Thursday, September 16, 2021
Homeदेश-समाजलड़कियों के अंडरगार्मेंट्स चुराते CCTV में कैद: एक स्कूटी से भागा, दूसरा टोपी पहन...

लड़कियों के अंडरगार्मेंट्स चुराते CCTV में कैद: एक स्कूटी से भागा, दूसरा टोपी पहन पहुँचा मस्जिद – UP पुलिस कर रही जाँच

मेरठ सदर बाजार इलाके से लड़कियों के अंडरगारमेंट्स चोरी। CCTV फुटेज भी। लोगों को शक है कि इसके पीछे वशीकरण की मंशा हो सकती है। UP पुलिस ने मो. रोमिन को गिरफ्तार किया है, जबकि मो. अस्साक की तलाश जारी।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में लड़कियों के अंडरगार्मेंट्स चुराने का एक बड़ा ही अजीब मामला सामने आया है। स्थानीय लोगों की शिकायत है कि कुछ युवक सदर बाजार इलाके में लड़कियों के अंडरगारमेंट्स चुरा रहे हैं। रविवार (मार्च 14, 2021) को इस संबंध में शिकायत की गई। लोगों को शक है कि ऐसे प्रयास के पीछे किसी तरह के वशीकरण की मंशा हो सकती है।

आजतक की खबर के मुताबिक, मेरठ सदर बाजार के लोग रविवार को सदर बाजार थाने में लड़कियों के अंडरगार्मेंट्स चोरी होने की शिकायत लेकर थाने पहुँचे। मामला सुन पुलिस भी हैरान रह गई। 

लोगों ने बताया कि ऐसी घटना पहले भी हो चुकी है। CCTV वीडियो में देख सकते हैं कि स्कूटी सवार दो युवक आए और घर के बाहर सूख रहे कपड़ों में से युवती का अंडरगारमेंट्स चुरा ले गए। स्थानीय लोगों ने अपनी बात को साबित करने के लिए सीसीटीवी फुटेज पेश की है। इनमें युवक साफ तौर पर चोरी करते दिख रहे हैं।

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि इस घटना को अंजाम देने वालों में से एक लड़के ने बाहर सूख रहे अंडरगार्मेंट्स को चुराया और दूसरा टोपी पहन कर मस्जिद में नमाज पढ़ने चला गया। इस संबंध में दो के ख़िलाफ़ शिकायत की गई है।

पूरा मामला मेरठ जिले के कबाड़ी बाजार का है। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में स्कूटी से आए एक युवक को टोपी लगाकर मस्जिद में जाते देखा जा सकता है। दूसरे को धीरे से वस्त्र चोरी कर स्कूटी में रखते देखा जा सकता है।

इस मामले में पत्रकार सचिन गुप्ता ने अपने अकॉउंट से बताया है कि मेरठ पुलिस ने अंडरगार्मेंट चुराने वाले मोहम्मद रोमिन को देर रात गिरफ्तार कर लिया है। वहीं दूसरे आरोपित मोहम्मद अस्साक की तलाश जारी है।

गिरफ्तार आरोपित के पास से पुलिस ने अंडरगार्मेंट्स बरामद कर लिए हैं। बता दें क इस गिरफ्तारी की जानकारी अभी तक सिर्फ़ सचिन गुप्ता के ट्विटर से मिली है। मेरठ पुलिस के ट्विटर पर इस संबंध में कोई आधिकारिक सूचना नहीं है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोहाट दंगे: खिलाफ़त आंदोलन के लिए हुई ‘डील’ ने कैसे करवाया था हिंदुओं का सफाया? 3000 का हुआ था पलायन

10 सितंबर 1924 को करीबन 4000 की मुस्लिम भीड़ ने 3000 हिंदुओं को इतना मजबूर कर दिया कि उन्हें भाग कर मंदिर में शरण लेनी पड़ी। जो पीछे छूटे उन्हें मार डाला गया।

‘प्रेमिका गाँधी, मायावती या मुख्यमंत्री’: यूपी में प्रियंका का इंतजार कर रहे कॉन्ग्रेस समर्थकों को नहीं पता वह कौन हैं? वीडियो वायरल

कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी का स्वागत करने के लिए एकत्र हुए कॉन्ग्रेसी प्रशंसकों को पता नहीं है कि वह कौन हैं या उनका नाम क्या है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,706FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe