Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाज5 दिन बाद मिली 16 साल की हिंदू लड़की की लाश, असम में गिरफ्तार...

5 दिन बाद मिली 16 साल की हिंदू लड़की की लाश, असम में गिरफ्तार सरफराज हुसैन के फाँसी की माँग: हत्या के साथ लव जिहाद और रेप का भी आरोप

16 वर्षीया हिन्दू लड़की 5 मार्च से लापता थी। 9 मार्च को उसकी लाश मिली। पीड़िता के परिजनों ने सरफराज नाम के युवक पर अपनी बेटी को प्यार के जाल में फँसाने और बाद में रेप कर के हत्या कर देने का आरोप लगाया।

असम के बोंगाइगाँव में शुक्रवार (8 मार्च 2024) को 16 वर्षीया एक नाबालिग लड़की का संदिग्ध परिस्थितियों में शव मिला है। रेल बाजार के पास मिले इस शव की पहचान एक हिन्दू लड़की के तौर पर हुई, जो अपने घर से 5 मार्च 2024 से लापता चल रही थी। मृतका के परिजन इसे लव जिहाद बताते हुए सरफराज नाम के युवक पर हत्या का आरोप लगा रहे हैं। घटना के विरोध में स्थानीय निवासियों ने सड़क और रेलवे ट्रैक पर उतर कर प्रदर्शन किया है। हालात को काबू रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस ने केस दर्ज कर के सरफराज हुसैन को गिरफ्तार कर लिया है। मामले की जाँच की जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह घटना बोंगाईगांव के महाबीरस्तान क्षेत्र की है। यहाँ रहने वाली 16 वर्षीया एक हिन्दू लड़की 5 मार्च 2024 को बाथरूम जाने के लिए बता कर घर से निकली। बताया जा रहा है वह वापस लौट कर नहीं आई तो उसके परिजनों ने खोजबीन शुरू की। जब लड़की किसी भी जान-पहचान वाले के यहाँ नहीं मिली, तो थक-हार कर घर वालों ने 6 मार्च को पुलिस में पीड़िता की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। पुलिस ने केस दर्ज कर के लड़की की तलाश शुरू कर दी।

लगभग 3 दिनों की तलाश के बावजूद लड़की को खोजा नहीं जा सका। इस बीच शुक्रवार को पुलिस को बोंगाईगाँव रेल बाजार के पास एक लड़की के शव की सूचना मिली। पुलिस मौके पर पहुँची और रेल ट्रैक के किनारे पड़े शव को कब्ज़ा में लिया। लाश की पहचान करवाई गई तो वह 5 मार्च को महाबीरस्तान क्षेत्र से गायब हुई पीड़िता निकली। पीड़िता के परिजनों ने सरफराज नाम के युवक पर अपनी बेटी को प्यार के जाल में फँसाने और बाद में रेप कर के हत्या कर देने का आरोप लगाया।

पुलिस ने केस दर्ज कर के सरफराज को गिरफ्तार कर लिया। मौत के कारणों की पड़ताल के लिए मृतका का शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। इस बीच इस घटना की जानकारी मिलते ही बोंगाईगाँव के लोग भड़क उठे। उन्होंने सड़क और रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया। समझाने पहुँचे पुलिस बल से भी उनकी नोकझोंक हुई। स्थानीय निवासी सरफारज को फाँसी की सजा देने की माँग पर अड़े है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मृतका के लिए न्याय की माँग करते हुए कैंडल मार्च भी निकाला।

हालत तनावपूर्ण देखते हुए इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस ने लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। कुछ प्रदर्शनकारियों का कहना है कि इस घटना को अंजाम देने में सरफराज अकेले नहीं था बल्कि उसके साथ उसकी पूरी गैंग थी। स्थानीय थाना प्रभारी पर भी मामले में लापरवाही बरतने के आरोप लग रहे हैं। पुलिस इन सभी बिंदुओं पर जाँच पड़ताल कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -