Thursday, January 27, 2022
Homeदेश-समाजकट्टरपंथियों ने हिंदू महिलाओं को माफी माँगने पर किया मजबूर, टिकटॉक वीडियो में डांस...

कट्टरपंथियों ने हिंदू महिलाओं को माफी माँगने पर किया मजबूर, टिकटॉक वीडियो में डांस करती आईं थी नजर

‘shanu_sab’ ने जो दूसरा ​ट्वीट शेयर किया है उसमें डांस करने वाली महिलाओं में से एक बुर्का पहन कर डांस करने के लिए माफी मॉंग रही है। जिस टिकटॉक अकाउंट से इन महिलाओं का वीडियो शेयर किया गया था वह है ‘sanulala087796046’।

बॉलीवुड के हिट नंबर ‘चोली के पीछे क्या है’ पर डांस करती दो महिलाओं का टिकटॉक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ। इसके बाद समुदाय विशेष के कट्टरपंथियों ने इन महिलाओं को बुर्का पहन डांस करने के लिए माफी मॉंगने को मजबूर कर दिया। ट्विटर यूजर शाहनवाज अंसारी टिकटॉक वीडियो पोस्ट किया जिसमें दो महिलाएँ बुर्के में डांस करती दिख रही थीं।

शाहनवाज जिसका ट्विटर हैंडल ‘shanu_sab’ ने दावा किया कि इनमें से एक महिला कंचन यादव है। उसका कहना था कि ये औरतें बुर्का पहनकर अक्सर डांस करती रहती हैं। जिस टिकटॉक अकाउंट से इन महिलाओं का वीडियो शेयर किया गया था वह है ‘sanulala087796046’ जो अब शायद डिलीट किया जा चुका है।

‘shanu_sab’ ने जो दूसरा ​ट्वीट शेयर किया है उसमें डांस करने वाली महिलाओं में से एक बुर्का पहन कर डांस करने के लिए माफी मॉंग रही है।

वीडियो में एक महिला मुस्लिमों से बुर्का पहनने के लिए माफी माँग रही है। वह कह रही है कि वह किसी मजहब या किसी व्यक्ति का मजाक उड़ाना कभी नहीं चाहती थी। ‘कंचन यादव’ का यह वीडियो ‘sanulala1234’ अकाउंट से पोस्ट किया गया है। इस यूजर ने टिकाटॉक पर कई वीडियो पोस्ट किए हैं जिसमें बुर्का का ‘अपमान’ करने वाले वीडियो डिलीट करने की धमकी दी गई है। वह कहता है कि महिलाएं हिंदू है और बुर्का पहन कर उनका डांस करना बुर्का का ‘अपमान’ है। एक अन्य टिकटॉक वीडियो में वह अन्य लोगों को भी बुर्का में डांस कर रही महिलाओं का वीडियो डिलीट करने को कह रहा है।


 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

धर्मांतरण के दबाव से मर गई लावण्या, अब पर्दा डाल रही मीडिया: न्यूज मिनट ने पूछा- केवल एक वीडियो में ही कन्वर्जन की बात...

लावण्या की आत्महत्या पर द न्यूज मिनट कहता है कि वॉर्डन ने अधिक काम दे दिया था, जिससे लावण्या पढ़ाई में पिछड़ गई थी और उसने ऐसा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,876FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe