Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजसूरजकुंड के जंगलों में सूटकेस में मिला बिना सिर का धड़, श्रद्धा के अंग...

सूरजकुंड के जंगलों में सूटकेस में मिला बिना सिर का धड़, श्रद्धा के अंग होने की आशंका: होगी DNA जाँच, आफताब के फ्लैट से बाल और 5 धारदार बड़े चाकू बरामद

इधर गुरुवार (24 नवंबर 2022) को आफताब का लगभग 8 घंटे तक पॉलीग्राफ टेस्ट हुआ। इस दौरान उससे श्रद्धा के साथ उसके रिलेशनशिप, कैसे हत्या की, शव के टुकड़े को कहाँ-कहाँ फेंका, उसके बचपन आदि के बारे में 50 सवाल किए गए। इस दौरान पुलिस ने उससे हिंदी में सवाल किए, लेकिन उसने सबका अंग्रेजी में जवाब दिया।

श्रद्धा वालकर हत्या (Shraddha Walkar Murder) का आरोपित आफताब अमीन पूनावाला (Aftab Amin Poonawala) के खिलाफ सबूत इकट्ठा करने के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) जोर-शोर से लगी है। दिल्ली पुलिस महरौली से लेकर हरियाणा और हिमाचल प्रदेश तक के जंगलों एवं तालाबों की खाक छान रही है। इसी बीच हरियाणा में कुछ मानव अवशेष मिले हैं।

हरियाणा के सूरजकुंड के जंगलों में फरीदाबाद पुलिस को एक सूटकेस में बंद मानव शरीर के कुछ अंग मिले हैं। इस शव के ऊपरी हिस्से गायब हैं। पुलिस का कहना है कि शव को देखकर ऐसा लगता है कि इसकी हत्या कहीं और की गई है और इसे लाकर यहाँ फेंक दिया गया है, ताकि शव की शिनाख्त ना हो सके।

शव को प्लास्टिक की थैली और बोरी में लपेटा गया था और उसे सूटकेस में डाल दिया गया था। सूटकेस के पास के कुछ कपड़े और एक बेल्ट भी बरामद किया गया है। इलाके को सील करके घेराबंदी कर दी गई है। वहीं, फरीदाबाद पुलिस ने श्रद्धा वालकर की हत्या की जाँच कर रही दिल्ली पुलिस से कहा कि DNA सैंपल की जरूरत हो तो वह नमूने को सुरक्षित रखेगी।

फरीदाबाद पुलिस के PRO सूबे सिंह ने कहा, “फरीदाबाद के सूरजकुंड के एक वन क्षेत्र में एक सूटकेस में शव मिला है। शव के ऊपर का हिस्सा गायब है। प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि किसी व्यक्ति की हत्या कहीं और की गई है और शव का एक हिस्सा यहां फेंका गया है ताकि उसकी शिनाख्त न हो पाए।”

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, शरीर के जो हिस्से मिले हैं, उनमें धड़ भी है। यह धड़ महीनों पुराना है। शव को देखकर यह नहीं कहा जा सकता है कि यह पुरुष का है या महिला का। इसका पता लगाने के लिए पुलिस ने इन हिस्सों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। इसके साथ ही DNA सैंपल के लिए नमूने को सुरक्षित रखकर दिल्ली पुलिस को सूचित कर दिया है। 

पुलिस को शक है कि यह शव के ये टुकड़े मुंबई की रहने वाली आरोपित आफताब की लिव-इन पार्टनर 27 साल की श्रद्धा वालकर के शरीर के हिस्से हो सकते हैं। आफताब श्रद्धा को लेकर मुंबई से दिल्ली आ गया था और महरौली में रह रहा था, लेकिन वह नौकरी करने गुरुग्राम जाता था। महरौली में फ्लैट किराए पर लेने से पहले उसने इलाके की रेकी भी की थी।

दिल्ली पुलिस की पूछताछ में आरोपित आफताब ने बताया था कि उसने शव के 35 टुकड़े करके अलग-अलग स्थानों पर फेंक दिया था। उसने महरौली के जंगलों का नाम बताया था। हालाँकि, वहाँ से पुलिस वहाँ से कुछ मानव शरीर की हड्‍डियाँ बरामद की हैं। श्रद्धा के शरीर के प्रमुख हिस्से और सिर अभी तक नहीं मिला है।

वहीं, दिल्ली पुलिस ने आफताब के फ्लैट से 5-6 इंच लंबे पाँच चाकू और श्रद्धा के सिर के बाल बरामद किए हैं। ये रसोई में इस्तेमाल होने वाले चाकू से अलग हैं और बेहद धारदार हैं। पुलिस का मानना है कि इनका इस्तेमाल आरोपित आफताब ने श्रद्धा वालकर की हत्या के बाद उसके शरीर को काटने के लिए किया था। इन हथियारों को फोरेंसिक जाँच के लिए भेज दिया गया है।

आफताब ने पुलिस को बताया था कि उसने श्रद्धा के शरीर को काटने के लिए कई हथियारों का इस्तेमाल किया था। पुलिस का कहना है कि वह अन्य दूसरे बड़े हथियार की तलाश कर रही है। हालाँकि, इसमें पुलिस को अभी तक सफलता नहीं मिली है। वहीं, आफताब के फ्लैट से बरामद चाकू की फोरेंसिक जाँच के बाद ही पता चला पाएगा कि इन हथियारों का इस्तेमाल शरीर को काटने के लिए हुआ था या नहीं।

पूछताछ आरोपित आफताब दिल्ली पुलिस को इसकी सही जानकारी भी नहीं दे रहा है। वह पुलिस को भरमाने की भरपूर कोशिश कर रहा है। दूसरी तरफ पुलिस महरौली के तालाब और जंगलों से लेकर और हरियाणा के जंगलों में श्रद्धा के सिर को खोज रही है।

इधर गुरुवार (24 नवंबर 2022) को आफताब का लगभग 8 घंटे तक पॉलीग्राफ टेस्ट हुआ। इस दौरान उससे श्रद्धा के साथ उसके रिलेशनशिप, कैसे हत्या की, शव के टुकड़े को कहाँ-कहाँ फेंका, उसके बचपन आदि के बारे में 50 सवाल किए गए। इस दौरान पुलिस ने उससे हिंदी में सवाल किए, लेकिन उसने सबका अंग्रेजी जवाब में दिया।

मंगलवार (22 नवंबर 2022) को आरोपित आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट का पहला सेशन हुआ था। इसे लाई डिटेक्टर टेस्ट भी कहा जाता है। वहीं, उसका नार्को एनालिसिस टेस्ट अगले सप्ताह सोमवार या मंगलवार (28-29 नवंबर 2022) को किया जा सकता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -