Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाज'सारी जगह मुस्लिम भाइयों की, खाली करो नहीं तो बम से उड़ा देंगे': राजस्थान...

‘सारी जगह मुस्लिम भाइयों की, खाली करो नहीं तो बम से उड़ा देंगे’: राजस्थान के एक और दर्जी को कन्हैया लाल जैसी धमकी

राजस्थान में टेलर सोहन लाल जाटव को भी जान से मारने की धमकी दी गई है। उन्हें प्राप्त पत्र में लिखा गया है कि उनकी दर्ज की दुकान अगर उन्होंने खाली नहीं करी तो उसे बम से उड़ा दिया जाएगा। ये पत्र पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के नाम से भेजा गया है।

राजस्थान में हुए कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद एक टेलर सोहन लाल जाटव को भी जान से मारने की धमकी दी गई है। उन्हें प्राप्त पत्र में कहा गया है कि उनकी दर्जी की दुकान को अगर उन्होंने खाली नहीं किया तो उन्हें बम से उड़ा दिया जाएगा। ये पत्र पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के नाम से भेजा गया है।

मामला अलवर स्थित सदर थाना क्षेत्र के चिकानी गाँव का है। पीड़ित ने इस संबंध में गुरुवार(7 दिसंबर 2023) को केस दर्ज कराया। शिकायत में उन्होंने कहा कि 13 नवंबर को उन्हें डाक से एक पत्र मिला था जिसमें उन्हें दुकान खाली करने को कहा गया।

सोहन लाल जाटव ने इस संबंध में बताया कि उन्होंने दुकान की जमीन 1971 में खरीदी थी। तब से उनका किसी से कोई विवाद नहीं हुआ। बहुत पहले रती मोहम्मद नाम के शख्स से उनकी अनबन हुई थी लेकिन बाद में मामला सुलझ गया था और उसके बाद से उनका किसी से झगड़ा नहीं हुआ। लेकिन 25 दिन पहले फिर उन्हें एक पत्र मिला…

पत्र में लिखा था, “मेरी बात अच्छी तरह समझ, यह तेरी दुकान है। यह जगह मुसलमान की है, यह जो सरदार की दुकान है और रोहतास कुमार की दुकान है, सरपंच और आस मोहम्मद के लोगों ने बताया है कि यह सारी जगह मुस्लिम भाइयों की है और तुमने कब्जा किया हुआ है। मैं अभी शराफत से बोल रहा हूँ, अभी जगह की सही कीमत लो और खाली करो, मैं कौन हूँ…PFI… 31 दिसंबर तक का समय दे रहा हूँ, नहीं तो PFI को दुनिया जानती है, एक रात में बम से सब नष्ट कर दूँगा।”

सोहन लाल जाटव से जब पूछा गया कि उन्होंने इस पत्र को लेकर इतने समय बाद जानकारी क्यों दी तो इस पर वह बोले कि 25 दिन पहले यह पत्र डाक से मिला था। लेकिन विधानसभा चुनाव में माहौल नहीं बिगड़े, इसलिए वे चुप रहे। नतीजों के बाद 7 दिसंबर को अलवर सदर पुलिस थाने में पहुँचकर उन्होंने अपनी शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस थाना अधिकारी दिनेश मीणा ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जाँच शुरू कर दी गई है।

याद दिला दें साल 2022 में राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल नाम के दर्जी को इस्लामी कट्टरपंथियों ने दुकान में घुस मौत के घाट उतारा था। कन्हैयालाल की गलती बस इतनी थी कि उन्होंने नुपूर शर्मा को समर्थन दिया था। इसी के बाद उन्हें धमकी आई। कई दिन उन्होंने अपनी दुकान बंद भी रखी, जब उन्हें लगा जब सुलझ गया है तभी कट्टरपंथियों ने घटना को अंजाम दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार में EOU ने राख से खोजे NEET के सवाल, परीक्षा से पहले ही मोबाइल पर आ गया था उत्तर: पटना के एक स्कूल...

पटना के रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र स्थित नंदलाल छपरा स्थित लर्न बॉयज हॉस्टल एन्ड प्ले स्कूल में आंशिक रूप से जले हुए कागज़ात भी मिले हैं।

14 साल की लड़की से 9 घुसपैठियों ने रेप किया, लेकिन सजा 20 साल की उस लड़की को मिली जिसने बलात्कारियों को ‘सुअर’ बताया:...

जर्मनी में 14 साल की लड़की का रेप करने वाले बलात्कारी सजा से बच गए जबकि उनकी आलोचना करने वाले एक लड़की को जेल भेज दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -