Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजक्वारंटाइन परिसर में मिलीं यूरीन से भरी बोतलें: 200 तबलीगी जमातियों को रखा गया...

क्वारंटाइन परिसर में मिलीं यूरीन से भरी बोतलें: 200 तबलीगी जमातियों को रखा गया है यहाँ, अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज

दिल्ली पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि यहाँ बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर से मूत्र से भरी दो बोतलें पाई गई हैं। इसके बाद दोनों बोतलों को बरामद कर दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 269 और 270 के तहत एक FIR दर्ज कर ली है।

दिल्ली मरकज में शामिल हुए जमातियों को खोज-खोजकर लगातार क्वारंटाइन किया जा रहा है, लेकिन इस बीच क्वारंटाइन किए जा रहे लोगों की एक के बाद एक गंदी हरकतें जारी हैं। एक बार फिर दिल्ली के एक क्वारंटाइन सेंटर परिसर में मूत्र से भरी दो बोतने मिलीं है। आशंका जताई जा रही है कि संक्रमण को फैलाने के लिए इस गंदी हरकत को किया गया है। वहीं शिकायत के बाद दिल्ली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ में मामला दर्ज कर लिया है।

ताजा मामला पश्चिमी दिल्ली में द्वारका नॉर्थ पुलिस स्टेशन क्षेत्र का है। मामले पर दिल्ली पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि यहाँ बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर से मूत्र से भरी दो बोतलें पाई गई हैं। इसके बाद दोनों बोतलों को बरामद कर दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 269 और 270 के तहत एक FIR दर्ज कर ली है। वहीं दिल्ली पुलिस ने बताया कि यह एफआईआर दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (DUSIB) के सिविल डिफेंस कर्मियों की शिकायत पर दर्ज की गई है।

जानकारी के मुताबिक बोर्ड के कर्मचारी सेंटर की साफ-सफाई में लगे हुए थे, इस बीच उन्हें सेंटर से यह दो बोतलें मिली, इतना ही नहीं कर्मचारियों ने इसका वीडियो भी बनाया, जिसे साक्ष्य के तौर पर दिल्ली पुलिस को सौंप दिया गया है। वहीं दिल्ली पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज करने के बाद मामले की जाँच में जुट गई है। मामले की जाँच के लिए पुलिस परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरों को भी खंगाल सकती है। दरअसल, सेंटर में 200 लोगों को रखा गया है, जो कि मरकज से जुड़े हुए हैं।

गौरतलब है कि क्वारंटाइन किए गए लोगों की हरकतों का यह कोई पहला मामला नहीं है, इससे पहले दिल्ली के नरेला क्षेत्र में बनाए गए क्वारंटाइन केन्द्र के बाहर कुछ लोगों ने शौच कर दिया था। इसके बाद सफाईकर्मी की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने नरेला क्वारंटाइन केंद्र में उपद्रव करने वाले दो लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। दरअसल, यहाँ दिल्ली मरकज से निकाले गए जमातियों को क्वारंटाइन किया गया था।

वहीं इससे पहले गाजियाबाद के एक अस्पताल में भी जमातियों द्वारा नर्सों के सामने नग्न घूमने, गंदी हरकतें करने और नियमों की अनदेखी करने की खबरें आई थी। इस पर नर्सों ने सीएमओ को शिकायत की थी। सीएमओ द्वारा पुलिस को की गई लिखित शिकायत के बाद पुलिस द्वारा की गई जाँच में यह सभी आरोप सही पाए गए थे। इसके बाद गाजियाबाद पुलिस ने योगी सरकार के आदेश के मुताबिक एनएसए के आरोपित जमातियों के खिलाफ में कार्रवाई की थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,090FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe