Tuesday, August 9, 2022
Homeदेश-समाजCM योगी के हेलीकॉप्टर की आपात लैंडिंग, वाराणसी में टेक ऑफ करते ही टकराया...

CM योगी के हेलीकॉप्टर की आपात लैंडिंग, वाराणसी में टेक ऑफ करते ही टकराया पक्षी: विकास कार्यों की समीक्षा के साथ किए थे बाबा विश्वनाथ के दर्शन

सीएम योगी ने वाराणसी में विकास कार्यों की समीक्षा की और साथ ही बाबा विश्वनाथ के दर्शन भी किए। इसके बाद वो हेलीकॉप्टर से लखनऊ लौट रहे थे, जब बर्ड हिट के कारण आपात लैंडिंग करानी पड़ी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हेलीकॉप्टर की वाराणसी में आपात लैंडिंग (Yogi Adityanath’s Helicopter Emergency Landing After Bird Hit) कराई गई है। वाराणसी का दौरा खत्म करने के बाद सीएम योगी सर्किट हाउस से लखनऊ के लिए रवाना हो रहे थे। जैसे ही उनके हेलीकॉप्टर ने टेक ऑफ किया, एक पक्षी आकर उससे टकरा गया। इसके तुरंत बाद पायलट ने हेलीकॉप्टर की आपात लैंडिंग करा दी।

शुरुआती तौर पर पता चला है कि यह हादसा उस वक्त हुआ, जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हेलीकॉप्टर वाराणसी के रिजर्व पुलिस लाइन्स ग्राउंड से लखनऊ के लिए रवाना हुआ। हालाँकि, दुर्घटना के बाद हेलीकॉप्टर की पुलिस लाइन में ही लैंडिंग करा दी गई। मुख्यमंत्री सर्किट हाउस में वापस आ गए हैं। वो पूरी तरह से सुरक्षित हैं। अब वह सरकारी विमान से लखनऊ के लिए रवाना होंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक, वाराणसी के जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने कहा, “यहाँ (वाराणसी) से लखनऊ के लिए उड़ान भरने के बाद एक पक्षी सीएम योगी के हेलीकॉप्टर से टकरा गया, जिसके बाद उसे उतरना पड़ा।” उन्होंने कहा कि अब राजकीय विमान के जरिए बाबतपुर एयरपोर्ट से सीएम लखनऊ जाएँगे।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जुलाई में वाराणसी दौरा होना प्रस्तावित है। उससे पहले शनिवार (25 जून) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाराणसी के दौरे पर आए थे। इस दौरान उन्होंने विकास कार्यों समीक्षा के साथ ही बाबा विश्वनाथ के दर्शन भी किए। वो वाराणसी में एक रात रुके भी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल ने दिए 9 साल में सिर्फ 857 ऑनलाइन जॉब्स, चुनावी राज्यों में लाखों नौकरियों के वादे: RTI से खुलासा

केजरीवाल के रोजगार को लेकर बड़े-बड़े वादों और विज्ञापनों की पोल दिल्ली में नौकरियों पर डाले गए एक RTI ने खोल दी है।

जब सिंध में हिन्दुओं-सिखों का हो रहा था कत्लेआम, 10000 स्वयंसेवकों के साथ पहुँचे थे ‘गुरुजी’: भारत-Pak विभाजन के समय कहाँ थे कॉन्ग्रेस नेता?

विभाजन के दौरान पाकिस्तान में हिन्दुओं-सिखों की मदद के लिए न आई कोई राजनीतिक पार्टियाँ और ना ही आए वह नेता, जो उस समय इतिहास में खुद को दर्ज कराना चाहते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,538FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe