Sunday, July 25, 2021
Homeदेश-समाज27 साल पहले 27 मार्च को ही सचिन तेंदुलकर ने शुरू की थी नई...

27 साल पहले 27 मार्च को ही सचिन तेंदुलकर ने शुरू की थी नई इनिंग, अब उसी तारीख को आई कोरोना संक्रमित होने की खबर

27 मार्च की तारीख सचिन के करियर में बेहद महत्वपूर्ण है। 1994 में 27 मार्च को ही उन्होंने वन डे मैचों में भारत के लिए पहली बार पारी शुरुआत की थी।

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उन्होंने खुद ट्वीट कर यह जानकारी दी है। सचिन के मुताबिक वे संक्रमण से बचाव के लिए हर तरह की सावधानी बरत रहे थे, लेकिन वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

उन्होंने ट्वीट में कहा है कि आज ही उन्हें संक्रमण के लक्षण महसूस आए थे। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद खुद को घर में ही क्वारंटाइन कर लिया है। उनके परिवार के अन्य लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। उन्होंने इस आपदा में कार्य कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों के प्रति आभार जताते हुए लोगों को सतर्कता बरतने की सलाह दी है।

सचिन ने हाल में ही रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में हिस्सा लिया था और इंडिया लेजेंड्स की टीम ने फाइनल में श्रीलंका को हराकर खिताब पर कब्जा किया था। इस दौरान सचिन का प्रदर्शन बेहद शानदार रहा था। उन्होंने कोरोना संक्रमित होने की खबर 27 मार्च को दी।

27 मार्च की तारीख सचिन के करियर में बेहद महत्वपूर्ण है। 1994 में 27 मार्च को ही उन्होंने वन डे मैचों में भारत के लिए पहली बार पारी शुरुआत की थी। न्यूजीलैंड दौरे पर उन्हें यह मौका नवजोत सिंह सिद्धू के अनफिट होने के कारण मिला था। वह मैच भारत हार गया था, लेकिन सचिन ने 49 गेंदों पर 82 रन बनाए थे, जिसमें 15 चौके और 2 छक्के शामिल थे। इसके बाद सचिन क्रिकेट की दुनिया में कैसे छाए यह इतिहास है।

परेश रावल भी कोरोना पॉजिटिव

अभिनेता और पूर्व सांसद परेश रावल भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा है, “दुर्भाग्यपूर्ण, मैं कोरोना पॉजिटिव पाया गया हूँ। पिछले 10 दिनों से जो भी कोई मेरे संपर्क में आया हो वे कृपया खुद की जाँच करा लें।”

गौरतलब है कि परेश रावल से पहले भी कई बॉलीवुड सितारों के संक्रमित होने की खबर आ चुकी है। इनमें मिलिंद सोमन, आमिर खान, आर माधवन, रणबीर कपूर, मनोज बाजपेयी, कार्तिक आर्यन, सिद्धांत चतुर्वेदी, तारा सुतारिया और सतीश कौशिक जैसे नाम शामिल हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,200FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe