Thursday, April 25, 2024
Homeदेश-समाजफायरिंग की खबर पर पहुँची दिल्ली पुलिस, ईंट-पत्थर से हमला: सीमापुरी की घटना का...

फायरिंग की खबर पर पहुँची दिल्ली पुलिस, ईंट-पत्थर से हमला: सीमापुरी की घटना का Video, रुखसाना सहित 10 गिरफ्तार

हमले के बाद पुलिस ने दो महिलाओं समेत 10 को पकड़ा है। इनमें मोईदुल, रुखसाना, महमूद फिरोज, अजय, इकबाल, हसीबुल दाराजुल मोहम्मद मियां, राहुल, अमीन शामिल हैं।

दिल्ली के सीमापुरी इलाके में 1 अक्टूबर को दिल्ली पुलिस पर स्थानीय लोगों द्वारा पथराव किया गया था। पुलिस वहाँ उन बदमाशों को पकड़ने गई थी जो एक मीट कारोबारी पर गोली चलाकर भागे थे। पुलिस के कॉलोनी में घुसते ही उनपर ईंट-पत्थर फेंके जाने लगे। घटना में एसएचओ समेत 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए जबकि हमलावरों में से 10 को गिरफ्तार किया गया।

इस बाबत एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर सामने आई। वीडियो में देख सकते हैं कि कैसे दिल्ली पुलिस के कॉलोनी में घुसते ही उन पर तेज-तेज ईंट-पत्थर फेंके जा रहे हैं। हमला लगातार हो रहा है। पुलिस चाह कर भी आगे नहीं बढ़ पा रही। इस वीडियो को लेकर ट्विटर पर सवाल किया जा रहा है कि अगर इस हमले के बाद पुलिस अपनी कोई कार्रवाई कर देती या अपना बचाव करती तो पुलिस को जल्लाद कहा जाता, उन्हें सस्पेंड किया जाता और मानवाधिकार बीच में आ जाते।

हमले के बाद पुलिस ने दो महिलाओं समेत 10 को पकड़ा है। इनमें मोईदुल शेख, रुखसाना, महमूद फिरोज, अजय, इकबाल, हसीबुल दाराजुल मोहम्मद मियां, राहुल, अमीन शामिल हैं। पुलिस बाकी आरोपितों की तलाश में जुटी है। बताया जा रहा है कि ये सारा मामला शाह आलम, जो कि सीमापुरी में मीट की दुकान चलाते हैं उनपर हुई फायरिंग से शुरू हुआ था।

पहले, आलम के भाई फिरोज पर अंजान नंबर से फोन आया। जहाँ फोन करने वाले ने उनसे गाली गलौच की और धमकी दी कि अगर इलाके में दुकान चलानी है तो उनसे बात करनी होगी, वरना अंजाम अच्छा नहीं होगा। फोन पर धमकी सुन  फिरोज ने फोन काट दिया। मगर उसके बाद बदमाश दुकान पर ही जा पहुँचे। इन लोगों ने पहले दुकानदार को गालियाँ दी और विरोध किया गया तो गोली चला दी। आलम ने किसी प्रकार नीचे झुककर अपनी जान बचाई लेकिन गोली की आवाज ने भीड़ जमा करवा दी।

इसी बीच घटना के बारे में पुलिस को सूचित किया गया। पुलिस मौके पर पहुँची लेकिन उन्हें कहा गया बदमाश बंगाली गली की ओर दौड़ गए हैं। पुलिस जब हमलावरों की तलाश में गली में पहुँची तो उसके बाद उन पर पत्थरों से अटैक किया गया। इस दौरान मौजूद सीमापुरी थाने के एसएचओ पदम सिंह राणा, एएसआई ओमपाल, एएसआई विजय कुमार, एएसआई महावीर व कांस्टेबल मुकेश घायल हो गए। सबको बाद में अस्पताल भर्ती कराया गया और जरूरी उपचार देने के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मार्क्सवादी सोच पर नहीं करेंगे काम: संपत्ति के बँटवारे पर बोला सुप्रीम कोर्ट, कहा- निजी प्रॉपर्टी नहीं ले सकते

संपत्ति के बँटवारे केस सुनवाई करते हुए सीजेआई ने कहा है कि वो मार्क्सवादी विचार का पालन नहीं करेंगे, जो कहता है कि सब संपत्ति राज्य की है।

मोहम्मद जुबैर को ‘जेहादी’ कहने वाले व्यक्ति को दिल्ली पुलिस ने दी क्लीनचिट, कोर्ट को बताया- पूछताछ में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला

मोहम्मद जुबैर को 'जेहादी' कहने वाले जगदीश कुमार को दिल्ली पुलिस ने क्लीनचिट देते हुए कोर्ट को बताया कि उनके खिलाफ कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe