Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजदुकान पर 'उपलब्ध नहीं' का बोर्ड, फोन पर- 20 हजार एडवांस दो... होम डिलिवरी...

दुकान पर ‘उपलब्ध नहीं’ का बोर्ड, फोन पर- 20 हजार एडवांस दो… होम डिलिवरी के बाद 15 हजार: दिल्ली में ऑक्सीजन वेंडर्स ऐसे कर रहे खेल

"फिर उसने मुझे एक महिला के बैंक अकाउंट का स्क्रीनशॉट भेजा। साथ में वॉयस नोट- सर कल से 150 सिलिंडर डिलिवर करवा चुका हूँ, आपको लेना है तो एडवांस भेजिए नहीं तो कोई ज़ोर-ज़बरदस्ती नहीं है।"

एक तरफ कोरोना महामारी का कहर जारी है, वहीं दूसरी ओर इस आपदा के समय में एक और बीमारी बड़ी तेजी से पनप रही है। यह है- झूठ, धोखेबाजी, बेईमानी और कालाबाजारी। इस मुश्किल में वक्त कई लोग ऐसे हैं जो इंसानियत को शर्मसार करते हुए कोविड मरीजों और उनके परिजनों को धोखा देने और लूटने में जरा भी नहीं हिचक रहे हैं।

एक वायरल ट्विटर थ्रेड ने ​राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ऑक्सीजन सिलिंडर की कालाबाजारी पर से पर्दा उठा दिया है। इसके मुताबिक दुकानों पर उपलब्ध नहीं है का साइनबोर्ड लगाकर रखने वाले वेडर्स फोन पर मनचाही कीमत में सिलिंडर मुहैया कराने का दाव कर रहे हैं।

ट्विटर पर विनायक त्रिपाठी नामक यूजर ने लिखा है, “कल मैंने ऑक्सीजन सिलिंडर के लिए ‘रणवीर’ नामक व्यक्ति से बात की। जब मैंने कहा मुझे तुरंत सिलिंडर चाहिए। उसके बाद उसने मुझे कॉल किया और कहा कि आप 20 हज़ार एडवांस भेज दो। मैं 4 घंटे में होम डिलिवरी करवा दूँगा। 15 हज़ार सिलेंडर मिलने के बाद देना।”

विनायक ने आगे लिखा है, “मेरे यह कहने पर कि मैं आकर ले जाता हूँ क्यूँकि हमारे पास समय नहीं है, रणवीर ने खुलेआम कहा कि अगर आप एड्रेस पर जाओगे तो उसके गेट पे हमने साफ़-साफ़ ‘Not Available’ लिखा है क्योंकि हम पुलिस और सरकार से बच के बेच रहे हैं। चाहिए तो मेरे अकाउंट में एडवांस भेजना होगा।”

विनायक ने लिखा है, “मैंने कहा पैसे देने में कोई समस्या नहीं है, लेकिन मुझे उसकी रसीद कैसे मिलेगी? इस पर उसने बड़ी बेशर्मी से कहता है कि हम ब्लैक में दे रहे हैं और आपको लेना है लो, वरना मेरे पास लोगों की लाइन लगी हुई है। यह कह उसने कॉल काट दी।”

आगे विनायक ने बताया है, “फिर उसने मुझे एक महिला के बैंक अकाउंट का स्क्रीनशॉट भेजा। साथ में वॉयस नोट- सर कल से 150 सिलिंडर डिलिवर करवा चुका हूँ, आपको लेना है तो एडवांस भेजिए नहीं तो कोई ज़ोर-ज़बरदस्ती नहीं है।”

उन्होंने लिखा है, “दुःख की इस घड़ी में आम जनता से लेकर सभी बड़े चेहरे एक-दूसरे की मदद के लिए एकजुट हैं और इस जैसे लोग मजबूरी का फ़ायदा उठा ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी करने में लगे हुए हैं। प्रशासन को इसका संज्ञान ले इस व्यक्ति पर त्वरित कार्यवाही कर इसे ‘Cheating, Epidemic Disease & Essential Commodities Act’ के तहत गिरफ़्तार करना चाहिए।”

गौरतलब है कि 27 अप्रैल को दिल्ली हाई कोर्ट ने ऑक्सीजन सिंलिंडरों की कालाबाजारी रोकने में नाकाम रहने के लिए दिल्ली सरकार को फटकार लगाई थी। विनायक जैसों की आपबीती दिल्ली की केजरीवाल सरकार की निष्क्रियता का एक और सबूत है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

पापुआ न्यू गिनी में चली गई 2000 लोगों की जान, भारत ने भेजी करोड़ों की राहत (पानी, भोजन, दवा सब कुछ) सामग्री

प्राकृतिक आपदा के कारण संसाधनों की कमी से जूझ रहे पापुआ न्यू गिनी के एंगा प्रांत को भारत ने बुनियादी जरूरतों के सामान भेजे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -