Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजजन्माष्टमी में डीजे पर बवाल: घर में घुस कर युवक की हत्या, गर्भवती पत्नी...

जन्माष्टमी में डीजे पर बवाल: घर में घुस कर युवक की हत्या, गर्भवती पत्नी की हालत नाजुक

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक छह नामजद सहित 18 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। नामजदों में से तीन मुस्लिम हैं। पुलिस ने एहतियातन इलाके में धारा 144 लगा दी है।

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में जनमाष्टमी के मौके पर डीजे बजाने को लेकर एक युवक की घर में घुसकर हत्या कर दी गई। हमले में युवक के पिता, भाई, बहन और पत्नी भी गंभीर रूप से ज़ख़्मी हो गए। गर्भवती पत्नी की हालत नाजुक बताई जा रही है।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक छह नामजद सहित 18 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। नामजदों में से तीन मुस्लिम हैं। पुलिस ने एहतियातन इलाके में धारा 144 लगा दी है। आरोपितों की तलाश की जा रही है। देवरिया के जिलाधिकारी अमित किशोर ने बताया कि 15 सितंबर तक धारा 144 लागू रहेगी।

घटना देवरिया ज़िले के बरहज नगर की है। शनिवार (24 अगस्त) की देर रात कुछ लोगों ने घर में घुस कर लाठी-डंडों से पीट-पीट कर 28 वर्षीय सुमित जायसवाल की हत्या कर दी। घटना के बाद से स्थानीय लोगों में काफ़ी गुस्सा है।

दैनिक जागरण के देवरिया संस्करण में छपी ख़बर

विरोध प्रकट करने के लिए लोगों ने दुकानें बंद रखीं। भारी तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस फ़ोर्स की तैनाती कर दी गई है। घटना की सूचना मिलते ही ज़िलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक घटना-स्थल पर पहुँचे। इसके अलावा, गोरखपुर के कमिश्‍नर व आइजी भी घटना-स्‍थल का मुआयना करने पहुँचे।

बताया जाता है कि बरहज के पटेल नगर वॉर्ड में जन्माष्टमी का डोल रखा हुआ था। मोहल्ले के ही रहने वाले मुन्नूलाल ने डीजे बंद करने को कहा। इसको लेकर कहा सुनी हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुँच कर मामला शांत कराया।

इसके बाद रात को करीब 12:30 बजे एक दर्जन से ज्यादा युवक मुन्नूलाल के घर पहुँचे। उनके बेटे सुमित ने जैसे ही दरवाजा खोला युवकों ने हमला बोल दिया। बचाव में आए मुन्नूलाल और उनके छोटे बेटे सचिन को भी युवकों ने पीटा और फरार हो गए। गम्भीर रूप से घायल सुनील ने अस्पताल लाते वक़्त रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

पुलिस अधीक्षक श्रीपति मिश्र ने बताया कि यह सांप्रदायिक घटना नहीं है। हमलावरों में से तीन की गिरफ़्तारी हो चुकी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe