Sunday, September 19, 2021
Homeदेश-समाजमाओवादियों से संबंध के आरोप में UAPA के तहत, उस्मानिया यूनिवर्सिटी का प्रोफेसर गिरफ्तार

माओवादियों से संबंध के आरोप में UAPA के तहत, उस्मानिया यूनिवर्सिटी का प्रोफेसर गिरफ्तार

"हमने जगन को गिरफ्तार किया है, जो उस्मानिया विश्वविद्यालय में एक सहायक प्रोफेसर है। जगन को हमने गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (UAPA) के तहत गिरफ्तार किया है।...."

तेलंगाना पुलिस ने उस्मानिया विश्वविद्यालय के एक सहायक प्रोफेसर डॉ के जगन को कथित माओवादियों के लिंक के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। तेलंगाना पुलिस ने प्रतिबंधित माओवादी दलों के कथित संबंधों वाले व्यक्तियों पर अपनी कार्रवाई जारी रखते हुए हैदराबाद के उस्मानिया विश्वविद्यालय में कार्यरत एक सहायक प्रोफेसर डॉ के जगन के आवास पर तलाशी ली। 

डॉ जगन के हैदराबाद के तरनाका स्थित निवास पर ली गई तलाशी के दौरान भड़काऊ सामग्री, माओवादी पार्टी के लेटरहेड और प्रतिबंधित साहित्य बरमाद हुई। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस अधिकारी जोगुलाम्बा गडवाल ने गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए कहा, “हमने जगन को गिरफ्तार किया है, जो उस्मानिया विश्वविद्यालय में एक सहायक प्रोफेसर है। जगन को हमने गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (UAPA) के तहत गिरफ्तार किया है। अब तक मामले में चार सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें एक छात्र संगठन अध्यक्ष भी शामिल है।”

पुलिस के मुताबिक, प्रोफेसर के पास से नक्सलियों को लिखे गए पत्र भी बरामद किए गए। जोगुलाम्बा गडवाल ने कहा, “हमने उनके लैपटॉप में माओवादी पार्टी से संबंधित अन्य दस्तावेज भी जब्त किए हैं। आरोपित लगातार माओवादी पार्टी के सदस्यों के संपर्क में थे और उनमें से एक उनके लिए भर्ती भी था।” वहीं दूसरी ओर, विप्लव रचायतुला संगम (क्रांतिकारी लेखक संघ) के सदस्यों ने गिरफ्तारी की निंदा करते हुए जगन की तत्काल रिहाई की माँग की है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिब्बल की राह पर थरूर, कॉन्ग्रेसी आलाकमान पर साधा निशाना, कहा – ‘पार्टी को तुरंत नए नेतृत्व की जरूरत’

"सोनिया गाँधी के खिलाफ किसी ने एक शब्द नहीं कहा, लेकिन वह खुद से ही पद छोड़ना चाहती हैं। नए नेतृत्व को जल्द से जल्द पद सँभाल लेना चाहिए।"

पंजाब के बाद राजस्थान में फँसी कॉन्ग्रेस: सचिन पायलट दिल्ली में, CM अशोक गहलोत के OSD का इस्तीफा

इस्तीफे की वजह लोकेश शर्मा द्वारा किया गया एक ट्वीट बताया जा रहा है जिसके बाद कयासों का नया दौर शुरू हो गया था और उनके ट्वीट को पंजाब के घटनाक्रम के साथ भी जोड़कर देखा जाने लगा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,150FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe