Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाज40 साल से चल रहा था संजय गाँधी एनिमल केयर सेंटर, प्रताड़ना से कुत्ते...

40 साल से चल रहा था संजय गाँधी एनिमल केयर सेंटर, प्रताड़ना से कुत्ते की मौत के बाद मेनका गाँधी ने अस्थायी तौर पर बंद किया

पीपुल फॉर एनिमल की कार्यकर्ता कावेरी चौधरी ने एक कुत्ते के साथ दो पैरा पशु चिकित्सकों द्वारा बेरहमी किए जाने का विचलित करने वाला वीडियो शेयर किया था।

संजय गाँधी एनिमल केयर सेंटर (SGACC) में एक कुत्ते को दो पैरा पशु चिकित्सकों द्वारा बेरहमी से पीटे जाने के कुछ दिनों बाद, बीजेपी सांसद मेनका गाँधी ने पशु देखभाल सुविधा को अस्थायी रूप से बंद करने की घोषणा की है। मेनका गाँधी ने ट्विटर पर एक बयान में कहा, “यह दुख और रोष को बयाँ करता है। हाल में एक कुत्ता नई दिल्ली के संजय गाँधी पशु देखभाल केंद्र (SGACC) में लाया गया था। बीते एक साल से कोरोना की वजह से SGACC में कर्मचारियों की कमी है और दो नए पैरा-पशु चिकित्सक मदद के लिए रखे गए थे। इस दौरान घटना ने दुखद मोड़ लिया, जब कुत्ता काफी दर्द में था तब पैरा-पशु चिकित्सक ने उसे बेरहमी से पीटा, जिसके बाद चोटों से कुत्ते की मौत हो गई।”

भाजपा सांसद ने आगे कहा, “इस घटना ने हम सभी को अंदर तक झकझोर दिया है। जब से मैंने भयावह वीडियो देखा है, तब से मैं व्यक्तिगत रूप से गुस्से से काँप रही हूँ। हमने तुरंत पैरा-पशु चिकित्सकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। विभाग के प्रभारी चिकित्सक को छुट्टी का नोटिस दिया गया है। लेकिन इतना पर्याप्त नहीं है। SGACC अपने मिशन में लड़खड़ा गया है और इसे फिर से खड़ा करने की जरूरत है।”

मेनका गाँधी ने 40 साल की सेवा के बाद संजय गाँधी पशु देखभाल केंद्र को अस्थायी रूप से बंद करने और पशु बचाव मिशन को बंद करने की घोषणा की। उन्होंने आश्वासन दिया कि सभी जानवरों का पुनर्वास पशु देखभाल सुविधा द्वारा किया जाएगा। सुल्तानपुर के भाजपा सांसद ने पशु आश्रय का भौतिक रूप से पुनर्निर्माण करने, नया बुनियादी ढाँचा बनाने और पर्याप्त स्टाफ सदस्य सुनिश्चित करने का संकल्प लिया।

उन्होंने कहा, “हम अस्पताल प्रबंधन और उसके कर्मचारियों को पूरी तरह से बदल देंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि वहाँ काम करने वाले सभी लोगों को पशु-संवेदनशीलता प्रशिक्षण प्रदान किया जाए। हम अपनी आंतरिक नीतियों और प्रोत्साहन तंत्र की भी समीक्षा करेंगे। समय आ गया है कि इस संस्था को फिर से खड़ा किया जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि ऐसी घटना दोबारा कभी न हो।”

पीपुल फॉर एनिमल (PFA) की कार्यकर्ता कावेरी चौधरी ने सोमवार (5 जुलाई, 2021) को एक ट्वीट में कुत्ते के साथ दो पैरा पशु चिकित्सकों की बेरहमी का विचलित करने वाला वीडियो शेयर किया था। उन्होंने ट्वीट में कहा था, “बेचारे बीमार कुत्ते को फर्श पर पटका गया, मुँह पर मारा गया और स्टाफ हँस रहा था। संजय गाँधी पशु अस्पताल में इस बर्बरता के बारे में आज मुझे एक अज्ञात रिपोर्टर से कई भयावह वीडियो मिले। इसे देख कर मेरी आत्मा विचलित हो उठी।”

सूचना देने वाली लड़की उसी पशु आश्रय में काम करती थी। उसने आरोपित की पहचान पैरा पशु चिकित्सक सत्यम और प्रदीप के रूप में की। युवती ने दोनों पर महिला कुत्ते के साथ दुष्कर्म करने का प्रयास करने का आरोप लगाया। जानवर का पेट फूला हुआ और योनि से भारी रक्तस्राव पाया गया। दुर्भाग्य से, कुत्ते ने चोटों के कारण दम तोड़ दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘5 अगस्त की तारीख बहुत विशेष’: PM मोदी ने हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन और 370 हटाने का किया जिक्र

हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन, आर्टिकल 370 हटाने का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने 5 अगस्त को बेहद खास बताया है।

आर्टिकल 370 के खात्मे का भारत स्वप्न, जिसे मोदी सरकार ने पूरा किया: जानिए इससे कितना बदला जम्मू-कश्मीर और लद्दाख

आर्टिकल 370 हटाने के मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले से न केवल जम्मू-कश्मीर में जमीन पर बड़े बदलाव आए हैं, बल्कि दशकों से उपेक्षित लद्दाख ने भी विकास के नए रास्ते देखे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,121FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe