Monday, May 27, 2024
Homeदेश-समाजबागेश्वर धाम सरकार को धमकियाँ दे रहा मुस्लिम से निहंग सिख बना तूफान सिंह:...

बागेश्वर धाम सरकार को धमकियाँ दे रहा मुस्लिम से निहंग सिख बना तूफान सिंह: मर गई थी अम्मी, गुरुद्वारे में छोड़ गया था अब्बा

बागेश्वर धाम को धमकी देते हुए उसने कहा - "पंजाब में घुस कर दिखाओ। हम तुम्हें पीटेंगे और सिखाएँगे कि कैसे धमकी दी जाती है। हम धमकाते नहीं हम एक्शन लेते हैं।"

मुस्लिम से निहंग सिख बना तूफ़ान सिंह उर्फ़ हरमनदीप सिंह बागेश्वर धाम सरकार पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री को धमकियाँ दे रहा है। वह इससे सम्बंधित वीडियो इन्स्टाग्राम पर डाल रहा है। तूफ़ान सिंह ने 1 नवम्बर 2023 को इन्स्टाग्राम पर एक वीडियो डाली थी, जिसमें उसने बागेश्वर धाम सरकार को धमकाया था। धमकी देने से पहले उसने धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की एक वीडियो क्लिप भी अपने वीडियो में चलाई थी। इस वीडियो में वह हिन्दुओं के लिए समस्याएँ खड़ी करने वालों को चेतावनी देते हुए दिखते हैं।

तूफ़ान सिंह इस वीडियो में कहता है, “वो (पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री) सिखों को धमका रहा है। मेरा वीडियो उसे भेज देना, मैं उसे बताना चाहता हूँ कि बेटे तुम किसे धमका रहे हो? वो तुम्हारे जैसे 20 आदमियों पर रोज चलते हैं। हम किसी को भड़काते नहीं लेकिन जब समय आता है तो अपने और दूसरों के धर्म के लिए सर कटा देते हैं। क्या तुम हमें धमका रहे हो? जाकर अपने बाप को धमकाओ। ये सब कहने के बाद पंजाब में घुस कर दिखाओ। हम तुम्हें पीटेंगे और सिखाएँगे कि कैसे धमकी दी जाती है। हम धमकाते नहीं हम एक्शन लेते हैं।”

तूफ़ान सिंह ने पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की जो क्लिप अपने वीडियो में चलाई है, उसमें वह सिखों नहीं बल्कि पंजाब में धर्मांतरण करवाने वाली ईसाई मिशनरियों पर बात कर रहे थे। वह इस वीडियो में कहते हुए दिखते हैं, “मेरा विरोध करने वालों पहले मुझे कभी पढ़ो, मुझे समझो, मुझे सुनो। हम तुम्हारे खिलाफ नहीं है, लेकिन तुम हमारे सनातन को छेड़ोगे तो छोड़ेंगे नहीं। आप बीज मत बोइए, फल आपको नहीं काटना पड़ेगा। मैं पंजाब सरकार से हाथ जोड़ के प्रार्थना करता हूँ कि इस व्यास गद्दी की बात सुनते हुए कड़ा धर्मांतरण कानून लाएँ।”

गौरतलब है कि साल 2023 के अक्टूबर में पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री पंजाब पहुँचे थे और उन्होंने यहाँ तेजी से चल रहे ईसाई धर्मांतरण पर बात की थी। उन्होंने कहा था कि धर्मान्तरण करने वालों को गुरुद्वारों और मंदिरों में घुस कर हिन्दुओं को नहीं बरगलाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि वह हालेलुइया चिल्लाने वालों को हिन्दुओं को धर्मान्तरित नहीं करने देंगे।

इसको लेकर उनके खिलाफ एक ईसाई समूह ने शिकायत भी दर्ज करवाई थी। कुल मिलाकर मामला यह है कि तूफ़ान सिंह ने जिस वीडियो के आधार पर पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री को धमकी दी, दरअसल उसमें कथा सुनाने के दौरान सिखों नहीं बल्कि ईसाई मिशनरियों का विरोध किया था। यहाँ यह भी प्रश्न उठता है कि आखिर तूफ़ान सिंह है कौन?

तूफ़ान सिंह: पहले मुस्लिम, फिर निहंग और कट्टरपंथी

जानकारी के अनुसार, तूफ़ान सिंह का जन्म एक मुस्लिम परिवार में हुआ था। उसकी अम्मी की मौत उसके जन्म के समय हो गई थी। उसके अब्बा उसे गुरुद्वारे में छोड़ गए थे। वह यहीं रह कर पला बढ़ा है और बड़े होने पर उसने सिख धर्म अपना लिया। उसने यह जानकारी खुद एक वीडियो में दी थी।

तूफ़ान सिंह केवल इसी कारण से विवादों में नहीं है कि उसने पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री को धमकी दी है। वह पहले भी सोशल मीडिया पर खालिस्तान, अमृतपाल सिंह और जरनैल सिंह भिंडरावाले का समर्थन करते हुए देखा जा चुका है।

फरवरी 2023 में सामने आए एक वीडियो में वह पुलिस वालों से छीनी हुई दंगा रोधी जैकेट पहने भी नजर आया था। उसने इस वीडियो में पुलिस वालों को ‘भइये’ कह कर संबोधित किया। ‘भइये’ पंजाब में हिंदी भाषी राज्यों से आए मजदूरों के लिए अपमानजनक तौर पर इस्तेमाल किया जाता रहा है। जिस विरोध प्रदर्शन में वह दिखा था, उसमें 33 पुलिसकर्मी घायल हुए थे। इसके पश्चात उसका नाम और फोटो पुलिस द्वारा जारी की गई वॉन्टेड लिस्ट में भी था।

विरोध-प्रदर्शन करने वाले लोग जेलों में बंद कुछ सिखों की रिहाई की माँग कर रहे थे। इनमें पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के हत्यारे भी थे। पुलिस ने जब इन प्रदर्शनकारियों को हटाने की कोशिश की थी, इन्होंने पुलिस पर हमला बोल दिया था।

तूफ़ान सिंह के कई अन्य वीडियो भी सामने आए हैं। अपने इन्स्टाग्राम अकाउंट पर डाले गए एक वीडियो में वह एक पिस्टल से फायर करते हुए दिखता है। दूसरे पोस्ट में वह भिंडरावाले की फोटो वाले टीशर्ट पहने हुए है।

Chandigarh: Sikh protesters go on a rampage on Chandigarh-Mohali border, 33 cops injured, riot gear looted

एक अन्य वीडियो में वह दावा करता है कि वह पंजाब की सरकार से लड़ रहा है, जो सिखों का दमन कर रही है और बंदी सिखों को नहीं छोड़ रही। गौरतलब है कि कट्टर खालिस्तानी लोग सरकार से लड़ने का बहाना लेकर हिंसात्मक गतिविधियाँ करते रहे हैं। एक अन्य वीडियो में वह खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह का समर्थन करता है, जहाँ वह बताता है कि अमृतपाल दुबई से सिखों का कल्याण करने के लिए वापस आया है।

तूफ़ान सिंह सोशल मीडिया का उपयोग पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री और सरकार के खिलाफ बयानबाजी के लिए कर रहा है। ऐसे अन्य भी कई सोशल मीडिया इन्फ़्लुएन्सर हैं, जो यही करके समाज में घृणा फैला रहे हैं। तूफ़ान सिंह का छोटी उम्र में कट्टरपंथी बन जाना इसका सबूत है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में सबसे ज्यादा गुम/चोरी होते हैं मोबाइल फोन, खोया हुआ मोबाइल पाना भी देश में सबसे मुश्किल दिल्ली में ही: जानिए क्या कहता...

दिल्ली में 1% से भी कम मोबाइल फोन वापस उनके यूजर्स को मिलते हैं। दिल्ली में खोए हुए 5.45 लाख फोन में से मात्र 4,893 फोन ही बरामद हुए।

हिटलर का लिंग नापा और कोरोना वायरस को ‘सेक्स पॉवर’ से जोड़ा, अब नूपुर शर्मा पर ‘दल्लनटॉप’ का झूठ: ब्रा और योनि वाली पत्रकारिता...

लल्लनटॉप का एक वीडियो, जिसे घर पर बंद बैठे युवाओं का ध्यान खींचने के लिए लाया गया था, वो था – “सेक्स पावर बढ़ाने जैसी चाहत से आया कोरोना वायरस”।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -