Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजदारू पी पीकर हमारे घरों में झाँकते हैं, फब्तियॉं कसते हैंः बुजुर्ग महिला ने...

दारू पी पीकर हमारे घरों में झाँकते हैं, फब्तियॉं कसते हैंः बुजुर्ग महिला ने कैमरे पर खोल दी ‘किसान’ प्रदर्शनकारियों की पोल

पुलिस ने बीच-बचाव की कोशिश की, लेकिन स्थिति बिगड़ते देख लाठीचार्ज करना पड़ा और आँसू गैस के गोले छोड़ने पड़े।

टिकरी-सिंघु बॉर्डर (Singhu border) पर किसान प्रदर्शनकारियों और स्थानीय लोगों के बीच हालात बिगड़ते जा रहे हैं। दरअसल, महीनों से सड़क जाम कर बैठे प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ अब स्थानीय महिला और बुजुर्गों ने भी मोर्चा खोल दिया है।

टिकरी बॉर्डर (Tikri border) की बुजुर्ग महिलाओं ने समाचार चैनल रिपब्लिक भारत से बात करते हुए कहा कि ये प्रदर्शनकारी दारू पीकर हमारे घरों में झाँकते हैं और फब्तियाँ कसते हैं। वहीं, प्रदर्शनकारियों के विरोध में उतरे लोगों का कहना है कि लाला किले पर जो तिरंगे का अपमान किया गया, उससे अब बात बहुत बढ़ चुकी है और वो चुप नहीं बैठेंगे।

सिंघु बॉर्डर (Singhu border) पर हालत पर काबू पाने के लिए पुलिस अब आँसू गैस का इस्तेमाल कर रही है और लाठीचार्ज कर रही है। प्रदर्शनकारियों ने स्थानीय लोगों पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए, जिसके जवाब में स्थानीय लोग भी पत्थर फेंक रहे हैं।

इसी बीच प्रदर्शनकारी किसानों ने एक एसएचओ पर तलवार से हमला कर दिया, जिसमें वो घायेल हो गए। तलवार से हमला करने वाले इस शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

किसान प्रदर्शनकारी लगातार लोगों और पुलिस बल पर पत्थरबाजी कर रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि पहले किसानों ने पत्थरबाजी शुरू की और अब हालात और बिगड़ सकते हैं। हालात इतने तनावपूर्ण हैं कि स्थानीय लोगों और प्रदर्शनकारी किसानों में संघर्ष हो रहा है। और अब पुलिस को स्थिति पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ रहा है।

शुक्रवार (जनवरी 29, 2021) दोपहर करीब 1 बजे नरेला की तरफ से आए लोग धरनास्थल पर पहुँचे और नारेबाजी करते हुए किसानों से बॉर्डर खाली करने की माँग करने लगे। इनका कहना था कि किसान आंदोलन के चलते लोगों के कारोबार ठप हो रहे हैं। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

राजस्थान में उत्तराखंड के नितिन पंत का बंदूक के दम पर धर्मांतरण, बना दिया अली हसन: विरोध करने पर देते थे करंट, मदरसे में...

उत्तराखंड के रहने वाले नितिन पंत का राजस्थान में धर्मांतरण करा कर उसे 'अली हसन' बना दिया गया था। इसके लिए लालच और धमकी का सहारा लिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,634FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe