Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाज'जेल में मुस्लिम महिलाओं ने मारे ताने, हिन्दू से शादी करने पर किया परेशान':...

‘जेल में मुस्लिम महिलाओं ने मारे ताने, हिन्दू से शादी करने पर किया परेशान’: सीमा हैदर ने बताया – Pak में हिन्दू खुल कर नहीं मना सकते त्योहार, हिन्दू थे हमारे पूर्वज

सचिन के घर में काफी खुश दिख रहीं सीमा हैदर ने हमसे बातचीत में आगे बताया कि पाकिस्तान में भारत के खिलाफ तमाम कट्टरपंथी आए दिन नफरत का प्रचार करते हैं।

पाकिस्तान से भारत आईं सीमा हैदर फिलहाल भारत की मीडिया और सोशल मीडिया में सुर्खियाँ बनीं हुई हैं। ऑपइंडिया से हुई ख़ास बातचीत में उन्होंने ‘जय श्री राम का नारा’ लगाया था और उनके बेटे फरहान (अब राज) ने हनुमान चालीसा पढ़ी थी। जब हमने सीमा हैदर से आगे बातचीत की तो उन्होंने बताया कि पाकिस्तान में हिन्दू अपना त्योहार नहीं मना सकते। भारत के खिलाफ वहाँ कट्टरपंथियों द्वारा फैलाए जा रहे नफरत के माहौल का भी जिक्र सीमा हैदर ने किया।

साथ ही नोएडा की जेल में बंद मुस्लिम महिलाओं द्वारा खुद को हिन्दू से शादी पर ताना मारे जाने की भी जानकारी दी।

‘पाकिस्तान में हिन्दू नहीं मना सकते त्योहार’

सीमा हैदर ने ऑपइंडिया से बातचीत के दौरान यह दावा किया कि पाकिस्तान में हिन्दू खुल कर अपना त्योहार नहीं मना सकते। सीमा के मुताबिक, वहाँ हिन्दू समुदाय के लोग काफी डरे-सहमे रहते हैं। अपनी एक सहेली का जिक्र करते हुए सीमा ने बताया कि वो अपने घर में डर कर देवियों की मूर्तियाँ रखती है और उनकी बराबर पूजा-अर्चना किया करती है। सीमा ने कहा कि उनके घर वाले उनको हिन्दू त्योहारों और हिन्दू साथियों से दूर रहने की सलाह दिया करते थे।

हमें सीमा हैदर द्वारा यह भी बताया गया कि पाकिस्तान में हिन्दुओं को काफिर कहा जाता है।

‘कट्टरपंथी बोते हैं भारत के खिलाफ जहर’

सचिन के घर में काफी खुश दिख रहीं सीमा हैदर ने हमसे बातचीत में आगे बताया कि पाकिस्तान में भारत के खिलाफ तमाम कट्टरपंथी आए दिन नफरत का प्रचार करते हैं। उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान में मौलाना और मौलवी लोगों को बताते हैं कि भारत में मुस्लिमों पर बुरी तरह से जुल्म हो रहा है। हालाँकि, सीमा का कहना था कि उन्होंने भारत में आ कर जो कुछ भी देखा वो सब पाकिस्तान में सुनी बातों के एकदम उलट है। सीमा ने भारत में मुस्लिमों को सुरक्षित और खुश बताया।

गुलाम नबी आज़ाद की बातों से सहमत सीमा हैदर

मुस्लिमों के पूर्वज हिन्दू होने की बात को सीमा हैदर ने सही बताया। जब हमने उन्हें गुलाम नबी आज़ाद के बयान के बारे में बताया तो सीमा ने सहमति जताते हुए कहा, “ये बात सही है कि हमारे पूर्वज हिन्दू ही हैं।” हालाँकि, जब हमने सीमा से पूछा कि जो बात कश्मीर में गुलाम नबी आज़ाद कह रहे क्या वो पाकिस्तान वाले मानते हैं तो उन्होंने बताया कि पाकिस्तान में सिर्फ और सिर्फ हिन्दुओं के खिलाफ नफरत सिखाई जाती है। उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान में हिन्दुओं को मुस्लिमों का पूर्वज कहने की बात कोई सोच भी नहीं सकता।

‘जेल में मुस्लिम महिलाओं का ताना’

हमसे बातचीत के दौरान सीमा हैदर ने अपने उन दिनों को याद किया जब UP पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद उनको जेल भेजा था। सीमा ने बताया कि नोएडा की जेल में उन्हें पहले से बंद कुछ मुस्लिम महिलाएँ मिली थीं। वो औरतें सीमा को एक हिन्दू से शादी करने पर ताना मार रहीं थीं। सीमा ने बताया कि उनको जेल में उन मुस्लिम औरतों की वजह से काफी परेशानी उठानी पड़ी।

पुलिस का व्यवहार भाईयों जैसा

सीमा हैदर ने उत्तर प्रदेश पुलिस और ATS शाखा के अधिकारियों के व्यवहार की तारीफ की। उन्होंने पूछताछ में अपने साथ किसी भी प्रकार की बदतमीजी या मारपीट न होने की जानकारी दी। ATS वालों का बर्ताव सीमा ने अपने भाइयों जैसा बताया।

सीमा हैदर के साथ सेल्फी लेती पड़ोसनें

फ़िलहाल सीमा हैदर सचिन के साथ काफी खुश हैं। वो अब पाकिस्तान वापस जाने के बारे में सोचना भी नहीं चाहती हैं। परिवार का गुजारा चलाने के लिए सचिन फ़िलहाल नौकरी की तलाश में हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -