Friday, May 31, 2024
Homeदेश-समाजPM मोदी की भतीजी का पर्स छीनने वाले झपटमार शिकंजे में, नबी करीम थाने...

PM मोदी की भतीजी का पर्स छीनने वाले झपटमार शिकंजे में, नबी करीम थाने की पुलिस ने किया गिरफ्तार

इस घटना के संबंध में लोगों का कहना था कि राज निवास मार्ग पर आए दिन झपटमारी की वारदातें होती रहती हैं। यहाँ पुलिस की मुस्तैदी दस बजे के बाद बढ़ती है इसलिए झपटमार सुबह-सुबह ही वारदात को अंजाम देते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन मोदी का पर्स छीनकर भागने वाले दोनों झपटमारों को नबी करीम थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। ये गिरफ्तारी हरियाणा के सोनीपत स्थित एक गाँव से आज सुबह हुई। झपटमारों की पहचान बादल और नोनु के रूप में हुई है, जो कि सदर बाजार के मूल निवासी हैं।

दैनिक जागरण पर प्रकाशित खबर में से पता चला कि दोनों पेशे से झपटमार है और शादीशुदा हैं। इनके पास से पुलिस ने छीना हुआ सामान बरामद कर लिया है। कहा जा रहा है कि नबी करीम थाने के पुलिस ने इनमें से एक के साले को पकड़ लिया था, जिससे इन दोनों की जानकारी उन्हें मिलती रही।

उल्लेखनीय है कि पीएम की भतीजी होने के कारण पुलिस पर झपटमारों को जल्द से जल्द पकड़ने का दबाव बना हुआ था। जिसके चलते पुलिस अपनी ओर से हर मुमकिन कोशिश कर रही थी। पूरे मामले पर आला अधिकारियों की नजर थी और जिला पुलिस, स्पेशल सेल व क्राइम ब्रांच की 20 से ज्यादा टीमें इन्हें दबोचने के लिए प्रयासरत थी। लेकिन बावजूद इसके कहा जा रहा है कि जहाँ ये घटना घटी, वहाँ की उत्तरी जिला पुलिस को झपटमारों को पकड़ने में सफलता नहीं मिली, बल्कि मध्य जिला के नबी करीम थाना पुलिस के प्रयास सफल हुए और इन लूटेरों को गिरफ्तार किया गया।

इससे पहले बता दें कि इन झपटमारों को खोजने के प्रयास में इन युवकों की सीसीटीवी फुटेज सामने आई थी। जिसके बाद दोनों लुटेरों की पहचान हो गई थी और इन्हें ढूँढने के लिए हर अनुमानित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही थी।

इस घटना के संबंध में लोगों का कहना था कि राज निवास मार्ग पर आए दिन झपटमारी की वारदातें होती रहती हैं। यहाँ पुलिस की मुस्तैदी दस बजे के बाद बढ़ती है इसलिए झपटमार सुबह-सुबह ही वारदात को अंजाम देते हैं।

गौरतलब है कि ये घटना जहाँ हुई, वो दिल्ली का हाई प्रोफाइल पॉश इलाका माना जाता है। फाइनेंशियल एक्सप्रेस के मुताबिक दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल का आधिकारिक निवास घटनास्थल से महज़ कुछ ही दूरी पर स्थित है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -