Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाज...जब किया जा रहा था सुशांत सिंह राजपूत का अंतिम संस्कार, तभी सदमे में...

…जब किया जा रहा था सुशांत सिंह राजपूत का अंतिम संस्कार, तभी सदमे में उनकी भाभी छोड़ गईं यह संसार

सुधा देवी सुशांत सिंह राजपूत की चचेरी भाभी थीं। सुशांत के पैतृक गांव पूर्णिया के मलडीहा में रह रहीं सुधा देवी ने अपने देवर की मौत की ख़बर सुनने के साथ ही भोजन-पानी त्याग दिया था। जब मुंबई में उनका अंतिम संस्कार हो रहा था, तब इधर पूर्णिया में...

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद उनकी भाभी भी सदमे से चल बसीं। बताया जा रहा है कि उनकी भाभी सुशांत की मृत्यु को बर्दाश्त नहीं कर सकीं। वो पहले से ही बीमार चल रही थीं। सुधा देवी की मौत उस समय हुई, जब सुशांत का मुंबई में अंतिम संस्कार चल रहा था। बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत का संयुक्त परिवार है। उनके पिता और चचेरे भाई नीरज सिंह बबलू सारी प्रक्रिया पूरी करने मुंबई पहुँचे थे।

बता दें कि बबलू छातापुर से लगातार चौथी बार विधायक चुने गए हैं। सुधा देवी सुशांत सिंह राजपूत की चचेरी भाभी थीं। सुशांत सिंह राजपूत के पैतृक गांव पूर्णिया के मलडीहा में रह रहीं सुधा देवी ने अपने देवर की मौत की ख़बर सुनने के साथ ही भोजन-पानी त्याग दिया था। पूर्णिया में उनके गाँव और पटना के राजीव नगर से सुशांत की बचपन की यादें जुडी हुई हैं। दोनों ही क्षेत्रों के लोग उनकी मौत के बाद रोते दिखे।

सुशांत की भाभी अपने घर के बाहर जुटी लोगों की भीड़ देखते ही बार-बार बेहोश हो जा रही थीं। परिजनों ने उन्हें सांत्वना दी, जिसके बाद उन्हें डॉक्टरों से भी दिखाया गया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। वह बार-बार यही पूछ रही थीं कि सुशांत ठीक है या नहीं? फिर देर शाम उनकी भी मौत हो गई, जिससे परिजनों पर गम की दोहरी मार पड़ गई। उनका कुछ दिनों से इलाज भी चल रहा था।

खगड़िया स्थित सुशांत के ननिहाल में भी मातम का माहौल है। वो जब भी बिहार आते थे तो इलाक़े के लोगों से ज़रूर मिला करते थे। सुशांत सिंह राजपूत के पिता के बारे में कहा जा रहा है कि वो भी गहरे सदमे में हैं और किसी से भी बातचीत नहीं कर रहे हैं। मुंबई में बेटे की लाश देख कर उन्हें और गहरा धक्का लगा।

वहीं सुधा देवी के पति और सुशांत के चचेरे भाई अमरेंद्र सिंह का तो रो-रो कर बुरा हाल है। उन्होंने ‘दैनिक जागरण’ से बताया कि सोमवार (जून 15, 2020) की सुबह से उनकी पत्नी की तबियत ज्यादा खराब होने लगी थी। शाम 5 बजे के क़रीब उन्होंने अंतिम साँस ली। अमरेंद्र सिंह रोते हुए बार-बार यही कह रहे थे कि पहले भाई ने साथ छोड़ा, अब पत्नी भी चली गईं। अब वे किसके सहारे जिंदा रहेंगे।

हाल ही में 8 जून को सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व-मैनेजर दिशा सालियान ने आत्महत्या कर ली थी। उन्होंने मुंबई के मलाड स्थित इमारत में 14 मंजिल से कूद कर आत्महत्या की थी। सुशांत सिंह राजपूत के घर से हाइपरटेंशन और डिप्रेशन की दवाओं के पेपर मिले हैं। उनके मामा ने आरोप लगाया है कि ये आत्महत्या नहीं है क्योंकि सुशांत ऐसा कर ही नहीं सकते थे। वहीं मुंबई पुलिस अभिनेता के पिछले 6 माह से डिप्रेशन में होने की बातें कह रही है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘और गिरफ़्तारी की बात मत करो, वरना सरेंडर करने वाले साथियों को भी छुड़ा लेंगे’: निहंगों की पुलिस को धमकी, दलित लखबीर को बताया...

दलित लखबीर की हत्या पर निहंग बाबा राजा राम सिंह ने कहा कि हमारे साथियों को मजबूरन सज़ा देनी पड़ी, क्योंकि किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की।

CPI(M) सरकार ने महादेव मंदिर पर जमाया कब्ज़ा, ताला तोड़ घुसी पुलिस: केरल में हिन्दुओं का प्रदर्शन, कइयों ने की आत्मदाह की कोशिश

श्रद्धालुओं के भारी विरोध के बावजूद केरल की CPI(M) सरकार ने कन्नूर में स्थित मत्तनूर महादेव मंदिर का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,325FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe