Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाज'अब्बू ऐसा मत करो, हमें याद आएगी' : बच्चों के सामने दरोगा आरिफ ने...

‘अब्बू ऐसा मत करो, हमें याद आएगी’ : बच्चों के सामने दरोगा आरिफ ने बीवी को सड़क पर बकी गालियाँ, तीन तलाक देकर फरार

आरिफ खान की बीवी ने आरोप लगाया कि उसके शौहर ने उसे पहले थाने के बाहर आकर गालियाँ बकीं और इसके बाद तीन तलाक देकर हमेशा के लिए छोड़ दिया। महिला की शिकायत पर पुलिस ने फरार आरिफ की तलाश शुरू कर दी है।

उत्तर प्रदेश के बरेली में एक दरोगा ने अपनी बीवी को पुलिस चौकी के बाहर तीन तलाक दे दिया। दरोगा की पहचान आरिफ खान के तौर पर हुई है। आरिफ की बीवी ने आरोप लगाया कि उसके शौहर ने उसे पहले थाने के बाहर आकर गालियाँ बकीं और इसके बाद तीन तलाक देकर हमेशा के लिए छोड़ दिया।

जानकारी के मुताबिक, महिला ने अपने शौहर आरिफ के खिलाफ शहर कोतवाली में शिकायत दी है। पीड़िता ने बताया है कि वह खुद बदायूं में आरपीएफ सिपाही है जबकि उनका शौहर बिजनौर में दरोगा पद के तौर पर तैनात है। साल 2006 में निकाह के समय आरिफ यूपी पुलिस में सिपाही ही था। मगर, बाद में उसका प्रमोशन हो गया और वह बिजनौर जिले के चांदपुर चौकी चला गया। दोनों के एक 12 साल का बेटा और एक 14 साल की बेटी है।

महिला ने अपनी शिकायत करते हुए बताया कि जब उनका शौहर चौकी के बाहर उन्हें तलाक दे रहा था, उस समय बच्चे सामने ही थे और वे रो भी रहे थे। बच्चे बार-बार कह रहे थे- ‘अब्बू ऐसा मत करो, हमें तुम्हारी बहुत याद आएगी।’ लेकिन आरिफ ने एक नहीं सुनीं। वह रुबीना को पहले गाली देते रहा और उसके बाद तलाक-तलाक-तलाक बोलकर चला गया।

रुबीना के अनुसार, आरिफ की आदतें शुरुआत से खराब थीं। उसके एक महिला सिपाही से संबंध थे। इसके अलावा रुबीना को ये भी पता चला था कि आरिफ ने अलीगढ़ में किसी लड़की से निकाह कर लिया है। इन्हीं सब कारणों से पीड़िता ने आरोपित के विरुद्ध शिकायत दी थी। जब पुलिस ने उन्हें आगे की पूछताछ के लिए चौकी बुलाया तो वहीं आरिफ पहुँच गया और फिर धक्का-मुक्की करके तलाक देकर चला गया।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, शहर के एसपी रवींद्र कुमार ने इस केस की जानकारी देते हुए बताया कि एक महिला अपने शौहर के खिलाफ लिखित शिकायत कराने महिला थाने आई थी। मगर, तभी उसका शौहर वहाँ आ गया और दोनों के बीच कहासुनी हो गई। इसके बाद शौहर उसे तीन तलाक देकर चला गया। अब महिला की शिकायत के आधार पर केस दर्ज किया गया है। फिलहाल आरोपित की तलाश की जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -