी हैं और कई वर्षों से दिल्ली में रह रहे हैं। जानकारी मिलने पर सेवा भारती संगठन के कार्यकर्ता इस चर्च के जरूरतमंद लोगों के पास पहुँचे और उन्होंने राशन तथा अन्या चीजें उपलब्ध करवाईं।

उल्लेखनीय है कि सेवा भारती संगठन बंद के दौरान जरूरतमंद लोगों को आर्थिक मदद भी उपलब्ध करवा रही है। हाल ही में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े इस संगठन ने कोरोना वॉरियर्स के लिए सहयोग राशि देने का ऐलान किया है।

संगठन ने कहा कि सफाईकर्मी, स्वास्थ्यकर्मी और पत्रकार ऐसी विपरीत परिस्थितियों में अपना दायित्व निभा रहे हैं और समाज की मदद करने के लिए अपनी जान खतरे में डाल रहे हैं। ऐसे में संगठन ने फैसला लिया कि अगर गैर सरकारी सफाईकर्मी, स्वास्थ्यकर्मी (अनुबंधित) या कोई पत्रकार कोविड-19 से प्रभावित हैं तो उनकी मदद की जाएगी।

साथ ही, फैसला लिया गया कि अगर उनका इलाज चल रहा है तो उन्हें 25,000 रुपए की मदद दी जाएगी और अगर दुर्भाग्यवश ऐसे किसी कोरोना वॉरियर की मौत हो जाती है तो उनके परिवार को संगठन की तरफ से एक लाख रुपए की मदद दी जाएगी।

सेवा भारती द्वारा की जा रही मदद से सम्बंधित वीडियो को आप इस लिंक पर देख सकते हैं –

देश भर में 2.1 लाख स्वयंसेवक काम में लगे हुए हैं, जो ‘सेवा भारती’ के बैनर तले कार्यरत हैं। संगठन ने भारत में कुल 1200 संस्थाओं के साथ संपर्क साधा है और उन सभी के साथ मिल-जुलकर काम कर रही है। इन 1200 संस्थाओं के साथ मिल कर ये सुनिश्चित किया जा रहा है कि कोई इलाक़ा छूट न जाए। श्रवण ने बताया कि 26 लाख लोगों तक उनकी सीधी पहुँच है, जिन्हें भोजन कराया जा रहा है। ऐसे कई लोग हैं जिनके भोजन की पूरी जिम्मेदारी संगठन ने ही उठाई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान से ज्यादा हुए भारत के एटम बम, अब चीन को भेद देने वाली मिसाइल पर फोकस: SIPRI की रिपोर्ट में खुलासा, ड्रैगन के...

वर्तमान में परमाणु शक्ति संपन्न देशों में भारत, चीन, पाकिस्तान के अलावा अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, उत्तर कोरिया और इजरायल भी आते हैं।

BJP की एक महिला नेता की हार के बाद 4 लोगों ने की आत्महत्या, पीड़ित परिवार से मिल खुद भी फूट-फूटकर रोईं: देखिए Video,...

बीजेपी नेता पंकजा मुंडे की लोकसभा चुनाव 2024 में नजदीकी हार से परेशान कम से कम 4 कार्यकर्ता अपनी जान दे चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -