Thursday, January 20, 2022
Homeराजनीतिसंगठन ने 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' कहने वाली एक्टिविस्ट पर रखा ₹10 लाख का इनाम, देशद्रोह...

संगठन ने ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ कहने वाली एक्टिविस्ट पर रखा ₹10 लाख का इनाम, देशद्रोह को बताया कैंसर

संजीव मराडी के पास खड़े दिखाई दे रहे व्यक्ति के गले में बीजेपी का पटका दिख रहा है लेकिन बल्लारी के बीजेपी जिला अध्यक्ष ने संजीव मराडी के बीजेपी कार्यकर्ता होने से इंकार किया है।

खुद को श्री राम सेना का लीडर बता रहे एक व्यक्ति ने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ कहने वाली अमूल्य नामक कथित एक्टिविस्ट पर 10 लाख रुपए का ईनाम देने की घोषणा की। शुक्रवार को आए बल्लारी के इस वीडियो में श्रीराम सेना का यह स्वयंभू नेता कहता है कि इस तरह की देश विरोधी हरकतें कैंसर की तरह बढ़ती जा रही हैं।

संजीव मराडी नामक इस व्यक्ति मीडिया के सामने राज्य सरकार से अमूल्य नामक इस “छात्र एक्टिविस्ट” को जमानत पर न छोड़ने की अपील करते हुए कहा कि इसे जमानत पर न छोड़ा जाए अन्यथा हम इसका एनकाउंटर करेंगे या जो भी ऐसा करेगा उसको 10 लाख रुपए ईनाम देंगे। हालाँकि, संजीव मराडी के पास खड़े दिखाई दे रहे व्यक्ति के गले में बीजेपी का पटका दिख रहा है लेकिन बल्लारी के बीजेपी जिला अध्यक्ष ने संजीव मराडी के बीजेपी कार्यकर्ता होने से इंकार किया है।

अमूल्य लियोना नामक इस छात्रा को ओवैसी की एक पब्लिक मीटिंग में पकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने के बाद देशद्रोह के केस में गिरफ्तार किया गया है।

इससे पहले श्रीराम सेना के ही एक सदस्य सिद्दालिंगा स्वामी ने हुबली में देशद्रोह के चार्ज के अंतर्गत गिरफ्तार किये गए तीन कश्मीरी स्टूडेंट्स की जीभ काट के लाने वालों के लिए 3 लाख रुपए के ईनाम की घोषणा की थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नसीरुद्दीन के भाई जमीर उद्दीन शाह ने की हिंदू-मुस्लिम के बीच शांति की वकालत, भड़के इस्लामी कट्टरपंथियों ने उन्हें ट्विटर पर घेरा

जमीर उद्दीन शाह वही व्यक्ति हैं जिन्होंने गोधरा दंगे पर गुजरात की तत्कालीन मोदी सरकार के खिलाफ झूठ फैलाया था।

‘उस समय माहौल बहुत खौफनाक था…’: वे घाव जो आज भी कैराना के हिंदुओं को देते हैं दर्द, जानिए कैसे योगी सरकार बनी सुरक्षा...

योगी सरकार की क्राइम को लेकर जीरो टॉलरेस की नीति ही वह सुरक्षा कवच है जो कैराना के हिंदुओं को भरोसा दिलाती है कि 2017 से पहले का वह दौर नहीं लौटेगा, जिसकी बात करते हुए वे आज भी सहम जाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,380FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe