Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजMP: अब खरगोन में पुलिस पर पथराव, इंदौर में स्वास्थ्यकर्मियों को बनाया था निशाना

MP: अब खरगोन में पुलिस पर पथराव, इंदौर में स्वास्थ्यकर्मियों को बनाया था निशाना

उपद्रव के बाद अतिरिक्त पुलिस बल बुला इलाके में सर्चिंग अभियान शुरू किया गया। ड्रोन कैमरे से इलाके की निगरानी की जा रही है। एसपी ने भी घटना की पुष्टि की है। साथ ही बताया है कि स्थिति अब नियंत्रण में है।

हाल ही में उपद्रवियों ने मध्य प्रदेश के इंदौर में डॉक्टरों पर पथराव कर उन्हें घायल कर दिया था। अब मध्य प्रदेश के खरगोन में पुलिस पर हमले की ख़बर आई है। इलाक़े में पुलिस लोगों को जागरूक करने में लगी हुई थी और उनसे अपील कर रही थी कि वे घरों में रहें। लॉकडाउन का पालन करने की सलाह दे रही पुलिस पर अचानक से हमला बोल दिया गया। इस हमले में पुलिसकर्मियों को चोटें आईं और नगर निरीक्षक कोतवाली का एक वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया। ये घटना खसखस वाड़ी क्षेत्र में हुई।

देश भर में पुलिसकर्मी और स्वास्थ्यकर्मी अपनी जान की बाजी लगा कर ड्यूटी कर रहे हैं लेकिन मुस्लिम बहुल इलाक़ों में उन पर हमले का सिलसिला थम नहीं रहा है। ये घटना शुक्रवार (अप्रैल 3, 2020) को हुई, जब पुलिस लोगों को समझाने के लिए सड़कों पर निकली हुई थी। इस दौरान जैसे ही पुलिस इलाक़े में पहुँची, लोगों ने विवाद किया और उपद्रव शुरू कर दिया। इसके बाद अतिरिक्त पुलिस बल बुला सर्चिंग अभियान शुरू किया गया। ड्रोन कैमरे से इलाके की निगरानी भी की जा रही है। एसपी ने भी घटना की पुष्टि की है। साथ ही बताया है कि स्थिति अब नियंत्रण में है।

ये घटना रात के साढ़े 9 बजे हुई। शाम 5 बजे भी पुलिस ने आकर लोगों को चेताया था और घर के अंदर रहने को कहा था। पुलिस अब पूरे शहर में घूम कर स्थिति को सामान्य करने में जुटी है। नगर निरीक्षक का कहना है कि उस इलाक़े के लोग बार-बार घर के बाहर निकल रहे थे, इसीलिए उन्हें पहले भी चेताया गया था। बता दें कि हाल ही में खरगोन में एक 62 वर्षीय बुजुर्ग की मौत के बाद कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट सामने आई थी। यह जिले में कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला था।

इससे पहले इंदौर में टाट पट्टी बाखल इलाक़े में डॉक्टरों पर पथराव किया गया था, जिसमें 2 डॉक्टर घायल हो गए थे। दरअसल, स्वास्थ्यकर्मियों की टीम वहाँ एक बुजुर्ग महिला के चेकअप के लिए गई थी, जिसमें डॉक्टर, नर्स और आशाकर्मी शामिल थीं। तभी वहाँ के लोगों ने लाठी-डंडे से हमला कर दिया। खदेड़ते हुए उनका काफ़ी दूर तक पीछा किया गया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निहंगों ने की दलित युवक की हत्या, शव और हाथ काट कर लटका दिए: ‘द टेलीग्राफ’ सहित कई अंग्रेजी अख़बारों के लिए ये ‘सामान्य...

उन्होंने (निहंगों ) दलित युवक की नृशंस हत्या करने के बाद दलित युवक के शव, कटे हुए दाहिने हाथ को किसानों के मंच से थोड़ी ही दूर लटका दिया गया।

मुस्लिम भीड़ ने पार्थ दास के शरीर से नोचे अंग, हिंदू परिवार में माँ-बेटी-भतीजी सब से रेप: नमाज के बाद बांग्लादेश में इस्लामी आतंक

इस्‍कॉन से जुड़े राधारमण दास ने ट्वीट कर बताया कि पार्थ को बुरी तरह से पीटा गया था कि जब उनका शव मिला तो शरीर के अंदर के हिस्से गायब थे। 

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe