Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजछापे मारकर मुस्लिमों की छवि धूमिल कर रही NIA: तौहीद जमात

छापे मारकर मुस्लिमों की छवि धूमिल कर रही NIA: तौहीद जमात

श्री लंका में ईस्टर के मौके पर नेशनल तौहीद जमात के द्वारा किए गए भयंकर बम बिस्फोट के बाद तमिलनाडु जमात तौहीद का नाम काफी चर्चा में आ गया था। इस विस्फोट से उनका भी नाम जुड़ रहा था।

कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन तमिलनाडु तौहीद जमात (TNTJ) ने रविवार (जुलाई 21, 2019) को राष्ट्रीय आतंकवाद विरोधी एजेंसी पर समुदाय विशेष की छवि को धूमिल करने का आरोप लगाया। इस्लामिक संगठन ने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) आतंकवाद विरोधी अभियानों के नाम पर मुस्लिमों के घरों में छापेमारी करके उनकी छवि को धूमिल कर रही है।

तौहीद जमात के तिरुचि इकाई के अध्यक्ष गुलाम दस्तगीर ने तिरुचि में आयोजित एक चिकित्सा शिविर के मौके पर मीडिया को संबोधित करते हुए ये बातें कही। उन्होंने कहा कि एनआईए ने अपनी छापेमारी के जरिए मुस्लिम समुदाय के खिलाफ कार्रवाई की है। वहीं, वहादत-ए-इस्लामी के सदस्य एस अब्दुल्ला का कहना है कि आतंक विरोधी ऑपरेशन के नाम पर उनके सदस्यों के घरों और कार्यालयों में लगातार छापेमारी हो रही है।

श्री लंका में ईस्टर के मौके पर नेशनल तौहीद जमात के द्वारा किए गए भयंकर बम बिस्फोट के बाद तमिलनाडु जमात तौहीद का नाम काफी चर्चा में आ गया था। इस विस्फोट से उनका भी नाम जुड़ रहा था। हालाँकि, तमिलनाडु तौहीद जमात के जनरल सेक्रेटरी ई मोहम्मद ने इस घटना सेे किसी तरह के लिंक होने से मना किया था। उन्होंने कहा था कि यह एक गैरराजनीतिक इस्लामी संगठन है, जिसका नेशनल तैहीद जमात से कोई लेना-देना नहीं है। बता दें कि, तमिलनाडु तौहीद जमात और श्रीलंका नेशनल तौहीद जमात को एक दूसरे का सहयोगी माना जाता है। इसका नाम आतंकी घटनाओं से जुड़ता रहा है।

गौरतलब है कि, जाँच एजेंसी ने पिछले दिनों राज्य में अंसारुल्लाह आतंकी मामले में कई छापे मारे हैं। नागापट्टिनम से दो आतंकी संदिग्धों को गिरफ्तार करने और आतंकी आरोपों के आधार पर संयुक्त अरब अमीरात से 14 और निर्वासित लोगों को हिरासत में लेने के बाद एक सप्ताह से भी कम समय में छापे पड़े।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe