Saturday, October 23, 2021
Homeदेश-समाजमाता वैष्णो देवी की भूमि पर तिरुपति बालाजी के दर्शन: LG मनोज सिन्हा ने...

माता वैष्णो देवी की भूमि पर तिरुपति बालाजी के दर्शन: LG मनोज सिन्हा ने किया 62 एकड़ में बनने वाले मंदिर का भूमिपूजन

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि माता वैष्णो देवी की इस पवित्र भूमि पर भगवान बालाजी के मंदिर के निर्माण का भूमिपूजन पूरे जम्मू-कश्मीर के लिए गर्व का विषय है। लगभग 62 एकड़ में बनने वाले इस मंदिर का निर्माण दो चरणों में होगा और लगभग 18 महीनों में पूरा हो जाएगा।

उत्तर भारत के हिन्दू अब जम्मू-कश्मीर में भगवान वेंकटेश्वर के दर्शन कर पाएँगे। जम्मू के मजीन में रविवार (13 जून) को उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) द्वारा बनाए जाने वाले भगवान वेंकटेश्वर के भव्य मंदिर का भूमि पूजन किया और मंदिर निर्माण की आधारशिला रखी।

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के कार्यालय के ट्विटर एकाउंट से ट्वीट करके इसकी जानकारी दी गई। टीटीडी द्वारा बनाए जाने वाले भगवान वेंकटेश्वर के इस भव्य मंदिर के भूमि पूजन में उपराज्यपाल सिन्हा के अलावा केन्द्रीय राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह एवं जी. किशन रेड्डी, टीटीडी अध्यक्ष और अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

उपराज्यपाल सिन्हा ने इस मौके पर जम्मू-कश्मीर और उत्तर भारत के निवासियों की वर्षों पुरानी इच्छा की पूर्ति करने के लिए टीटीडी बोर्ड और केंद्र सरकार को धन्यवाद कहा। उपराज्यपाल सिन्हा ने कहा कि माता वैष्णो देवी की इस पवित्र भूमि पर भगवान बालाजी के मंदिर के निर्माण का भूमिपूजन पूरे जम्मू-कश्मीर के लिए गर्व का विषय है। उपराज्यपाल सिन्हा ने यह भी जानकारी दी कि लगभग 62 एकड़ में बनने वाले इस मंदिर का निर्माण दो चरणों में होगा और लगभग 18 महीनों में पूरा हो जाएगा।

आपको बता दें कि भगवान वेंकटेश्वर के मंदिर के निर्माण के लिए तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (TTD) को जमीन देने के प्रस्ताव पर इसी साल अप्रैल में प्रशासनिक परिषद ने मुहर लगाई थी। परिषद की श्रीनगर में हुई बैठक में टीटीडी को मंदिर एवं अन्य सुविधाओं के निर्माण के लिए 496 कनाल 17 मरले (लगभग 62 एकड़ अथवा ढाई लाख वर्ग मीटर) जमीन देने का फैसला हुआ था। जम्मू में यह जमीन 40 साल के लीज पर दी गई है।

इस भूमि पर टीटीडी मंदिर के अलावा वेद पाठशाला, आध्यात्म केंद्र और आवास जैसी अन्य सुविधाओं का निर्माण करेगा। निकट भविष्य में स्वास्थ्य एवं शिक्षा सुविधाओं के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है। इसका उद्देश्य जम्मू में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देना है। जम्मू और कटरा के बीच बनने वाला यह मंदिर तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर की प्रतिकृति होगा।

जम्मू-कश्मीर के अलावा टीटीडी ने भगवान वेंकटेश्वर का भव्य मंदिर वाराणसी और मुंबई में भी बनाने की योजना बना रखी है। चेन्नई, विशाखापत्तनम और भुवनेश्वर में मंदिरों का निर्माण जारी है। टीटीडी हैदराबाद, कुरुक्षेत्र और कन्याकुमारी में पहले ही श्री वेंकटेश्वर स्वामी का मंदिर बना चुका है और ये आस्था के बड़े केंद्र बनकर उभरे हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘खालिस्तान’ के नक़्शे में UP और राजस्थान भी, भारत से अलग देश बनाने का ‘खेल’ सोशल मीडिया पर… लोगों ने वहीं दिखाई औकात

'सिख्स फॉर जस्टिस' नाम की कट्टरवादी सिख संस्था ने तथाकथित खालिस्तान का नक्शा जारी किया है, जिसके बाद से लोग सोशल मीडिया पर उसकी आलोचना कर रहे हैं।

इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति की बेटी सुकमावती इस्लाम छोड़ रहीं, अपनाएँगी हिंदू धर्म: सुधी वदानी रस्म की होगी प्रक्रिया

इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति सुकर्णो की बेटी ने इस्लाम से वापस हिंदू धर्म अपनाने का फैसला किया है। सुधी वदानी नाम की रस्म होगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,940FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe