Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाजमहिलाओं के साथ हमास आतंकियों की हैवानियत देख मुस्कान सिद्दीकी ने छोड़ा इस्लाम, की...

महिलाओं के साथ हमास आतंकियों की हैवानियत देख मुस्कान सिद्दीकी ने छोड़ा इस्लाम, की घर-वापसी: हिन्दू लड़के से शादी कर बनीं ‘मुस्कान मौर्या’

मुस्कान ने कहा है कि हमास आतंकियों द्वारा गाजा पट्टी में इजरायली महिलाओं के साथ जो हैवानियत की गई, उससे त्रस्त होकर उन्होंने हिन्दू धर्म में घर-वापसी का निर्णय लिया।

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में मुस्कान सिद्दीकी नामक महिला ने न सिर्फ हिन्दू धर्म में घर-वापसी की, बल्कि हिन्दू लड़के से शादी भी रचाई। मुस्कान सिद्दीकी इसके साथ ही अब ‘मुस्कान मौर्या’ बन गई हैं। उन्होंने बताया है कि हमास आतंकियों द्वारा इजरायल की महिलाओं के साथ की गई क्रूरता को देखने के बाद उन्होंने घर-वापसी करने का निर्णय लिया है। उन्होंने शिशुपाल मौर्या के साथ शादी रचाई। ‘राष्ट्रीय हिन्दू शेर सेना’ के अध्यक्ष विकास हिन्दू ने इस विवाह की प्रक्रिया को अपनी निगरानी में संपन्न कराया।

23 वर्षीय मुस्कान सिद्दीकी के अब्बा का नाम इल्फात है। वो शाहजहाँपुर स्थित कटरा की रहने वाली हैं। वहीं शिशुपाल मौर्या के पिता का नाम विष्णुदयाल है और उनका परिवार सीतापुर के महोली थाना क्षेत्र अंतर्गत महोली चढ़िया गाँव में रहता है। उत्तराखंड के हरिद्वार में एक फैक्ट्री में काम करने के दौरान दोनों एक-दूसरे के करीब आए थे। लड़की ने एफिडेविट दायर कर स्वतः शादी की बात कही है और कहा है कि उसे किसी ने भी बहलाया-फुसलाया नहीं है।

मुस्कान ने कहा है कि हमास आतंकियों द्वारा गाजा पट्टी में इजरायली महिलाओं के साथ जो हैवानियत की गई, उससे त्रस्त होकर उन्होंने हिन्दू धर्म में घर-वापसी का निर्णय लिया। शुक्रवार (10 नवंबर, 2023) को दोनों ने वैवाहिक अनुबंध पर हस्ताक्षर किया। मुस्कान ने शिशुपाल को अपना पति स्वीकार करते हुए शेष जीवन उसके साथ रहने का संकल्प लिया। साथ ही शिशुपाल ने उसके भरण-पोषण का संकल्प लिया। दोनों ने कहा कि उनके बच्चे शिशुपाल की संपत्ति के अधिकारी बनेंगे।

मुस्कान सिद्दीकी बनीं मुस्कान मौर्या

रामकोट थाना क्षेत्र स्थित काली मंदिर में इन दोनों के विवाह की प्रक्रिया आर्य समाज द्वारा संपन्न कराई गई। इसका एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें महिला कहती हुई दिख रही हैं कि हमास द्वारा इजरायली महिलाओं के साथ की गई क्रूरता के कारण वो हिन्दू बन रहीं। उन्होंने कहा कि इस्लाम मजहब में काफी अश्लीलता होती है, इसीलिए उन्होंने इसे छोड़ने का निर्णय लिया। ‘राष्ट्रीय हिन्दू शेर सेना’ अब तक ऐसी कई मुस्लिम लड़कियों की मदद कर चुका है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार में EOU ने राख से खोजे NEET के सवाल, परीक्षा से पहले ही मोबाइल पर आ गया था उत्तर: पटना के एक स्कूल...

पटना के रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र स्थित नंदलाल छपरा स्थित लर्न बॉयज हॉस्टल एन्ड प्ले स्कूल में आंशिक रूप से जले हुए कागज़ात भी मिले हैं।

14 साल की लड़की से 9 घुसपैठियों ने रेप किया, लेकिन सजा 20 साल की उस लड़की को मिली जिसने बलात्कारियों को ‘सुअर’ बताया:...

जर्मनी में 14 साल की लड़की का रेप करने वाले बलात्कारी सजा से बच गए जबकि उनकी आलोचना करने वाले एक लड़की को जेल भेज दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -