Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजकैमूर गैंगरेप मामला: अरबाज पर कार्रवाई के बाद अन्य आरोपितों को पकड़ने की माँग,...

कैमूर गैंगरेप मामला: अरबाज पर कार्रवाई के बाद अन्य आरोपितों को पकड़ने की माँग, आगजनी, खूनी संघर्ष

"मुख्य आरोपित अरबाज उसका पहले से परिचित था। वह उसे उसकी कोचिंग आने-जाने के दौरान मिला था। इस बीच ही उसने उसे प्रेम जाल में फँसाया। फिर शादी का झाँसा देकर पिछले 5 महीने से उसका यौन शोषण करता रहा। पीड़िता को कलाम ने मोहनिया में मुंडेश्वरी गेट के पास बुलाया। वहाँ...."

बिहार के कैमूर में नाबालिग लड़की से गैंगरेप के बाद वीडियो वायरल मामले में चौथे दिन भी मोहनिया इलाके में लोगों का विरोध जारी है। गुरुवार (नवंबर 28, 2019) को शहर में तोड़फोड़, आगजनी, पथराव और फायरिंग हुई। जिसमें 3 लोगों के घायल होने की खबर अब तक सामने आई है। फिलहाल, घायलों को इलाज के लिए मोहनिया अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। लेकिन, फिर भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई। पुलिस एसपी लगातार इलाके में माइक से शांति बहाल करने की अपील कर रहे हैं। मगर स्थिति में खासा फर्क नहीं दिख रहा। प्रशासन ने वहाँ धारा 144 लागू कर दी है।

प्रभात खबर के अनुसार, कैमूर के मोहनिया थाना क्षेत्र में मुख्य आरोपित अरबाज पर कार्रवाई होने के बाद भी इलाके में मामला शांत नहीं हो रहा हैं। सोमवार से ही वहाँ पर ऐसा माहौल जारी है। जिसके कारण वहाँ तोड़फोड़, पथराव और आगजनी लगातार हो रही है।

ताजा जानकारी के मुताबिक गुरुवार को भारी उपद्रव होने के कारण पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की है और सभी उपद्रवियों को खदेड़कर मोर्चा संभाल लिया है। माहौल को नियंत्रित करने के लिए वज्र वाहन, अग्नि शामक वाहन और भारी मात्रा में पुलिस को भी तैनात कर दिया गया है। साथ ही भभुआ पथ को भी पुलिस ने पूरी तरह से बंद कर दिया है। इस उपद्रव में अब तक करीब आधा दर्जन दुकानें आग के हवाले की जाने की खबर हैं।

बता दें बीते रविवार को नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप और उसका वीडियो वायरल होने के बाद से ही कैमूर में ऐसी स्थिति बनी हुई। जानकारी के मुताबिक सोमवार को तो प्रदर्शनकारी आरोपितों का घर जलाना चाहते थे, लेकिन मौक़े पर पहुँची पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर कर दिया। सुरक्षा के लिहाज से राज्य सरकार ने कैमूर में इंटरनेट सेवाओं को भी बंद कर दिया गया था। इसके बाद 4 आरोपितों में से 2 के गिरफ्तार होने की खबर सामने आई थी, जबकि अन्य 2 के लिए एसटीएफ छापेमारी कर रही थी।

पूरा मामला

पीड़िता के अनुसार, मुख्य आरोपित अरबाज उसका पहले से परिचित था। वह उसे उसकी कोचिंग आने-जाने के दौरान मिला था। इस बीच ही उसने उसे प्रेम जाल में फँसाया। फिर शादी का झाँसा देकर पिछले 5 महीने से वह उसका यौन शोषण करता रहा। मंगलवार (नवंबर 19) को पीड़िता को कलाम ने मोहनिया में मुंडेश्वरी गेट के पास बुलाया। वहाँ अरबाज और उसके साथी पहले ही गाड़ी लेकर मौजूद थे। लड़की के आते ही उसे गाड़ी में खींच लिया गया। जब लड़की ने चिल्ला कर विरोध किया तो उसके मुँह पर पट्टी बाँध दी गई और हत्या कर फेंकने की धमकी देकर रतवार नदी के पास ले गए। जहाँ चारों ने मिलकर उसके साथ पहले बलात्कार किया और फिर उसका वीडियो वायरल कर दिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

पापुआ न्यू गिनी में चली गई 2000 लोगों की जान, भारत ने भेजी करोड़ों की राहत (पानी, भोजन, दवा सब कुछ) सामग्री

प्राकृतिक आपदा के कारण संसाधनों की कमी से जूझ रहे पापुआ न्यू गिनी के एंगा प्रांत को भारत ने बुनियादी जरूरतों के सामान भेजे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -