Wednesday, June 23, 2021
Home देश-समाज शाहीन बाग में खाली पड़ी कुर्सी-टेबल, घंटाघर में दिख रहे सिर्फ दुप्पटे-बैनर, मुंबई में...

शाहीन बाग में खाली पड़ी कुर्सी-टेबल, घंटाघर में दिख रहे सिर्फ दुप्पटे-बैनर, मुंबई में धरना ही कर दिया खत्म!

शाहीन बाग में कुर्सी, टेबल और मेजें अपनी-अपनी जगह पर हैं, लेकिन उन पर बैठने वाला कोई नहीं। लखनऊ के घंटाघर वाला धरना-प्रदर्शन भी अचानक से स्थगित। मुंबई के मोरलैंड रोड पर जारी धरने को खत्म करने का निर्णय लिया गया।

देश में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए कई राज्यों में एवं जिलों में लॉकडाउन की स्थिति आ गई है। दिल्ली में भी 31 मार्च तक लॉकडाउन है। यूपी के भी कई जिलों में इसकी घोषणा हो गई है। महाराष्ट्र में तो संक्रमण के सबसे अधिक मामले होने के कारण प्रशासन सकते में है। पूरे देश की बात करें तो दिल्ली मुंबई समेत 16 राज्यों के 331 शहरों में लॉकडाउन है और 60 करोड़ से ज्यादा आबादी घरों में है। अब इस स्थिति का असर महीनों से चल रहे नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ़ प्रदर्शन पर भी दिखने लगा है।

शाहीन बाग की बात करें तो एक समय में सैकड़ों प्रदर्शनकारियों से घिरे रहने वाली ये जगह सोमवार की सुबह बिलकुल खाली दिखी। केवल 2-3 लोग ही वहाँ पर बैठे नजर आए, वह भी सोते हुए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रदर्शनस्थल पर कुर्सी, टेबल और मेजें अपनी-अपनी जगह पर हैं, लेकिन उन पर बैठने वाला वहाँ कोई नहीं है। मंच पर भी केवल महापुरुषों की तस्वीरें जस की तस है मगर उनका हवाला देकर सीएए के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने वाला कोई नहीं है।

इधर, लखनऊ के घंटाघर पर नागरिकता कानून के खिलाफ 17 जनवरी से चल रहा धरना प्रदर्शन भी अचानक स्थगित कर दिया गया है। महिलाओं की ओर से पुलिस कमिश्नर को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि कोरोना वायरस के चलते वह अपना प्रदर्शन खत्म कर रही हैं। उनका कहना है कि सरकार जब हालात के बेहतर हो जाने का ऐलान करेगी। उसके बाद वे दोबारा सीएए, एनआरसी के विरोध में घंटाघर पर प्रदर्शन करेंगी। हालाँकि बता दें कि यहाँ इन महिलाओं ने सांकेतिक तौर पर अपने दुप्पटे और बैनर को प्रदर्शनस्थल पर छोड़ा है और पुलिस कमिश्नर को कहा है कि वह उनकी इन चीजों को धरना स्थल से न हटाएँ।

इसके बाद मुंबई में भी सीएए, एनआरसी व एनपीआर के खिलाफ 50 दिनों से मुंबई के मोरलैंड रोड पर जारी धरने को कोरोना वायरस की वजह से खत्म करने का निर्णय लिया गया है। जोनल डीसीपी अभिनाश कुमार के मुताबिक, महिला प्रदर्शनकारियों ने कोरोना वायरस के कारण धरने को खत्म करने का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव के मद्देनजर इन प्रदर्शनों का खत्म होना बेहद आवश्यक माना जा रहा था। लेकिन बीते दिनों शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों की मनमानियों के कारण काफी दिक्कतें आ रही थीं। क्योंकि दो प्रदर्शनकारियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बावजूद इन लोगों ने कोई सबक नहीं लिया था और लगातार सरकार के आदेशों का उल्लंघन कर रहे थे। ऐसे में आज ये तीन प्रदेशों से आईं खबरें थोड़ी राहत देने वाली है।

बता दें कि शाहीन बाग के पास प्रदर्शनकारियों के दो गुटों में प्रदर्शन खत्म करने को लेकर शनिवार को आपसी मतभेद भी देखने को मिले थे। इस दौरान एक गुट धरना खत्म करने की अपील कर रहा था जबकि दूसरा धरना जारी रखने पर अड़ा हुआ था। जिसे देखते हुए सरिता विहार, जसोला और आसपास के रहने वाले लोगों ने कहा था कि शाहीन बाग में चल रहा प्रदर्शन अब सरकार नहीं बल्कि मानवता के खिलाफ हो गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘देश रिकॉर्ड बनाता है तो भारतीयों पर हमला कॉन्ग्रेसी संस्कृति’: वैक्सीन पर खुद घिरी कॉन्ग्रेस, बीजेपी ने दिया मुँहतोड़ जवाब

जेपी नड्डा ने लिखा कि 21 जून को रिकॉर्ड 88 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण करने के बाद, भारत ने मंगलवार और बुधवार को भी 50 लाख टीकाकरण के मार्क को पार किया है, जो कॉन्ग्रेस पार्टी को नापसंद है।

गहलोत पर फिर संकट: सचिन पायलट शांत हुए तो निर्दलीय, BSP से आए 19 MLA बागी, माँग रहे सरकार बचाने का इनाम

निर्दलीय विधायकों में से एक रामकेश मीणा ने सचिन पायलट गुट पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा के कहने पर पायलट की बगावत की योजना तैयार हुई थी।

‘हरा$ज*, हरा%$, चू$%’: ‘कुत्ते’ के प्रेम में मेनका गाँधी ने पशु चिकित्सक को दी गालियाँ, ऑडियो वायरल

गाँधी ने कहा, “तुम्हारा बाप क्या करता है? कोई माली है चौकीदार है क्या हैं?” डॉक्टर बताते भी हैं कि उनके पिता एक टीचर हैं। इस पर वो पूछती हैं कि तुम इस धंधे में क्यों आए पैसे कमाने के लिए।

राजा-रानी की शादी हुई, दहेज में दे दिया बॉम्बे: मात्र 10 पाउंड प्रति वर्ष था किराया, पुर्तगाल-इंग्लैंड ने कुछ यूँ किया था खेल

ये वो समय था जब इंग्लैंड में सिविल वॉर चल रहा था। पुर्तगाल को स्पेन ने अपने अधीन किया हुआ था। भारत की गद्दी पर औरंगज़ेब को बैठे 5 साल भी नहीं हुए थे। इधर बॉम्बे का भाग्य लिखा जा रहा था।

कॉन्ग्रेस के इस मर्ज की दवा नहीं: ‘श्वेत पत्र’ में तलाश रही ऑक्सीजन, टूलकिट वाली वैक्सीन से खोज रही उपचार

कॉन्ग्रेस और उसके इकोसिस्टम को स्वीकार लेना चाहिए कि प्रोपेगेंडा और टूलकिट से उसकी सेहत दुरुस्त नहीं हो सकती।

मुंबई के 26/11 से जुड़े हैं पेरिस हमले के तार: जर्मन डॉक्यूमेंट्री ने खोले PAK खुफिया एजेंसी ISI के कई राज

डॉक्यूमेंट्री का शीर्षक- 'द बिजनेस विद टेरर' है। इसमें बताया गया है कि आखिर यूरोप में हुए आतंकी हमलों में फाइनेंसिंग, प्लॉनिंग और कमीशनिंग कहाँ से हुई।

प्रचलित ख़बरें

TMC के गुंडों ने किया गैंगरेप, कहा- तेरी काली माँ न*गी है, तुझे भी न*गा करेंगे, चाकू से स्तन पर हमला: पीड़ित महिलाओं की...

"उस्मान ने मेरा रेप किया। मैं उससे दया की भीख माँगती रही कि मैं तुम्हारी माँ जैसी हूँ मेरे साथ ऐसा मत करो, लेकिन मेरी चीख-पुकार उसके बहरे कानों तक नहीं पहुँची। वह मेरा बलात्कार करता रहा। उस दिन एक मुस्लिम गुंडे ने एक हिंदू महिला का सम्मान लूट लिया।"

‘एक दिन में मात्र 86 लाख लोगों को वैक्सीन, बेहद खराब!’: रवीश कुमार के लिए पानी पर चलने वाले कुत्ते की कहानी

'पोलियो रविवार' के दिन मोदी सरकार ने 9.1 करोड़ बच्चों को वैक्सीन लगाई। रवीश 2012 के रिकॉर्ड की बात कर रहे। 1950 में पहला पोलियो वैक्सीन आया, 62 साल बाद बने रिकॉर्ड की तुलना 6 महीने बाद बने रिकॉर्ड से?

टीनएज में सेक्स, पोर्न, शराब, वन नाइट स्टैंड, प्रेग्नेंसी… अनुराग कश्यप ने बेटी को कहा- जैसी तुम्हारी मर्जी

ब्वॉयफ्रेंड के साथ सोने के सवाल पर अनुराग ने कहा, "यह तुम्हारा अपना डिसीजन है कि तुम किसके साथ रहती हो। मैं केवल इतना चाहता हूँ कि तुम सेफ रहो।"

‘नंदलाला की #$ गई क्या’- रैपर MC कोड के बाद अब मफ़ाद ने हिन्दुओं की आस्था को पहुँचाई चोट, भगवान कृष्ण को दी गालियाँ

रैपर ने अगली पंक्ति में धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने के लिए बेहद आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया जैसे, "मर गया तेरा नंदलाल नटखट, अब गोपियाँ भागेंगी छोड़के पनघट।"

शादीशुदा इमरान अंसारी ने जैन लड़की का किया अपहरण, कई बार रेप: अजमेर दरगाह ले जा कर पहनाई ताबीज, पुलिस ने दबोचा

इमरान अंसारी ने इस दौरान पीड़िता को बार-बार अपने साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए मजबूर किया। उसने पीड़िता को एक ताबीज़ पहनने के लिए दिया।

‘तुम्हारे शरीर के छेद में कैसे प्लग लगाना है, मुझे पता है’: पूर्व महिला प्रोफेसर का यौन शोषण, OpIndia की खबर पर एक्शन में...

कॉलेज के सेक्रेटरी अल्बर्ट विलियम्स ने उन पर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया। जोसेफिन के खिलाफ 60 आरोप लगा कर इसकी प्रति कॉलेज में बँटवाई गई। एंटोनी राजराजन के खिलाफ कार्रवाई की बजाए उन्हें बचाने में लगा रहा कॉलेज प्रबंधन।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
105,633FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe