Friday, April 19, 2024
Homeदेश-समाजधर्मांतरण रैकेट: ATS ने दिल्ली और यूपी में की छापेमारी, मौलाना कलीम सिद्दीकी के...

धर्मांतरण रैकेट: ATS ने दिल्ली और यूपी में की छापेमारी, मौलाना कलीम सिद्दीकी के 4 ठिकानों की तलाशी में मिले कई सबूत

एटीएस मौलाना कलीम सिद्दीकी के जामिया नगर शाहीन बाग स्थित आवास भी पहुँची। वहीं, टीम ने शाहीन बाग स्थित अब्दुल रहमान के घर की भी तलाशी ली। यूपी एटीएस ने ग्लोबल पीस सेंटर, वर्ल्ड पीस ऑर्गेनाइजेशन में भी छापेमारी की।

अवैध धर्मांतरण मामले में मंगलवार (अक्टूबर 5, 2021) को यूपी एटीएस की टीम ने दिल्ली में सर्च ऑपरेशन चलाया। यूपी एटीएस की टीम कोर्ट के आदेश पर दिल्ली-एनसीआर के कई ठिकानों पर छापेमारी और तलाशी अभियान चला रही है। जानकारी के मुताबिक, यूपी एटीएस की टीम मंगलवार सुबह 9 बजे दिल्ली पहुँची और मौलाना कलीम सिद्दीकी के 4 ठिकानों पर तलाशी ली। 

प्रेस रिलीज के मुताबिक इस दौरान एटीएस मौलाना कलीम सिद्दीकी के जामिया नगर शाहीन बाग स्थित आवास भी पहुँची। वहीं, टीम ने शाहीन बाग स्थित अब्दुल रहमान के घर की भी तलाशी ली। यूपी एटीएस ने ग्लोबल पीस सेंटर, वर्ल्ड पीस ऑर्गेनाइजेशन में भी छापेमारी की। इस तलाशी में यूपी एटीएस पश्चिमी जोन की टीम समेत कुछ 6 टीमों का गठन किया गया। तलाशी के दौरान डेस्कटॉप, टैबलेट, महत्वपूर्ण डॉक्युमेंट्स मिले हैं। इन्हें एटीएस ने अपने कब्जे में लिया है। जब्त किए गए सबूतों को एटीएस कोर्ट में पेश करेगी। 

UP ATS का प्रेस रिलीज

यूपी एटीएस अवैध धर्मांतरण मामले में कलीम सिद्दीकी समेत 15 लोगों की गिरफ्तारी कर चुकी है। उत्तर भारत में कई इस्लामिक ट्रस्ट चलाने वाले और 30 साल से देश के सबसे बड़े अवैध धर्मांतरण गिरोह को संचालित करने वाले मौलाना करीम सिद्दीकी को यूपी एटीएस की टीम ने बुधवार (22 सितंबर 2021) को मेरठ से गिरफ्तार किया था। मौलाना जामिया इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट चलाता है, जो कई मदरसों को फंड देता है। इसके लिए उसे विदेशों से भारी फंडिंग मिलती है।

पिछले दिनों एक ऑडियो से खुलासा हुआ था कि मौलाना कलीम द्वारा ब्राह्मण-क्षत्रिय लड़कियों को खास कर के निशाना बनाया जा रहा था। ‘जिहादी’ सोच वाले मौलाना कलीम सिद्दीकी का पाकिस्तान से भी कनेक्शन सामने आया था। वो चाहता था कि हर एक हिंदू को धर्मांतरण करके इस्लाम अपना लेना चाहिए। इसके अलावा विदेशी फंडिंग का भी खुलासा हुआ था।

इससे पहले उत्तर प्रदेश एटीएस ने धर्मांतरण कराने के मामले में मोहम्मद उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहाँगीर आलम कासमी को जून में दिल्ली के जामिया नगर इलाके से गिरफ्तार किया गया था। उन पर पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) से कथित फंडिंग के साथ बधिर छात्रों और गरीब लोगों को इस्लाम में कन्वर्ट करने की कोशिश करने का आरोप लगा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल में मतदान से पहले CRPF जवान की मौत, सिर पर चोट के बाद बेहोश मिले: PM मोदी ने की वोटिंग का रिकॉर्ड बनाने...

बाथरूम में CRPF जवान लोगों को अचेत स्थिति में मिला, जिसके बाद अस्पताल ले जाया गया। वहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जाँच-पड़ताल जारी।

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में 21 राज्य-केंद्रशासित प्रदेशों के 102 सीटों पर मतदान: 8 केंद्रीय मंत्री, 2 Ex CM और एक पूर्व...

लोकसभा चुनाव 2024 में शुक्रवार (19 अप्रैल 2024) को पहले चरण के लिए 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 102 संसदीय सीटों पर मतदान होगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe