यूपी में साधु वेशधारी युवक की हत्या, आँखें फोड़ खेत में फेंकी लाश

सीओ कुलदीप सिंह ने बताया कि मृतक मुरवल गाँव का रहने वाला था और पिछले कुछ समय से बुढ़ौली गाँव के दुर्गा मंदिर में अन्य साधुओं के साथ रह रहा था। पूछताछ के पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है।

यूपी के बांदा जिले में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहाँ के एक दुर्गा मंदिर में में रह रहे साधु वेशधारी युवक का शव मन्दिर से चंद कदम दूर खेत में मिला। इस घटना से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। ग्रामीणों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी।

घटना बबेरू कोतवाली क्षेत्र के बुढ़ौली गाँव की है। गाँव में मंदिर में रहने वाले साधु वेशधारी 40 वर्षीय युवक कृष्ण कुमार उर्फ लाला की हत्या करने के बाद शव को मंदिर से कुछ ही दूर के एक खेत में फेंक दिया गया। रविवार को सुबह कुछ लोग खेतों की तरफ गए तो मंदिर से करीब पाँच सौ मीटर दूर कृष्ण कुमार उर्फ लाला का रक्तरंजित शव धान के खेत में पड़ा देखा। इसकी सूचना पुलिस को दी गई।

सूचना मिलते ही संबंधित थाने की पुलिस मौके पर पहुँची और छानबीन में जुट गई। बेबरू के एसएचओ शशि कुमार पांडेय ने छानबीन के बाद बताया कि उसके हाथ-पैर एक साफी से पीछे की तरफ बँधे थे और दोनों आँखें फूटी हुई थीं। इसके अलावा गर्दन और जिस्म के अन्य हिस्सों में भी चोट के निशान थे।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बबेरू थाना के पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ) कुलदीप सिंह ने सोमवार (नवंबर 11, 2019) को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताया कि कृष्ण कुमार की मौत गले में फंदा कसने से हुई है। कुलदीप सिंह ने बताया कि मृतक मुरवल गाँव का रहने वाला था और पिछले कुछ समय से बुढ़ौली गाँव के दुर्गा मंदिर में अन्य साधुओं के साथ रह रहा था।

ग्रामीणों का कहना है कि घटना वाली रात कृष्ण कुमार ने कुछ लोगों के साथ कृष्ण कुमार ने खाया-पीया भी था। पूछताछ के पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में ले लिया है। शशि कुमार ने कहा कि मृतक के दो भाई नोएडा में रहते हैं। उनके आने का इंतजार है। उन्हीं की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज होगी। सीओ ने यह भी बताया कि मृतक युवक आपराधिक प्रवृत्ति का था और बबेरू कोतवाली में उस पर पॉंच मुकदमे दर्ज हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

उद्धव ठाकरे-शरद पवार
कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी के सावरकर को लेकर दिए गए बयान ने भी प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है। इस मसले पर भाजपा और शिवसेना के सुर एक जैसे हैं। इससे दोनों के जल्द साथ आने की अटकलों को बल मिला है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,575फैंसलाइक करें
26,134फॉलोवर्सफॉलो करें
127,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: