छापे मारकर मुसलमानों की छवि धूमिल कर रही NIA: तौहीद जमात

श्री लंका में ईस्टर के मौके पर नेशनल तौहीद जमात के द्वारा किए गए भयंकर बम बिस्फोट के बाद तमिलनाडु जमात तौहीद का नाम काफी चर्चा में आ गया था। इस विस्फोट से उनका भी नाम जुड़ रहा था।

कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन तमिलनाडु तौहीद जमात (TNTJ) ने रविवार (जुलाई 21, 2019) को राष्ट्रीय आतंकवाद विरोधी एजेंसी पर मुसलमानों की छवि को धूमिल करने का आरोप लगाया। इस्लामिक संगठन ने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) आतंकवाद विरोधी अभियानों के नाम पर मुसलमानों के घरों में छापेमारी करके उनकी छवि को धूमिल कर रही है।

तौहीद जमात के तिरुचि इकाई के अध्यक्ष गुलाम दस्तगीर ने तिरुचि में आयोजित एक चिकित्सा शिविर के मौके पर मीडिया को संबोधित करते हुए ये बातें कही। उन्होंने कहा कि एनआईए ने अपनी छापेमारी के जरिए मुस्लिम समुदाय के खिलाफ कार्रवाई की है। वहीं, वहादत-ए-इस्लामी के सदस्य एस अब्दुल्ला का कहना है कि आतंक विरोधी ऑपरेशन के नाम पर उनके सदस्यों के घरों और कार्यालयों में लगातार छापेमारी हो रही है।

श्री लंका में ईस्टर के मौके पर नेशनल तौहीद जमात के द्वारा किए गए भयंकर बम बिस्फोट के बाद तमिलनाडु जमात तौहीद का नाम काफी चर्चा में आ गया था। इस विस्फोट से उनका भी नाम जुड़ रहा था। हालाँकि, तमिलनाडु तौहीद जमात के जनरल सेक्रेटरी ई मोहम्मद ने इस घटना सेे किसी तरह के लिंक होने से मना किया था। उन्होंने कहा था कि यह एक गैरराजनीतिक इस्लामी संगठन है, जिसका नेशनल तैहीद जमात से कोई लेना-देना नहीं है। बता दें कि, तमिलनाडु तौहीद जमात और श्रीलंका नेशनल तौहीद जमात को एक दूसरे का सहयोगी माना जाता है। इसका नाम आतंकी घटनाओं से जुड़ता रहा है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौरतलब है कि, जाँच एजेंसी ने पिछले दिनों राज्य में अंसारुल्लाह आतंकी मामले में कई छापे मारे हैं। नागापट्टिनम से दो आतंकी संदिग्धों को गिरफ्तार करने और आतंकी आरोपों के आधार पर संयुक्त अरब अमीरात से 14 और निर्वासित लोगों को हिरासत में लेने के बाद एक सप्ताह से भी कम समय में छापे पड़े।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

राजदीप सरदेसाई, राम मंदिर
राजदीप सरदेसाई के इस बदले सुर से सभी हैरान हैं। अपनी ही बात से पलट गए हैं। पहले उन्होंने जल्दी सुनवाई ख़त्म करने का स्वागत किया था, अब वह पूछ रहे हैं कि इतनी जल्दी भी क्या है? उन्होंने गिरगिट की तरह रंग बदला है। राजदीप जजों को ही खरी-खोटी सुनाने लगे।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

104,900फैंसलाइक करें
19,227फॉलोवर्सफॉलो करें
109,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: